दिल्ली : 10500 कोरोना संदिग्ध होम कोरेनटाइन, सरकार घर के बाहर लगा रही बोर्ड

Rohit Sharma / Lokesh Goswami Tennews New Delhi :

0 333

नई दिल्ली :– दिल्ली में विदेश से आने वाले या उनके संपर्क में आएं 12 हजार 567 लोगों को दिल्ली सरकार ने कोरेनटाइन में भेज दिया है। इसमें साढ़े दस हजार लोग ऐसे है जिन्हें उनके घर पर ही कोरेनटाइन किया गया है, जबकि 1067 से अधिक लोगों को सरकारी कोरेनटाइन सेंटर में रखा गया है।

कोरेनटाइन होने वालों की संख्या में रोजाना इजाफा हो दर्ज किया जा रहा है। दिल्ली में अभी तक कोरोना के 30 पॉ़जिटिव केस आ चुके है। बीते 40 घंटे में एक भी केस सामने नहीं आया है।

सरकारी कोरेनटाइन सेंटर में रहने वाले वो लोग है जिनमें कोई न कोई लक्षण है जिससे कोरोना वायरस का खतरा हो सकता है। वहीं होम कोरेनटाइन में उन्हें भेजा है जो कि विदेश की यात्रा करके लौटे है या फिर किसी के संपर्क में आएं है। मगर उनमें फिलहाल कोई लक्षण नहीं है।

सरकार होम कोरेनटाइन में रह रहे लोगों को निगरानी बनाएं हुए है। उनके घर पर रोजाना एक टीम जांच के लिए जाती है , साथ ही उनके घर के आस-पास सैनिटाइज भी किया जा रहा है।

ऐसे घरों व लोगों को आसानी से चिन्हित किया जा सके, इसके लिए सरकार उनके हाथों पर कोरेनटाइन का मुहर लगाने के साथ घरों के बाहर बो़र्ड और कोरेनटाइन होने वालों की संख्या भी लिखी है। उस बोर्ड पर उस घर के मालिक का नाम व पता भी लिखा हुआ है।

स्थानीय डीएम कार्यालय की टीम उनपर पूरी तरह से नजर बनाएं हुए है। सरकार का कहना है कि सभी को 14 दिन तक कोरेनटाइन में रखा जा रहा है। उसके बाद अगर कोई लक्षण आता है तो उन्हें तुरंत अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा है।

होटल में कोरेनटाइन बेड की संख्या 600 की
सरकार ने कोरेनटाइन करने वालों की संख्या को बढ़ता हुआ देख होटल में पेड कोरेनटाइन बिस्तर की संख्या बढ़ाकर 600 की है। यह पहले तीन होटल में 182 बिस्तर का था। नए तीन होटस भी एरोसिटी में ही मौजूद है। अगर कोई पेज कोरेनटाइन में रहना चाहता है तो वह सीधे वहीं जा कर रह सकता है। एक दिन 3100 रूपये लगते है। इसपर लगने वाले जीएसटी को सरकार ने माफ कर दिया है।

फैक्ट फाइल:
12,567 लोग कोरेनटाइन है दिल्ली में।
1067 लोग सरकारी कोरेनटाइन सेंटर में है।
10,500 लोग होम कोरेनटाइन में रह रहे है।
30 केस दिल्ली में चुका है।
1 केस विदेशी नागरिक का था।
1 की मौत हो चुकी है।
5 लोगों को अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.