मनीष सिसोदिया का ऐलान , दिल्ली में नहीं खेला जाएगा IPL मैच का एक भी मुकाबला

Lokesh Goswami /Harender Singh Tennews New Delhi

0 195

कोरोना वायरस को लेकर दिल्ली सरकार ने एक और बड़ा फैसला लिया है। दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बताया है कि आईपीएल के मुकाबलों पर रोक लगा दी गई है। उन्होंने कहा है एक भी शख्स से कोरोना फैल सकता है। उन्होंने बताया है कि हमने किसी भी खेल गतिविधि पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है, जहां लोग बड़ी संख्या में आईपीएल के लिए एकत्रित होंगे। दिल्ली में सभी खेल, आयोजनों, सेमिनार, कॉन्फ्रेंस पर रोक लगा दी है।

गौरतलब है कि आईपीएल 2020 का आयोजन अपने तय कार्यक्रम के मुताबिक 29 मार्च से होना था। केंद्र सरकार खेल मंत्रालय और विदेश मंत्रालय में बीसीसीआई को इस साल आईपीएल का आयोजन न कराने की सलाह दे चुकी है।

कोरोना महामारी घोषित, स्कूल-कॉलेज, सिनेमा 31 मार्च तक बंद

दिल्ली समेत पूरे देश में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए दिल्ली सरकार ने सीवायड-19 (कोरोना वायरस) को गुरुवार को महामारी घोषित कर दिया है। एलजी अनिल बैजल और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के बीच हुई समीक्षा बैठक में यह फैसला लिया गया है। बैठक में दिल्ली सरकार ने ऐहतियात के तौर पर सभी सिनेमा हाल और जिन स्कूलों व कालेजों में परीक्षाएं नहीं हैं, उन सभी को आगामी 31 मार्च तक बंद करने का फैसला लिया है।

एलजी के साथ समीक्षा बैठक की जानकारी देते हुए मुख्यमंत्री अरविदं केजरीवाल ने बताया कि कोरोना को लेकर उत्पन्न स्थिति से निपटने के लिए दिल्ली सरकार पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि बैठक में, अभी तक जो भी कदम उठाए गए हैं, उन सभी की समीक्षा की गई है और कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। दिल्ली सरकार ने सभी सिनेमा हाल को आगामी 31 मार्च तक बंद करने का फैसला लिया है। जहां पर एग्जाम नहीं है, वह सभी स्कूल और कालेज भी बंद किए जाएंगे। मरीजों को कोरेंटाइन (अलग से रखने)करने के लिए हमारे पास पर्याप्त बेड हैं। हमारे डूसिब के खाली फ्लैट में बेड का इंतजाम किया जा रहा है। बुराड़ी समेत अन्य निर्माणाधीन अस्पतालों में भी कोरेंटाइन करने की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा अस्पतालों में 500 से अधिक बेड तैयार हैं।

मॉल, दुकान और संस्थान किए जाएंगे कीटाणु रहित
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना को दिल्ली सरकार ने महामारी घोषित करने का फैसला लिया है। इसके अलावा सभी सरकारी कार्यालय, सभी निजी कार्यालय, माल्स और दुकान समेत सभी सार्वजनिक स्थानों के लिए अनिवार्य किया जा रहा है कि वे आपने सार्वजनिक स्थान को डिसइंफेक्ट (कीटाणु रहित) करेंगे। सभी संस्थानों को प्रतिदिन अपने-अपने सार्वजनिक स्थानों को कीटाणु रहित करने का निर्देश दिया जा रहा है, ताकि कोरोना के खतरे से लोगों को बचाया जा सके।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली वासियों से अपील की कि सरकार जो फैसले ले रही है, वह कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए ले रही है। मुझे उम्मीद है कि सभी लोग इसमें सरकार की मदद करेंगे। हम देख रहे हैं कि पूरी दुनिया में यह बीमारी कितनी तेजी से फैल रही है। अभी तक कोरोना को फैलने से रोकने में जनता ने काफी सहयोग दिया है। इसी तरह से हम चैकन्ने रहते हैं, तो हमारा देश कोरोना वायरस से खतरे से बच सकता है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.