दिल्ली : केजरीवाल के शपथग्रहण में शिक्षकों को बुलाने पर हुआ विवाद, भड़के कपिल मिश्रा ने किया ट्वीट

ROHIT SHARMA

0 530

आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल रविवार को लगातार तीसरी बार दिल्ली के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण में पीएम मोदी को भी न्योता भेजा गया है।

इसके अलावा शिक्षा निदेशालय ने सर्कुलर जारी कर सरकारी स्कूलों के प्राचार्यों व शिक्षकों को अरविंद केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए रामलीला मैदान पहुंचने का आदेश दिया है।

सर्कुलर जारी होने के बाद विपक्षी दल केजरीवाल पर हमलावर हो गए हैं। भाजपा और कांग्रेस ने केजरीवाल पर हमला बोला है। वही आज भाजपा नेता कपिल मिश्रा ने केजरीवाल पर हमला बोला है , उन्होंने ट्वीट कर इस सर्कुलर पर सवाल उठाए हैं।

उन्होंने लिखा कि सरकार के शपथ ग्रहण में टीचर्स आए ये अच्छी बात है। लेकिन सरकारी आर्डर निकालकर जबरदस्ती टीचर्स को लाया जाए, टीचर्स की हाजिरी रामलीला मैदान में लगाई जाए, ये एक गलत परंपरा की शुरुआत है। शपथ ग्रहण को ऐसे “अनावश्यक ग्रहणों” से मुक्त रखना चाहिए।

आपको बता दें कि शिक्षा निदेशालय ने सर्कुलर जारी कर सरकारी स्कूलों के प्राचार्यों व शिक्षकों को अरविंद केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए रामलीला मैदान पहुंचने का आदेश दिया है। शिक्षा निदेशालय के सर्कुलर में कहा गया है कि प्राचार्यो व शिक्षकों की हाजिरी 16 फरवरी को रामलीला मैदान के प्रवेश द्वार पर लगेगी।

कांग्रेस के प्रवक्ता मुकेश शर्मा ने भी ट्वीट कर कहा कि शपथ ग्रहण में भीड़ जुटाने के लिए शक्ति का दुरुपयोग किया जा रहा है। शर्मा ने उपराज्यपाल से इसकी जांच कराने की मांग की है। वहीं, शिक्षा निदेशालय ने इन आरोपों के जवाब में कहा है कि शिक्षा के क्षेत्र में योगदान के लिए शिक्षकों को सम्मान स्वरूप शपथ ग्रहण में बुलाया गया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.