नोएडा में प्रेस वार्ता कर विहिप ने फिर फूंका राम मंदिर निर्माण का बिगुल, फैसले में देरी को बताया हिन्दुओं का अपमान

Talib Khan

0 207

Noida, (7/12/2018): आज विश्व हिन्दू परिषद् मेरठ प्रान्त ने नॉएडा सेक्टर 9 के कार्यालय में प्रेस वार्ता आयोजित करी। इस प्रेस वार्ता के द्वारा वीएचपी हिन्दू समाज एवं बाकि हिन्दू संगठनों को जागरूक करने की मंशा जाहिर की और कहा कि वह हिन्दू समाज में राम मंदिर को लेकर जागरूकता पैदा करना चाहते हैं।

इस दौरान संगठन के पदाधिकारियों ने कहा की 29 अक्टूबर को वी एच पी , आर एस एस और बाकि हिन्दू संगठनों में ये आशा जगी थी की जो कार्य इतने सालो से अधूरा पढ़ा है उसको उच्चताम न्यायालय पूरा करने की मंज़ूरी दे देगा। लेकिन दुर्भाग्य ये रहा की उच्चतम न्यायालय ने इस विवादित मुद्दे को अपनी प्राथमिकता पर न रखते हुए जनवरी 2019 में नयी खंडपीठ बनाने तय किया।

वी एच पी के अनुसार ये 110 करोड़ हिन्दुओ की आस्था के साथ खिलवाड़ है।

वी एच पी और अन्य हिन्दू संगठन सरकार से ये मांग करते हैं की अति शीघ्र इस विवाद का निस्तारण न्यायालय द्वारा , कानून बनाकर या फिर राजनितिक समझौते के आधार जैसे भी हो हल निकाले और भगवान राम का भव्य मंदिर अयोध्या की पुण्य भूमि पर विराजमान करवाए।

सुदर्शन चक्र, संगठन मंत्री वी एच पी ने मीडिया को सम्बोधित करते हुए कहा की उच्चतम न्यायालय की ओर से हो रही देरी को हम लोग अपना और इस देश के 110 करोड़ हिन्दुओ का अपमान मान रहे हैं और अगर इस मुद्दे पर जल्द ही कोई कार्रवाई नहीं हुई तो मजबूरन फिर से 1992 की घटना को दोहराया जा सकता है।

6 दिसंबर 1992 को वी एच पी और अन्य हिन्दू संगठनो द्वारा बाबरी मस्जिद को तोड़ दिया गया था जिससे देश भर में दंगो की स्तिथि बन गयी थी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.