गौतम बुध नगर के कोरोना पॉजिटिव मरीजों ने टेन न्यूज़ से की मन की बात, साझा किए अनुभव

Pravendra Kumar Singh

0 265

Greater Noida (31/03/2020) : पूरे देश भर में कोरोना का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, जिसको लेकर अब परिजनों समेत मरीज भी घबराये हुए हैं। कोरोना के मरीजों को अस्पतालों में भर्ती किया गया है। जिनका इलाज किया जा रहा है। कुछ मरीज ठीक होकर घर आ गये हैं। गौतमबुद्ध नगर के 31 मरीजों में से 8 लोगों से बातचीत की , जिन्होंने आप बीती बताई , आइये चलते हैं गौतम बुद्ध नगर के कोरोना संक्रमित मरीजों के पास और जानते हैं , उनका किस तरीके से इलाज किया जा रहा है, कैसी सुविधायें उनको मिल रही हैं और कितने वे संतुष्ट हैं। कि एक भूल आपके परिवार को बड़ी परेशानी में डाल सकती है ।

1- कोरोना संक्रमित मरीज ने बताया कि उनके कोरोना पॉजिटिव आने से उनकी फैमिली डिस्टर्ब हो गयी है। आगे बात करने पर उन्होंने लोगों को हिदायत देते हुए घर में रहकर सेफ रहने को कहा, और बाहर जाने को मना किया और जनता को सन्देश देते हुए कहा कि अपने अंदर संयम रखें , और प्रधानमंत्री जी की अपील का साथ देते हुए उसका ढंग से पालन करें , साथ में यह भी कहा कि कोई हमारा देशवासी इस महामारी से इन्फेक्टेड न हों मेरी यही कामना है।

2 – कोरोना के मरीज ने बातचीत में सभी से आवाहन किया कि सभी को कोरोना के विरूद्ध मिलकर लड़ाई लडनी होगी। आगे कोरोना के मरीजों के लिए डॉक्टर्स की टीम के बारे में उनके योगदान को उन्होंने सराहा और कहा डॉक्टर्स अपना बेस्ट से बेस्ट उपचार दे रहे है। कोरोना को लेकर कोरोना पीड़ित कहती हैं कि अगर किसी को किसी भी तरह का कोई फ़्लू या कोई ऐसा सिम्प्टम नज़र आये तो उसे तुरंत डॉक्टर से चेकअप कराना चाहिए। क्योंकि कोरोना संक्रमित की लापरवाही की वजह से ये और लोगों को भी फैल सकता है। आगे जनता को अपील करते हुए कोरोना पीड़ित कहती हैं , प्रधानमंत्री जी ने जो लॉक डाउन की घोषणा की है, उसका पालन करें उसका उल्लंघन न करें। उसका उल्लंघन करने पर आपकी हानि होगी और उसके साथ साथ पूरे देश की हानि होगी।

3 – कोरोना मरीज से उनके मनकी बात पूछे जाने पर मरीज ने कहा कि कोरोना बहुत खतरनाक बीमारी है। डॉक्टरों की टीम बहुत अच्छी है। मरीज ने आगे प्रधानमंत्री के लॉकडाउन का समर्थन करते हुए घर में रहने पर जोर दिया और इसके बाद कोरोना संक्रमित मरीज जनता को अपने संदेश में कहा कि आप घर पर भाप लेते रहिये, जिससे आपके शरीर के अंदर के बैक्टीरिया आदि मर जायेंगे और साथ ही किसी से न मिलने की सलाह देते हुए 8 से 10 दिन में सब ठीक होने की बात कह कर अपनी बात समाप्त कर दी।

4 – मरीज के परिजन ने बताया कि जो सरकार बता रही है उन गाइडलाइन्स को फॉलो करें, सोशल डिस्टन्सिंग व हाइजीन का ख्याल रखना चाहिये , और यह सिर्फ मामूली फ्लू की तरह है। यह आया है तो जाएगा भी, इसमें घबराने, छुपाने की कोई जरुरत नहीं है। आगे परिजनों से बात करने पर पता लगा कि उनकी फैमिली में 10 लोग हैं जिसमें 6 पॉजिटिव हैं , और वे स्वयं कोरोना नेगेटिव हैं। आगे उन्होंने कहा सरकार बैकट्रैकिंग करके बहुत अच्छा काम कर रही है। आगे बातचीत में मरीज के परिजन ने कहा कि ठीक होने के बाद भी 14 दिन तक क्वारंटाइन में रहना होता है और जनता को संदेश देते हुए कहा, मास्क पहनकर सोशल डिस्टैन्सिंग का पालन करना चाहिए।

