- Advertisement -

गलगोटियाज कॉलेज के प्रोफेसरों को मिला पेटेंट, जाने क्या किया था आविष्कार

0 150

गलगोटियाज समूह को एक के बाद एक मिल रही उपलब्‍धियों में हाल में एक और बड़ा गौरव जुड़ गया। गलगोटियाज को भारत सरकार के पेटेंट कार्यालय के तहत इंटेलेक्‍चुअल प्रॉपर्टी इंडिया के तहत पेटेंट प्रमाणपत्र (पेटेंट नंबर 372173) हासिल हुआ है। यह पेटेंट गलगोटियाज कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग ऐंड टेक्‍नोलॉजी (ग्रेटर नोएडा, यूपी) की फैकल्‍टी डॉ. प्रवीण कुमार माधुरी और कुशाग्र सिंह को उनके आविष्‍कार ‘क्रॉप शेल्‍टर ऐंड वाटर हार्वेस्‍टिंग डिवाइस’ के लिए 19 जुलाई, 2021 को प्रदान किया गया।

उललेखनीय है कि इस आविष्‍कार के लिए भारत सरकार के पेटेंट कार्यालय में आवेदन पिछले वर्ष 23 अक्‍टूबर को किया गया था। उक्‍त आविष्‍कार के लिए गलगोटियाज को यह पेटेंट अगले 20 वर्ष की अवधि के लिए दिया गया है। इस पेटेंट को मिलने से यह प्रमाणित हो गया है कि गलगोटियाज कॉलेज और यूनिवर्सिटी में फैकल्‍टी और स्‍टूडेंट्स द्वारा किस तरह इनोवेशन और इन्‍वेंशन की दिशा में लगातार सक्रियता से काम किया जा रहा है।

इस उपलब्धि से पूरे गलगोटियाज समूह में खुशी और उत्‍साह का माहौल बन गया है। पेटेंट मिलने के बारे में हर्ष व्‍यक्‍त करते हुए गलगोटियाज समूह के चेयरमैन सुनील गलगोटिया ने कहा कि, ‘हमारा उद्देश्‍य अपने शिक्षा संस्‍थानों के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इच्‍छा के अनुसार इनोवशन और इन्‍वेंशन से देश के विकास को लगातार रफ्तार देना है। इसके लिए हम अपनी उत्‍साही युवा फैकल्‍टी और स्‍टूडेंट्स को लगातार प्रेरित-प्रोत्‍साहित करते रहते हैं। इस अनवरत प्रयास का ही नतीजा हमारे द्वारा किए गए आविष्‍कार को मिले पेटेंट के रूप में सामने आया है। आने वाले दिनों में हम इस दिशा में और अधिक उत्‍साह से काम करेंगे, ताकि हमारे ज्‍यादा से ज्‍यादा आविष्‍कारों को पेटेंट मिल सके। हम देशहित में इन पेटेंट को इंडस्‍ट्री के साथ मिलकर प्रभावी उत्‍पाद में बदलने की दिशा में भी प्रयास तेज करेंगे।’

Leave A Reply

Your email address will not be published.