आई0टी0एस0 इंजीनियरिंग काॅलेज, ग्रेटर नोएडा के ’’बिजनस इन्कूबेटर सेन्टर’’ ने बी.टेक. एवंम एम.बी.ए. छात्रों के लिए ’’एक्सपर्ट टाॅक’’ का आयोजन।

146

इंजीनियरिंग काॅलेज के बिजनस इन्कूबेटर सेन्टर ने बी.टेक. एवंम एम.बी.ए. के अंतिम वर्ष के छात्रों के लिए ’’एम.एस.एम.ई. और रोजगार सृजन में अवसर विषय पर एक विशेषज्ञ टाॅक का आयोजन किया। कार्यक्रम के एक्सपर्ट श्री बृजेश अग्रवाल जी और श्री डी.के. गुप्ता जी थे कि गाजियाबाद में प्रतिष्ठित उद्योगपति और एम.एस.एम.ई. से जुड़े रहे है। वे दोनें सफल उद्यमी हैं और अपने छात्रों के साथ बातचीत करने के लिए उत्साहित थे।
श्री बृजेश कुमार अग्रवाल फांउड्री के राष्ट्रीय संस्थान और ओपन प्रौद्योगिकी, रांची से फाउंड्री और ओपन प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में एक स्नातक इंजीनियर है। उन्होनें कहा कि 1969 के बाद से खुल फोजिंग उद्योग के क्षेत्र में काम कर रहा है और गाजियाबाद में 3 ओपन फोजिंग उद्योग की स्थापना की है। सभी उद्योगों एम.एस.एम.ई. क्षेत्र में थें। वर्तमान में, वह निदेशक की हैसियत से कुज फोर्जिंग (पी) लिमिटेड और श्याम फोजिंग (पी) लिमिटेड में काम कर रहे है। कुज फोजिंग तेल और गैस क्षेत्र के लिए जाली इस्पात उत्पाद बनाती है। यह 1993 के बाद से संयुक्त राज्य अमेरिका, यूरोप, ब्रिटेन, मध्य पूर्व, दक्षिण कोरिया और अन्य देशों को निर्यात कर रहा है। यह गुणवत्ता इन्गट फोजिंग के निर्माण है और कार्बन स्टील, मिश्र घातु इस्पात और सभी ग्रेड के स्टेनलेस स्टील से श्री बृजेश जी ने फोर्ज प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में उनके स्टाटअप के बारे में छात्रों को बताया स्टार्टअप के दौरान आने वाली समस्याओं का कैसे समाना करना है एवं उद्यमिता को कैरियर के लिए चुनने को उन्होंने छात्रों को प्रेरित किया। उन्होनें अपने 40 वर्षो के अनुभव के साथ, जाली इस्पात उत्पादन के निर्यात में भारत के विकास और सफलता के बारे में बताया।
उन्होंने छात्रों को प्रोत्साहित किया कि वे वर्तमान स्थिति का उपयोग करते हुए निक्ट भविष्य में कौशल एवं उद्यमिता के क्षेत्र में आगे बढ़े।
श्री डी.के. गुप्ता जी ने बिट्स पिलानी से इलेक्ट्रिकल और कुप्यूटर इंजीनियरिंग में बी.टेक. ’सम्मान’ किया था ओर उर्वरक और भारत पेट्रोलियम में अपना कैरियर शुरू किया। उन्होंने कई प्रतिष्ठित संगठनों में काम किया है। वे पूर्व में टास्क फोर्स के सदस्य, उपराष्ट्रपित, जे.आर.आई. इंडोनेशिया, यू.एम.के. आॅस्ट्रेलिया, नाइजीरिया, तेल एवं गैस, भारत, एल.एन.जी. क्षेत्र शेल इंटरनेशनल में सलाहकार, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में सी.एन.जी स्टेशनों, भारत ओमान रिफाइनरी लिमिटेड, हल्दिया पेट्रो कलकत्त में कायरते थे। वर्तमान में वह सलाहकार के रूप में एम.एम.ई. के माध्यम से गाजियाबाद, एम.एस.एम.ई. में उद्योग के साथ जुडे हएु है।
श्री डे.के. गुप्ता जी ने इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्राॅनिक्स के बारे में विदेश में विशाल भारत में अवसरों ओर के बारे में छात्रो को बताया। उन्होंने भारत में उद्यमशीलता की संस्कृति के विकास में एम.एस.मए.ई. की भूमिका पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि इनोवेशन को बढावा देने के लिए भारत सरकार द्वारा प्रदान की जाने वाली विभिन्न विकल्पों पर प्रकाश डाला। सरकार और बैंक से सहायता पाने के लिए के विभिन्न नीतियां क्या है।

छात्रों को प्रेरित करने के लिए एवंम कैरियर की एक नई दृष्टि के रूप में इस काय्रक्रम का उच्च महत्व था। यह सत्र निश्चित रूप से छात्रों के लिए बहूत ही जानकारी पूर्ण था। छात्रों के अनेक प्रश्न जैसे बिजन्स के लिए सरकारी सहायताएं, बैंकोे से किस प्रकार की वित्तिय सहायता एवं पेश आ रहे समस्याओं का निराकरण हुआ।

You might also like More from author

Comments are closed.