टेन न्यूज़ नेटवर्क के शो में बोले अभिनेता दयानंद शेट्टी , सीआईडी ने दिलाई खूब ख्याति

ROHIT SHARMA

0 222

नई दिल्ली :– कोरोना महामारी के बीच टेन न्यूज़ नेटवर्क एक अनोखा काम कर रहा है , जी हाँ देश के प्रसिद्ध अभिनेताओं को आपके सामने लेकर आ रहा है , जिन्होंने कड़ी मेहनत करके बड़ा मुकाम हासिल किया है । जिनकी प्रेरणा से लोग बहुत कुछ सीख सकते है। वही आज इसी कड़ी में एक महान अभिनेता टेन न्यूज़ नेटवर्क के फेस 2 फेस कार्यक्रम में शामिल हुआ।

 

फेस 2 फेस कार्यक्रम में अब तक कई महान हस्तिया , नेता , अभिनेता , महान कलाकार हिस्सा ले चुके है । वही आज इस फेस 2 फेस कार्यक्रम में जाने माने अभिनेता दयानंद शेट्टी ने हिस्सा लिया , दयानंद शेट्टी को इंस्पेक्टर दया के नाम से जाना जाता है । जिन्होंने सीआईडी बेहद पॉपुलर शो में अपना महत्वपूर्ण किरदार निभाया है ।

आपको बता दे कि ये प्रोग्राम टेन न्यूज़ नेटवर्क के यूट्यूब और फेसबुक पर लाइव किया गया है । आज के कार्यक्रम का संचालन टेन न्यूज़ के वरिष्ठ एंकर राघव चड्डा ने किया । राघव चड्डा बहुत ही तेजतर्रार एंकर , लेखक और समाजसेवक भी है । वही आज के कार्यक्रम में राघव चड्डा ने अभिनेता दयानंद शेट्टी से महत्वपूर्ण प्रश्न किए , जिसका जवाब अभिनेता दयानंद शेट्टी द्वारा दिए गए ।

 

बता दे कि सोनी टीवी का शो सीआईडी बेहद पॉपुलर रहा है। लगातार 20 सालों तक टेलीकास्ट होने वाले इस शो ने अपना नाम गिनीज बुक औऱ लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल करवाया है। सीआईडी ने कई कलाकारों को खूब ख्याति दिलवाई। इसमें एसीपी प्रद्युमन का किरदार निभाने वाले शिवाजी साटम से लेकर दया बने दयानंद शेट्टी तक का नाम शामिल है।

 

दयानंद शेट्टी का जन्म 11 दिसंबर 1969 कटप्पी कर्नाटक में हुआ था। उनके पिता का नाम चंद्रप्रकाश शेट्टी और माँ का नाम उमा शेट्टी है। उनकी दो बहनें है-नैना-संध्या।, उनकी पत्नी का नाम स्मिता शेट्टी और बेटी वीवा हैं।

 

जैसे कि आप जानते है कि दयानंद शेट्टी एक भारतीय फिल्म अभिनेता और टीवी कलाकार हैं। वह छोटे पर्दे के प्रसिद्ध शो सीआईडी में इंस्पेक्टर दया के मान से विख्यात हैं। उन्होंने अपनी शुरुआती पढ़ाई उडुपी से सम्पन्न की। उन्होंने अपनी स्नातक की पढ़ाई रिजवी कॉलेज बांद्रा से पूरी की है।

 

दयानंद शेट्टी उर्फ दया ने बताया कि अभिनय की दुनिया में आने से पहले में एक खिलाडी था , लेकिन लेग इंजरी के वजह से मुझे अपना स्पोर्ट्स में अपना करियर खत्म करना पड़ा। में उस समय अच्छा शॉटपुट खिलाडी और डिस्कस थ्रोवर था । मैंने अपने खेल जीवन के दौरान कई अवार्ड अपने नाम किये थे , वर्ष 1994 में महाराष्ट्र के डिस्कस थ्रोवर के स्टेट चैंपियन भी रह चुका हूँ।

 

उन्होंने बताया कि उसके बाद वर्ष 1998 में सोनी के शो सीआईडी के लिए ऑडिशन दिया, जिसमे मुझे चुन लिया गया। इस शो में मुझे सीनियर इंस्पेक्टर दया का किरदार निभाने को मिला। इस शो में मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला , मेरी जिंदगी का कैरियर इस शो से शुरू हुआ ।

 

