छापे के दौरान बिगड़ी पूर्व इंजिनियर बृजपाल की तबीयत, डॉक्टरों ने दी भर्ती करने की सलाह

ROHIT SHARMA / ASHISH KEDIA

0 332

नोएडा प्राधिकरण के वर्ग सर्कल एक मे सहायक परियोजना अभियंता पद पर तैनात ब्रिजपाल चौधरी के घर आयकर टीम द्वारा पिछले 30 घंटों से लगातार छापेमारी की जा रही है। इस छापेमारी की खबर मीडिया के माध्यम से फैलने के बाद नोएडा प्राधिकरण के सीईओ आलोक टंडन ने एक पत्र जारी कर कहा है कि आय से अधिक संपाति के मामले मे इस कार्रवाई से प्राधिकरण की छवि धूमिल हुई है, एपीई ब्रिजपाल चौधरी को निलंबित किया गया है। इस बीच ये समाचार भी आया है कि ब्रिजपाल चौधरी की तबीयत अचानक बिगड़ गई है और कैलाश अस्पताल से डाक्टरों की टीम को बुलाया गया, जिनहोने जांच करने के बाद उन्हे भर्ती करने की सलाह दी है।

कैलाश अस्पताल के डॉकटरो की एक टीम ने ब्रिजपाल चौधरी के निवास एच 37 पर जा कर उनके स्वास्थ्य की जांच की है। जांच करने के बाद बाहर आए डॉ अमित सक्सेना ने बताया कि उनकी हालत स्थिर है। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही है, उनकी शुगर भी बढ़ी हुई है। उन्हें अस्पताल में भर्ती करने की सिफ़ारिश की गई है।

इस बीच सुबह से इन्कम टैक्स की जो छापेमारी चल रही है वह आज भी जारी है | ये छापेमारी नोएडा कई जगहो पर की जा रही है। इस बीच ब्रिजपाल चौधरी की तबीयत बिगड़ने की खबर सुनकर उनके परिवार के कई सदस्य उनसे मिलने नोएडा के सेक्टर-27 पहुंचे। आयकर अधिकारियों ने उन्हें मुलाक़ात करने का मौका दिया, लेकिन वे अपनी कार्रवाई जारी रखे हुए हैं। ब्रिजपाल चौधरी मिलकर बाहर निकले परिजनों का कहना है कि उनकी हालत ज्यादा खराब है, उन्हे तत्काल अस्पताल मे भर्ती करने की जरूरत है। उनका यह भी कहना है कि 5 दिन पहले ही वे अस्पताल से इलाज कराकर लौटे हैं। उन्हे शुगर, बीपी, किडनी इन्फेक्शन और हार्ट की समस्या है। परिजन यह मनाने को तैयार नहीं हैं कि ब्रिजपाल चौधरी ने कोई गलत काम किया है। ये मामला जल्दी ही खत्म हो जाएगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.