लोकसभा चुनावों को लेकर जिला प्रशासन तैयारियों में जुटा, आचार संहिता का उल्लंघन करने वालों पर होगी सख्त कार्यवाही

ROHIT SHARMA / TALIB KHAN

104

नोएडा  :- लोकसभा चुनाव की घोषणा अभी चुनाव आयोग ने नहीं की है , लेकिन आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद की तैयारियों में भी जिला प्रशासन अभी से जुट गया है। मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने लोगो की सूची, नोडल आफिसर की नियुक्ति, मतदान केंद्र की संख्या, अवैध शराब, शस्त्र, स्मगलिंग के साथ ही निरोधात्मक कार्रवाई के बारे में डीएम और एसएसपी ने प्रेस कंफेंस करके मीडिया को बताया। उन्होंने मीडिया के सामने ईवीएम और वीवीपैट के डिमांस्ट्रेशन की बात कही।



नोएडा के सेक्टर-27 स्थित कैंप कार्यालय में आज हुई प्रेस कान्फ्रेंस में मीडिया को संबोधित करते हुए डीएम ने जानकारी दी की लोकसभा चुनाव-2019 में गौतमबुद्ध नगर लोकसभा सीट पर कुल 31 जनवरी तक 14,88,988 मतदाता हैं। पिछले चुनाव में 1417 बूथ थे। इस बार 1536 बूथ बनाए गए हैं। 492 मतदान केंद्र होंगे। ग्रामीण क्षेत्र में 312 और शहरी 2224 बूथ होंगे। चुनाव संपन्न कराने के लिए 22 नोडल आफिसर और 112 सेक्टर व जोनल मजिस्ट्रेट बनाए गए हैं। इसके अलावा 4,435 मतदान कर्मचारी तैनात किए जाएंगे।

जिला निर्वाचन अधिकारी बीएन सिंह ने बताया कि एक जनवरी-2019 को आधार मानकर कुल 01 लाख 50 हजार 982 लोगों ने मतदाता सूची में नाम दर्ज कराने के लिए फार्म-6 भरा था। उनमें से 1,34,788 लोगों के फार्म सही पाए गए। जबकि 16,194 लोगों के फार्म में त्रुटियां पाई गई हैं। उन्हें भी ठीक कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। उसे प्रिंट करने के लिए चेन्नई भेजा गया है। वहां से आते ही बीएलओ के माध्यम से मतदाता परिचय पत्रों का नितरण करा दिया जाएगा।

उन्होंने बताया कि इससे पहले चलाए गए अभियान में 57 हजार मतदाता बढ़े थे। इस तरह पूरे वर्ष में कुल लगभग 02 लाख 10 हजार वोट बढ़ गए हैं। बीएन सिंह ने बताया कि हाल के दिनों में बड़ी संख्या में फ्लैट ओनर्स, बाहर से आने वाले श्रमिक और विद्यार्थियों की वजह से यह बढ़ोत्तरी हुई है।

प्रेस कान्फ्रेंस मीडिया को संबोधित करते हुए एसएसपी वैभव कृष्ण ने बताया कि आचार संहिता लगते ही सरकारी भवनों पर लगे पोस्टर, फ्लैक्स और बैनर उतारने की कार्रवाई की जाएगी। उसके लिए विशेष टीम बनाई गई है।

आचार संहित के उल्लंघन पर कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए भी अलग से टीम बनाई गई है। जिन मामलों में एफआईआर की आवश्यकता होगी, उस पर भी सख्ती से अमल किया जाएगा। राज्य और जिलों के बार्डर पर वैरियर लगाकर विशेष चेकिंग की जाएगी। अवैध शराब, शस्त्र, स्मगलिंग के साथ ही निरोधात्मक कार्रवाई बड़े पैमाने पर की जाएगी। उन्होंने बताया कि मतदाताओं को प्रलोभन देने या धमकी देने वालों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए अलग से हेल्पलाइन नंबर जारी किए जाएंगे। इस नंबर पर शराब और रुपये बांटने की भी शिकायत दर्ज कराई जा सकेगी।

एसएसपी ने बताया कि उनका मीडिया सेल है। उसे और प्रभावी बनाया जाएगा। चुनाव वाले दिन और उससे पहले लोग अफवाहें फैलाने का काम करते हैं। उन पर ध्यान न दिया जाए। लेकिन, यदि कोई ऐसी बात है भी तो उसके लिए अधिकारियों से जरूर बात कर ली जाए। अफवाहें फैलाने वालों के खिलाफ ऐसी सख्त कार्रवाई होगी, जिसे नजीर के तौर पर देखा जाएगा। उन्होंने बताया कि मीडिया के लिए अलग से फोन नंबर जारी किए जाएंगे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.