- Advertisement -

नेफोवा ने ग्रेटर नोएडा वेस्ट में सरकारी मल्टी स्पेशलिटी अस्पताल बनवाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार को लिखा पत्र

Ten News Network

नेफोवा ने आज गौतम बुद्ध नगर जिले में 6 नए सामुदायिक केंद्र एवं ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक सरकारी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल की मांग को लेकर जिलाधिकारी के माध्यम से योगी सरकार को पत्र लिखा |

नेफोवा अध्यक्ष अभिषेक कुमार ने बताया कि पिछले 5-6 साल में ग्रेनो वेस्ट की जनसँख्या हज़ारों से बढ़ कर लाखों में हो गयी है। इस क्षेत्र में अभी करीब 60-70 हाई राइज सोसाइटियाँ हैं जहाँ कुल फ्लैट के हिसाब से लगभग आधी आबादी ही आयी है।

उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में लगभग इतनी ही सोसाइटियाँ निकट भविष्य में बन कर तैयार होने को हैं। ग्रेटर नोएडा वेस्ट की वर्तमान जनसँख्या लगभग 4 लाख के आसपास है जो आने वाले 3-4 साल में लगभग दोगुनी हो जाएगी। परन्तु बड़े खेद के साथ बताना पड़ रहा कि यहाँ कोई भी सरकारी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल नहीं है। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में सरकारी स्वास्थ्य सेवाओं के नाम पर एकमात्र बिसरख स्वास्थ्य केंद्र है जहाँ स्वास्थ्य सुविधाओं का घोर आभाव है।

नेफोवा अध्यक्ष ने कहा बिसरख स्वास्थ्य केंद्र में ना तो एक्सरे की सुविधा है, ना अल्ट्रासाउंड की, यहाँ तक प्रसूति ऑपरेशन की सुविधा भी नहीं है। बिसरख स्वास्थ्य केंद्र में तो अलग अलग विभाग के डॉक्टरों का भी आभाव है।

नेफोवा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष मनीष कुमार ने बताया कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट में सरकारी स्वास्थ्य सुविधाओं के आभाव के कारण निजी अस्पतालों का व्यवसाय काफी अच्छे से फल-फूल रहा है।

क्योंकि लोगों को इलाज कराने के लिए ग्रेटर नोएडा वेस्ट के एकमात्र निजी अस्पताल अथवा नोएडा, ग्रेटर नोएडा (ईस्ट) और ग़ाज़ियाबाद के निजी अस्पतालों का रुख करना पड़ता है। निजी अस्पतालों में इलाज के लिए मोटे बिल का खर्च उठाना भी सब के बस की बात नहीं।

नेफोवा ने गौतमबुद्ध नगर जिलाधिकारी से अनुरोध किया है कि जिले में 6 नए सामुदायिक केंद्र बनाने के साथ ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक सरकारी मल्टी-स्पेशलिटी अस्पताल का निर्माण कराने का प्रस्ताव भी उत्तर प्रदेश सरकार को भेजा जाए जिससे ग्रेटर नोएडा वेस्ट निवासियों को स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ मिले।

Leave A Reply

Your email address will not be published.