गौतमबुद्ध नगर में आज शुरू हुई “डायल एफआईआर” योजना , गणमान्य लोगों ने दी प्रतिक्रिया

ROHIT SHARMA / RAHUL JHA

0 416

नोएडा  :– नोएडा पुलिस की ओर से आम लोगों के लिए राहत भरी खबर है , एक जुलाई यानी आज से नोएडा में रहने वाले लोगों को एफआईआर दर्ज कराने के लिए थाने के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। स्ट्रीट क्राइम और चोरी की घटना के बाद शिकायत करने के लिए आप जैसे ही 100 नंबर पर फोन करेंगे तो पीआरवी आपके पास पहुंच जाएगी और पीआरवी सवार पुलिसकर्मी मौके पर ही आपकी एफआईआर दर्ज करेंगे। आपको बता दे की नोएडा पुलिस की इस नई योजना को “डायल एफआईआर” का नाम दिया गया है।



साइबर क्राइम पीड़ितों के लिए भी अच्छी खबर है, क्योंकि अब उन्हें भी थाने और साइबर सेल की दौड़ नहीं लगानी पड़ेगी। इसके लिए शहर में कोतवाली सेक्टर-24 और देहात में सूरजपुर को नोडल थाना बनाया गया है। दोनों थाने में साइबर अपराध के मुकदमे दर्ज होंगे |

वही इस मामले में एनईए के अध्यक्ष विपिन मल्हन का कहना है की गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी ने एक अच्छा प्रयास किया है , नोएडा पुलिस की नई योजना “डायल एफआईआर” सभी लोग स्वागत करेंगे | इससे पीड़ित को थाने के चककर नहीं काटने पड़ेंगे , “डायल एफआईआर” से नोएडा की कंपनियों में काम कर रहे मजदूरों के लिए आसान रहेगा , क्योकि छोटी छोटी वारदात कर्मचारियों के साथ होती रहती है | जिसकी एफआईआर नहीं हो पाती है , लेकिन नोएडा पुलिस की नई योजना “डायल एफआईआर” से पीड़ित कर्मचारियों को राहत मिलेगी |

वही दूसरी तरफ फोनरवा के अध्यक्ष एनपी सिंह का कहना है की गौतमबुद्ध नगर के एसएसपी ने एक नई पहल शुरू की है , इस पहल से पीड़ित को थाने के चककर नहीं काटने पड़ेंगे | नोएडा पुलिस की नई योजना “डायल एफआईआर” का नोएडा के निवासी स्वागत करेंगे | साथ ही उन्होंने कहा की घरों में चोरी, स्ट्रीट क्राइम जैसे मोबाइल-पर्स छिनतई और कार का शीशा तोड़कर की जाने वाली चोरी जैसी घटनाओं में मौके पर ही एफआईआर दर्ज होगी।

दरअसल एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि आज से डायल एफआईआर शुरू की जा रही है। इसमें घरों में चोरी, स्ट्रीट क्राइम जैसे मोबाइल-पर्स छिनतई और कार का शीशा तोड़कर की जाने वाली चोरी जैसी घटनाओं में मौके पर ही एफआईआर दर्ज होगी। इन घटनाओं के पीड़ित की सूचना पर जैसे ही यूपी पुलिस की 100 नंबर की पीआरवी मौके पर पहुंचेगी, उसी वक्त पुलिस प्रोफार्मा में घटना का विवरण भर लेगी।

इसी आधार पर कोतवाली में एफआईआर भी दर्ज हो जाएगी। अब पीड़ितों को कोतवाली जाने की जरूरत ही नहीं होगी। यूपी 100 को पिछले कुछ समय से जितनी शिकायतें मिल रही थीं, उतनी रिपोर्ट थानों में दर्ज नहीं हो रही थी। इसी के मद्देनजर नए प्लान पर काम करने का फैसला लिया गया है।

पुलिस को उम्मीद है कि अब घटनाओं के बाद 100 फीसदी एफआईआर होगी। इस कारण ही डायल एफआईआर योजना तैयार की गई। एसएसपी ने बताया कि डायल एफआईआर में कोई नामजद आरोपी नहीं होगा। नामजद आरोप के लिए वादी को थाने जाना होगा |

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.