उन्होंने बताया कि इस शो सीआईडी में मुझे अपने ताकत और भारी-भरकम शरीर के लिए जाने जाता था। इसी शो का सबसे प्रसिद्ध डायलॉग ‘दया दरवाजा तोड़ो’ जिसपे काफी चुटकुले भी बन चुके हैं। इसी डाइलोग का इस्तेमाल निर्देशक रोहित शेट्टी ने अपनी फिल्म सिंघम रिटर्न्स में भी किया है।

 

साथ ही उन्होंने कहा कि इसके अलावा मुझे कई सारे टीवी कमर्शियल और शोज़ में किरदार निभाने का काम मिला। हमेशा गंभीर रहने और दिखने वाले दया एक साइलेंट कॉमेडी शो गुटुर गूं में भी नजर आ चुके हैं।

 

इसके अलावा दया कौन बनेगा करोड़पति, एंटरटेनमेंट के लिए कुछ भी करेगा जैसे शोज़ बतौर मुख्य अतिथि भी नजर आ चुके हैं। वह कलर्स शो पर आधारित स्टंट बेस्ड रियलिटी शो खतरों के खिलाडी में बतौर प्रतिभागी दिखाई दिए थे। लेकिन वो टॉप से पहले ही शो से बाहर हो गए।

 

उन्होंने बताया कि अपने फ़िल्मी करियर की शुरुआत वर्ष 2007 में फिल्म जॉनी गद्दार से की थी। हालंकि उन्हें हिंदी सिनेमा में पहचान रोहित शेट्टी निर्देशित फिल्म सिंघम रिटर्न्स से मिली थी।

 

क्योंकि ‘सीआईडी’ के इंस्पेक्टर दया यानि एक्टर दयानंद शेट्टी जो दरवाजे तोड़ने के अपने खास स्टंट के लिए काफी मशहूर हैं। उन्होंने बताया कि शो में जब भी एसीपी प्रद्युमन को मुजरिम की खोज के दौरान किसी जगह पहुंचना हो या दरवाजा तुड़वाना हो तो दया उनकी पहली पसंद होता है। एक तरह से इंस्पेक्टर दया एसीपी प्रद्युमन का सीधा हाथ है।

 

खासबात यह है कि दया यानि दयानंद शेट्टी करीब दो दशक से ‘सीआईडी’ से जुड़े हुए हैं और आज वो बच्चों से लेकर बूढ़ों तक के बीच काफी मशहूर हैं, लेकिन उनकी पहचान ‘सीआईडी’ के दया से कहीं ज्यादा है।

 

दयानंद शेट्टी एक स्पोर्ट्समैन ना सिर्फ अच्छे एक्टर हैं बल्कि एक बेहतरीन सिंगर भी हैं। इसके अलावा फिल्मों में भी वो अपनी एक्टिंग का कमाल दिखा चुके हैं। दयानंद शेट्टी ने ‘सिंघम रिटर्न्स’, ‘जॉनी गद्दार’ और ‘रनवे’ जैसी फिल्मों काम किया।

 

बतौर दया उन्होंने काफी लोकप्रियता हासिल की. दयानंद की ताकत का हर कोई दीवाना हो गया और उनके डायलॉग हर किसी की जुबान पर चढ़ गए. जब दया का हाथ पड़ता है तो मुंह से पियानो बजने लगता है।

https://www.facebook.com/499234480174431/posts/3643266225771225/

 

दयानंद शेट्टी ने कहा कि 21 साल से चल रहे सीरियल ‘CID’ को सोनी चैनल ने बंद करने का फैसला लिया। इससे शो की पूरी टीम अपसेट थी। इस शो के लिए चैनल का यह डिसीजन मेरे लिए किसी झटके से कम नहीं था। आपको बता दें कि एक इंटरव्यू के दौरान शो से जुड़ी अपनी जर्नी के बारे में बात करते-करते दया न केवल रो पड़े, बल्कि चैनल को भी जमकर फटकार लगाई। दया बोले- ऐसा लग रहा है, जैसे किसी ने मेरे हाथ-पैर बांध दिए…

 

दया ने कहा कि शो का बंद होना उनके लिए शॉकिंग है। क्योंकि इसके जरिए वे अपने फैन्स से जुड़े हुए थे। दया के मुताबिक, चैनल के इस फैसले से क्रू से लेकर आर्टिस्ट्स और क्रिएटिव टीम तक सभी हैरान हैं। ‘सीआईडी’ को एक बड़ी जहाज बताते हुए दया ने कहा कि चैनल को इसे बंद ही करना था तो किसी बेहतर तरीके से कर सकते थे।

 