5 – कोरोना मरीज के परिजनों ने बताया कि उनकी माता कोरोना पॉजिटिव आयी हैं। वह स्वयं और उनकी पत्नी नेगटिव आए हैं। वह स्वयं और उनकी पत्नी 14 दिनों के लिए क्वारंटाइन में हैं , बाकी घर के सदस्य अस्पताल में भर्ती हैं। रिपोर्ट आने के बाद काफी घबराहट हुई थी क्योंकि माता-पिता जी की उम्र ज्यादा है। भारत की जनता को कहना चाहते हैं कि घर में भी दूरी बनाकर रखें , ज्यादा पैनिक और बाहर निकलने की आवश्यकता नहीं है, जितना सेफ्टी करके रखेंगे , उतना ठीक रहेगा। मास्क पहन के रखें और हाथों को हर घंटे को सेनिटाइज करते हैं। कोरोना मरीज के परिजन ने ये बताया कि अस्पताल में क्वारंटाइन में दो-दो दिन पर 2 बार सैंपलिंग होती है और 7 दिनों का मेडिकेशन होता है, इस तरह से 14 दिनों का इलाज चलता है।

6 – कोरोना पाजिटिव ने बताया कि बाकी मरीज ठीक हो रहे हैं, और इस बीमारी से घबराने की कोई जरूरत नहीं है, कुछ दिनों में वह भी डिस्चार्ज हो जाएंगे, साथ में मरीज ने कोरोना के बारे में यह भी कहा की कोरोना कोई ऐसी बीमारी नहीं है जिसको नहीं हराया जा सकता है। हॉस्पिटल की सुविधाओं पर पूछे जाने पर मरीज ने तारीफ़ के पुल बाँध दिए। भारत की जनता को सन्देश में मरीज ने यही कहा कि प्रधानमंत्री जी के लॉक डाउन के आवाहन को न तोड़ें , लॉकडाउन को सही से पालन करें नहीं तो कोरोना कम्युनिटी स्प्रेड की तरफ भारत चला तो, बहुत बडी परेशानी भारत सरकार की बढ जायेगी। सावधानी के सवाल पर मरीज ने कहा ,मास्क पहने हुए हैं, और सैनेटाइजर से बार बार हाथ धो रहे हैं और चेहरे को नहीं छू रहे हैं।

7 – कोरोना से मन की बात में बातचीत पर मरीज ने बताया कि कोरोना बीमारी मारने वाली कम है , फैलने वाली ज्यादा है। भारत की जनता को सन्देश देते हुए कहा कि सोशल डिस्टैन्सिंग और घर में रहना जरूरी है। हॉस्पिटल की सुविधा पर सवाल पूछे जाने पर मरीज बोला कि सरकार से जितना सुविधा मिल सकता है, उतना सरकार कर रही है। कोरोना पॉजिटिव रिजल्ट आने के सवाल पर मरीज़ ने बड़ा सुलझा हुआ जवाब दिया कि रिपोर्ट मिल जाएगी, पता चल जाएगा और इलाज होना होगा तो हो जायेगा। कोरोना पर सावधानी बरतने का प्रश्न जब पुछा गया तो संक्रमित मरीज ने कहा कि बाहर न निकले, संक्रमित लोगों से न मिलें और इतना कह कर मरीज ने अपनी बात समाप्त कर दी ।

8 – कोरोना से मन की बात में मरीज ने बताया कि कोरोना से डरना नहीं है , डॉक्टर बेस्ट इलाज दे रहे हैं। कोरोना को लेकर देशवासियों को सन्देश में मरीज ने कहा कि अगर किसी को भी कोरोना या किसी फ्लू के लछण लगते हों तो भागने या घबराने की आवश्यकता नहीं है। कम से कम एक बार चैकअप कराने की सलाह दी , मरीज का मानना है कि एक की वजह से दूसरों को भी संक्रमण होने के चान्सेस हैं। जनता को अपने सन्देश में मरीज ने कहा की सरकार के लॉक डाउन का पालन कीजिये और घर में रहिये नहीं तो आपकी हानि है और देश की भी हानि है।

गौतम बुद्ध नगर में हमने पूरे जिले के सभी मरीजों से बात करने की कोशिश की, लेकिन सभी मरीजों में से कुछ ऐसे भी मरीज थे, जो कि अपने दुःख दर्द और अपने गंभीर स्वभाव, डर और अपने कोरोना के दवाब एवम स्वास्थ सही न होने व रीकवर न होने के कारणों के चलते हमसे बात नही कर सके।

आपने सुना और पढ़ा कि किस तरह कोरोना वायरस के मरीज सिर्फ एक ही बात कह रहे है कि आप घर से न निकले , साथ ही कोई सामान खरीदने जा रहे है तो काफी दूरी बनाकर जरूरत की चीजें खरीदें | आप , परिवार , समाज, गाँव , शहर और देश को स्वस्थ रखे।

एक ही घर के 6 लोगों में से 4 कोरोना पॉजिटिव.

Leave A Reply

Your email address will not be published.