जिला अस्पताल की महिला सुरक्षाकर्मी ने डीएम से लगाई मदद की गुहार

Abhishek Sharma

0 86

जिला अस्पताल की महिला सुरक्षाकर्मी ने मदद के लिए जिलाधिकारी से गुहार लगाई है। पीड़िता का आरोप है कि उन्होंने मारपीट करने वाली महिला पुलिसकर्मियों की थाने में पहुंचकर शिकायत की तो पुलिस ने उल्टा उन्हें ही एफआइआर दर्ज कर जेल भेजने की धमकी देकर भगा दिया।

महिला थाने में भी सुनवाई नहीं हुई है। वह डीएम कैंप कार्यालय भी पहुंची, लेकिन वहां पर डीएम भी नहीं मिले।

मूल रूप से देवरिया निवासी प्रेमवती पत्नी कृष्णा जिला अस्पताल में सुरक्षाकर्मी हैं और पति के साथ सेक्टर-11 में रहती हैं। प्रेमवती के भाई प्रभाकर भी जिला अस्पताल में ही सुरक्षाकर्मी हैं और सेक्टर-8 में किराये पर रहते हैं।

आरोप है कि प्रेमवती आठ जून को जिला अस्पताल से ड्यूटी खत्म कर शाम पांच बजे अपने भाई प्रभाकर से मिलने सेक्टर-8 गई थी, भाई के घर से थोड़ी दूरी पर वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने अंदर जाने से रोक दिया।

आरोप है कि उन्होंने जिला अस्पताल का कार्ड दिखाकर आगे जाने की अनुमति मांगी तो वहां मौजूद महिला पुलिसकर्मियों ने पिटाई कर दी। प्रेमवती का कहना है कि उन्होंने 100 नंबर पर कॉल कर पुलिस बुलाई, लेकिन सुनवाई नहीं हुई।

सीएमएस डॉ. वंदना शर्मा से शिकायत कर अपना मेडिकल कराया और बृहस्पतिवार को सेक्टर-20 थाने पहुंचीं लेकिन, वहां एफआइआर दर्ज नहीं हुई।

सेक्टर 20 के थाना प्रभारी राकेश सिंह का कहना है कि महिला सुरक्षाकर्मी ने महिला पुलिसकर्मियों के साथ बदसलूकी की थी, दोनों पक्षों के बीच खींचतान भी हुई। दोनों की शिकायत मिली है। क्रॉस केस दर्ज कर कार्रवाई करने की तैयारी की जा रही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.