दया ने बताया कि 12 अक्टूबर को सोनी ने सीआईडी के प्रोडक्शन हाउस ऑप्टीमिस्टिक्स को इन्फॉर्म किया कि उन्हें शो का अगला एपिसोड शूट करने की जरूरत नहीं है। ऑप्टीमिस्टिक्स के लोगों ने चैनल के फैसले की वजह जानने की कोशिश की। लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। हर कोई यही कह रहा है कि ऐसा कैसे हो सकता है? हम बैक टू बैक शूटिंग कर रहे थे और अचानक उन्होंने शो बंद करने का फैसला ले लिया। मुझे तो ऐसा लग रहा है कि जैसे किसी ने मेरे हाथ और पांव पर ब्रेक लगा दिया।

 

मैं नहीं जानता कि शो के लिए सोनी की क्या फीलिंग है? इसे 21 साल हो गए थे और मुझे नहीं लगता कि किसी भी स्टाफ मेंबर ने सोनी टीवी के ऑफिस में भी इतना लंबा वक्त गुजारा होगा। मेरे लिए यह वाकई इमोशनल मोमेंट था, जो चैनल के साथ पहले दिन से ही काम कर रहे हैं। लेकिन जो नए हैं वे हमारे शो को कमोडिटी समझ रहे होंगे। निश्चिततौर पर जिस इंसान ने भी शो बंद करने का फैसला किया है, उसका इससे कोई लगाव नहीं होगा।

दयानंद शेट्टी ने बताया कि वे तब महज 26 साल के थे, जब उन्होंने सीआईडी को ज्वॉइन किया था। शो करते-करते वे 48 साल के हो गए। वे कहते हैं, “अगर यह शो जनवरी तक चलता तो 22 साल का हो जाता। मुझे नहीं पता कि मैं सबसे ज्यादा याद किसे करूंगा? जरा सोचिए…मैंने अपनी जिंदगी के 21 साल शो को दिए हैं। मैं खुद को मुर्दे की तरह महसूस कर रहा हूं। मेरी जिंदगी का एक बड़ा हिस्सा चला गया। मेरे इमोशंस, रिलेशंस और हार्डवर्क का एक बहुत बड़ा हिस्सा चला गया।

 

 

ऐसी चर्चा थी कि शो तीन महीने बाद नए अवतार में लौटेगा। लेकिन चैनल की ओर से ऐसा कोई वादा नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि वादा हवा में नहीं होता। अगर चैनल ऐसा कुछ चाहता तो वह ऑनगोइंग प्रोसेस को पूरा होने देता, जिसमें कोई दिक्कत नहीं थी।

 

दया ने बताया कि शो के साथ भेदभाव दो साल से हो रहा था। कभी सोमवार का काट दिया, कभी रविवार का कैंसिल कर दिया। शुक्रवार का टेलीकास्ट तो बंद ही कर दिया। ऐसा लगता है कि सुबह उठे और तय कर लिया कि आज का नहीं चलाते या फिर चलो आज डाल देते हैं। दया के मुताबिक, ऐसा सिर्फ इसी शो के साथ हो रहा था। बाकी शो अपनी-अपनी टाइमिंग पर आ रहे थे। लेकिन ‘सीआईडी’ को कभी रात 10.30 बजे दिखाया, कभी इसे 11.30 पर टेलीकास्ट किया गया तो कभी इसका टाइम 10.20 कर दिया गया। ऐसे में ऑडियंस को यह पता चल पाने में दिक्कत होने लगी थी कि शो आखिर आएगा कितने बजे?

 

दया ने यह भी कहा कि ‘कौन बनेगा करोड़पति’ को छोड़ दिया जाए तो चैनल के पास ‘सीआईडी’ के बराबर पॉपुलर कोई दूसरा शो नहीं है। सोनी को खड़ा करने में ‘सीआईडी’ का बड़ा हाथ है। ऐसे में कोई अचानक से इसे बंद करने का फैसला कैसे ले सकता है। दया ने यह भी बताया कि बिना किसी नोटिस और कारण के जुलाई से सितंबर मध्य तक शो का टेलीकास्ट रोका गया था।

 

दयानंद शेट्टी ने कहा कि सीआईडी बंद होने के बाद कास्ट और क्रू मेंबर्स ने दूसरी जगह काम तलाशना शुरू कर दिया है। ऐसे में अगर भविष्य में सोनी ने सीआईडी फिर से शुरू करने का फैसला लिया और उन्हें वापस बुलाया तो वे अपना कमिटमेंट छोड़कर नहीं आएंगे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.