सर्वदलीय बैठक खत्म होने के बाद बीजेपी और कांग्रेस ने केजरीवाल पर साधा निशाना , लगाए गम्भीर आरोप , बाजार बंद करने का हुआ विरोध

ROHIT SHARMA

0 86

नई दिल्ली :– दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों पर आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी । वही इस बैठक में दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता और दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने भी हिस्सा लिया।

 

 

बैठक से बाहर आने के बाद दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में हमने कई सुझाव रखे हैं। उनका कहना है कि दिल्ली सरकार अगर पहले से ही जागरूक होती तो आज यह स्थिति ना होती । पहले भी केंद्र सरकार के दखल के बाद स्थिति में सुधार हुआ था और अब एक बार फिर केंद्र सरकार कोविड-19 मामलों से निपटने के लिए काम कर रही है।

 

 

बैठक के दौरान हमने बाजारों को बंद करने का पूरा विरोध किया है , लॉकडाउन लगाने से नहीं बल्कि जागरूक करने से काम चलेगा। दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने बैठक में कहा कि अगर दिल्ली सरकार पहले से बाजारों में जागरूकता अभियान चलाती तो आज यह स्थिति ना होती।

 

उन्होंने कहा कि हमने अपने सुझाव में कहा है कि बाजारों में वॉलिंटियर्स लगाए जाएं ताकि जो लोग कोविड-19 की गाइडलाइन फॉलो नहीं कर रहे हैं उन लोगों को सख्ती से कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन कराया जा सके।

 

 

छठ पूजा बैन किए जाने पर आदेश गुप्ता ने कहा कि छठ हमारी आस्था से जुड़ा पर्व है और हम ने मांग की है कि कोविड-19 की गाइडलाइन फॉलो करते हुए छठ पर्व मनाने की अनुमति घाटों पर दी जानी चाहिए।

 

 

आदेश गुप्ता ने केजरीवाल पर निशाना साधते हुए कहा मुख्यमंत्री ने बहुत देर लगा दी ये बैठक बुलाने में इसके साथ साथ उन्होंने कहा कि दिल्ली में आईसीयू बेड और वेंटिलेटर बढ़ाने में दिल्ली सरकार फेल नज़र आयी,अगर समय रहते इनकी संख्या को बढ़ाया जाता तो शायद स्तिथि को कंट्रोल जा सकता था। उन्होंने कहा कि दिल्ली में टेस्टिंग की संख्या और कांटेक्ट ट्रेसिंग भी बढ़ाई जानी चाहिए। इसके साथ साथ उन्होंने केजरीवाल सरकार पर विज्ञापन पर 125 करोड़ रुपए खर्च करने का भी आरोप लगाया।

 

 

वही इस सर्वदलीय बैठक में शामिल होने के बाद कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अनिल चौधरी ने कहा कि इस बैठक में कोरोना को लेकर दिल्ली सरकार के बाजारों को बंद करने के फैसले का कांग्रेस ने विरोध किया है। इसके अलावा भाजपा ने कुप्रबंधन और बेड की संख्या में वृद्धि का मामला भी इस दौरान उठाया गया।

 

 

कांग्रेस ने सार्वजनिक रूप से छठ पर प्रतिबंध नहीं लगाने के लिए दिल्ली सरकार को एक पत्र भी भेजा गया है। कांग्रेस ने सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा पर प्रतिबंध का मुद्दा उठाया और मांग की कि सरकार आवश्यक कोविड-19 सुरक्षा निर्देशों के अनुपालन के साथ इसकी अनुमति दे। दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अनिल चौधरी ने कहा कि दिल्ली सरकार को लॉकडाउन और बाजार बंदी को लेकर इस भ्रम को स्पष्ट करना चाहिए।

 

 

बैठक के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा ‘आज सर्वदलीय बैठक में सभी दलों का सहयोग मांगा गया। यह समय राजनीति का नहीं बल्कि सेवा का है। सभी दलों से निवेदन किया कि वे अपने कार्यकर्ताओं से सभी सार्वजनिक स्थलों पर मास्क वितरित करने के लिए कहें। सभी दलों ने आश्वासन दिया कि वे राजनीति छोड़कर जनसेवा में सहयोग करेंगे।’

Leave A Reply

Your email address will not be published.