गौतम बुद्ध नगर में 326 हुए कंटेनमेंट जोन, लोगों का डीएम पर फूटा गुस्सा

Abhishek Sharma

0 437

गौतमबुद्ध नगर में कोरोना वायरस लगातार अपने पैर पसारता जा रहा है। यही कारण है कि शनिवार तक जनपद में कंटेनमेंट जोन के कैटेगिरी 1 की संख्या 279 पहुंच गई, जबकि कैटेगिरी 2 के कंटेनमेंट जोन की संख्या बढ़कर 47 हो गई है।

वहीं जिला प्रशासन कोरोना से निपटने के लिए सख्ती से जुटा हुआ है। इसके लिए लोगों को सोशल मीडिया के माध्यम से भी जागरूक किया जा रहा है।

इस सबके बीच जिला प्रशासन द्वारा 20 जून को जारी की गई नई कंटेनमेंट जोन की सूची देखकर सेक्टर-135 वाजिदपुर ग्राम के लोग आग-बबूला हो गए। लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से जिलाधिकारी को टैग कर आपत्ति जताई और जागो डीएम साहब तक भी लिख डाला। वहीं व्हाट्सएप ग्रुपों में भी आपत्ति दर्ज कराने लगे।

वाजिदपुर के ग्रामीणों का कहना है कि उनके ग्राम में मार्च और अप्रैल माह के बीच कोरोना के मरीज मिले थे। जो ठिक होकर अपने घर जा चुके हैं और जिला प्रशासन द्वारा गांव की सीलिंग को खोल दिया गया था।

अब कोरोना का एक केस सेक्टर-134 स्थित नंगली ग्राम में मिला है। लेकिन, जिला प्रशासन द्वारा नंगली गांव के साथ-साथ वाजिदुपर और सेक्टर-135 को भी कंटेनमेंट जोन की सूची में शामिल कर दिया है। दोनों अलग-अलग गांव हैं और नियमानुसार दोनों के बीच 750 से अधिक की दूरी भी है। प्रशासन को सूची फिर से रिवाइज कर जारी करनी चाहिए।

उधर, इस मामले में गौतमबुद्ध नगर जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग मरीज मिलने पर एरिया को पूरी तरह सील कर दिया जाता है। एरिया में पुलिसकर्मियों की भी तैनाती की जाती है, ताकि कंटेनमेंट जोन के नियमों का उल्लंघन न हो।

सेक्टर-135 और वाजिदपुर के लोगों द्वारा अगर आपत्ति जताई गई है तो कंटेनमेंट जोन की सूची को नियमानुसार फिर से दिखवाया जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.