रेंगती गाड़ियों के शहर नॉएडा को क्या कभी मिलेगा ट्रैफिक जाम से निजात ? देखें ऑफिस ऑवर के दौरान ली गई ग्राउंड रिपोर्ट

Rohit Sharma | Lokesh Goswami Ten News

150

यूपी के शो-विंडो शहर नोएडा को अत्याधुनिक और सुख-सुविधाओं वाला शहर कहा जाता है | जिसको लेकर लोग नोएडा में रहने और काम करने के लिए काफी उत्साहित होते है, लेकिन कभी – कभी ये उत्साह एक परेशानी में तब्दील हो जाता है |

हम यहाँ बात कर रहे हैं नोएडा की एक प्रमुख समस्या की | दरअसल जब से नोएडा बसा है उसके कुछ ही सालों के अंदर सड़कों पर जाम लगने लगा है, लेकिन आज तक उस जाम से लोगों को पूरी तरह निजात नहीं मिल पाई है | आखिर क्या वजह है इस रोज लगने वाले जाम की ?
क्या प्राधिकरण ने ट्रैफिक व्यवस्था के लिए मास्टर प्लान के वक़्त नहीं सोचा था, जिसके कारण आज नोएडा के निवासियों को रोजाना जाम झेलना पड़ रहा है ? क्या नॉएडा की सड़कें यहाँ के दिन ब दिन बढ़ रहे बोझ में उठाने में सक्षम भी हैं? आइये समझने की कोशिश करते हैं।

नॉएडा और दिल्ली मार्ग पर आए दिन लगने वाले जाम से लोगो को घंटो लड़ाई करके अपने घर और ऑफिस पहुचना पड़ता है | साथ ही नोएडा के मुख्य मार्गों पर हमेशा जाम की स्थिति बरकार रहती है |

जिसको लेकर नोएडा के गणमान्य व्यक्ति समय समय पर चर्चा करते है | वही इस मामले को देखते हुए टेन न्यूज़ की टीम ने सड़कों पर लग रहे जाम का आज सुबह जायजा लिया , साथ ही जाम में फंसे लोगो से खासबात बातचीत की |

नोएडा के सेक्टर 16, डीएनडी, महामाया फ्लाईओवर पर आज सुबह 9 बजे से सड़कों पर जाम लगना शुरू हो गया | सेक्टर 16 से लेकर नोएडा – दिल्ली बॉडर तक गाड़ियों की रफ़्तार धीमे होने लगी | चालकों को 2-3 किलोमीटर का सफर तय करने में 20 से 25 मिनट का समय लगा | साथ ही जाम में फसे लोगों का कहना है की नोएडा के जितने भी मुख्य मार्ग होते है, उन पर हमेशा सुबह और शाम को जाम मिलता है, जिससे काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है |

वही उनका कहना है की इस जाम को देखते हुए ऑफिस के लिए सुबह 7 बजे से निकलना पड़ता , जिससे जाम में फसने की जरूरत न पड़े | कभी – कभी अगर कोई गाड़ी मुख्य मार्ग पर ख़राब हो जाती है, तो समझो की आपको ऑफिस पहुंचने में एक से दो घंटे और लग जाते है |

इस विषय पर बात करते हुए ग्रेटर नॉएडा निवासी वनिता श्रीनिवास ने बताया, “मैं कई सालों ने लगातार ग्रेटर नॉएडा और दिल्ली के बीच रोज सफर करती हूँ। पहले की तुलना में सफर का समय लगभग एक घंटा बढ़ गया है। महामाया के पास उलटी दिशा में आते वाहन, फिल्म सिटी के पास कभी-कभार राइट टर्न बैरिकेड का ना होना और बहुत बढ़ी संख्या में लोगों में लेन ड्राइविंग के कायदे- कानून की समझ न होना लगभग रोज सुबह-शाम जाम की स्थिति पैदा करते हैं”.

खासबात ये है की ये जाम की समस्या नोएडा के अंदर कोई नयी नहीं है , ये बहुत पुरानी समस्या रही है | नोएडा की ये प्रमुख समस्या पर कितनी बार प्राधिकरण और पुलिस विभाग की बैठक हुई है , लेकिन आज तक उस समस्या का कोई हल नहीं निकल पाया | प्रदेश के डीजीपी भी बैठक कर इस मुद्दे का हल तलाश चुके हैं। परन्तु ऐसा लगता है की दशकों पुरानी प्लानिंग की कमी और अनियमित विकास की दौड़, वाहनों की गति पर ऐसे ही लगाम लगाती रहेगी।

इस मामले में भी देखा जाए तो पुरे गौतम बुद्ध नगर में ट्रैफिक व्यवस्था को सुधारने में ट्रैफिक पुलिस हमेशा लगी रहती है, लेकिन कम मात्रा में ट्रैफिक पुलिस होने पर इस समस्या का जनता की भावना के अनुरूप निस्तारण नहीं हो पाया |

ट्रैफिक विभाग का आंकलन, समय के साथ और गंभीर होगी समस्या:

वही इस विषय पर जब टेन न्यूज़ की टीम ने गौतम बुद्ध नगर के एसपी ट्रैफिक अनिल झा से बातचीत की तो उनका कहना है की पुरे गौतम बुद्ध नगर में 12 लाख से ज्यादा गाड़िया सड़को पर दौड़ती है | अगर देखा जाए तो नोएडा – ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे 6 लाइन का है , जो सेक्टर 16 में आते – आते 3 लाइन का हो जाता है | जिसके कारण गाड़ियों की रफ्तार धीरे हो जाती है | वही उनका कहना है की नोएडा के अंदर कोई वाहन खराब होने या कोई दुर्घटना हो जाती है, तो जाम की स्तिथि बन जाती है , जिसकी सुचना मिलने पर मौके पर ट्रैफिक पुलिस पहुंचकर जल्द से जल्द जाम को खुलवा दिया जाता है |

वही दूसरी तरफ उन्होंने बताया की 2009 की बात करे तो नोएडा की सड़कों पर जाम नहीं लगता था , क्योकि ट्रैफिक वॉल्यूम बहुत कम था | वही आने वाले समय जिस तरह से ग्रेटर नोएडा वेस्ट , नोएडा के सेक्टर 16 , 37 , एक्सप्रेसवे पर कमर्शियल और घर बन रहे है , जिसके बाद नोएडा में 5 लाख से ज्यादा वाहन सड़कों पर उतरेंगे | जिससे आने वाले समय में बहुत परेशानी का सामना करना पड़ेगा | फ़िलहाल इन सबको देखते हुए प्राधिकरण और शासन से बात चल रही है की आने वाले समय में ट्रैफिक व्यवस्था से कैसे निपटा जा सके |

अब देखने वाली बात होगी की नोएडा के अंदर काफी सालों से चली आ रही प्रमुख समस्या से लोगों को कब निजात मिल पाएगी , क्या हमेशा नोएडा के निवासियों को रोजाना की तरह जाम को झेलना पड़ेगा , ये आने वाले समय में पता चलेगा |

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.