कोरोना के बढ़ते मामले और टीकाकरण अभियान को लेकर कांग्रेस ने मोदी पर साधा निशाना , कहा – सही से तैयारी नही की

Ten News Network

0 80

नई दिल्ली :– कांग्रेस ने टीकाकरण अभियान और बढ़ते कोरोना के मामलों को लेकर आज मोदी पर जमकर निशाना साधा , साथ ही उन्होंने गम्भीर आरोप लगाए। कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा ने प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने कोरोना वायरस के खिलाफ टीकाकरण अभियान को लेकर सही से तैयारी नहीं की, जिस कारण आज टीके की कमी होने या इनके खराब हो जाने की खबरें आ रही हैं।

 

कांग्रेस पार्टी के प्रवक्ता पवन खेड़ा ने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को समय-समय पर सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए ताकि कोरोना वायरस के खिलाफ मिलकर लड़ाई लड़ी जा सके।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, ‘‘कोरोना के 1,15,736 नए मामले आए हैं। यह दूसरी लहर कहीं ज्यादा भयावह साबित हो रही है। हम नए मामलों की संख्या में अमेरिका और ब्राजील से आगे हैं, लेकिन टीकाकरण में उनसे पीछे हैं। यह दूसरी लहर कब सुनामी बन जाए, हमें पता नहीं। इस बारे में सोचना होगा।

 

खेड़ा ने सवाल किया, ‘‘हम सरकार से जानना चाहते हैं कि हमने तैयारी क्यों ठीक नहीं की? कितने लोगों को टीका लगाना है, इस बारे में पहले क्यों तय नहीं किया गया?’’

 

उन्होंने आरोप लगाया, ‘‘जगह जगह से ऐसी खबरें आ रही हैं कि टीके की कमी हो रही है और टीके खराब भी हो रहे हैं। इसका सीधा मतलब है कि सरकार ने सही से तैयारी नहीं की।

 

कांग्रेस नेता के मुताबिक, मास्क नहीं पहनने को लेकर कई जगहों पर पुलिस बर्बरता दिखा रही है। क्या कोरोना संबंधी प्रोटोकॉल का पालन करवाने का यह तरीका है? मास्क पहनने को लेकर जागरुकता फैलाने का प्रयास किया जाए।

 

उन्होंने इस बात पर जोर दिया, ‘‘आप कार में हों या सरकार में हों, सबको यह संदेश देना होगा कि आप मास्क लगाइए। पवन खेड़ा ने यह भी कहा, ‘‘प्रधानमंत्री आप कोरोना को लेकर सर्वदलीय बैठक बार-बार बुलाया करें ताकि इस समस्या को लेकर मिलकर काम करिए। आज मिलकर लड़ाई लड़ने का समय है। कांग्रेस और राहुल गांधी आपके साथ कंधे से कंधा मिलकर खड़े रहेंगे।

 

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार को आम लोगों के मन से टीके को लेकर जुड़ी भ्रांतियों या आशंकाओं को दूर करने के साथ ही टीका निर्माता कंपनियों के सामने खड़ी धन की समस्या का निराकरण भी करना चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.