हवा में उडा एनजीटी का आदेश, नोएडा-ग्रेटर नोएडा में लोगों ने जमकर फोडे पटाखे, समाजसेवियों ने दी प्रतिक्रिया

ABHISHEK SHARMA

0 79

नोएडा :– नोएडा-ग्रेटर नोएडा में दीपावली की रात लोगों ने जमकर पटाखे चलाए। हालांकि एनजीटी द्वारा बिक्री पर रोक लगाई गई थी, लेकिन उसका असर दिखा नहीं। आदेशों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई गईं।

 

पुलिस प्रशासन द्वारा लोगों को गिरफ्तार भी किया गया और बिक रहे पटाखों को कब्जे में भी लिया गया है। नोएडा में दीवाली के मौके पर शाम से ही लोगों द्वारा पटाखें जलाए गए। शहरवासियों ने घरों से बाहर निकल कर देर रात कर जमकर आतिशबाजी की।

पुलिस प्रशासन की मुस्तैदी देख लोगों के मन में डर तो जरूर दिखा, लेकिन दीपावली पर चोरी-छिपे पटाखे भी खूब बिके। बिक्री को रोकने के लिए पुलिस गश्त करती रही, दुकानदारों से पूछताछ भी करती रही। उसके बावजूद भी कई दुकानदारों ने पटाखे बेचे।

 

जिले में इस बार कुछ अलग ढंग से भी आतिशबाजी की गई, लोगों द्वारा इस बार लोहे की डाई बनाकर उसमें पोटाश भरकर पटाखों के रूप में इस्तेमाल किया। यानी बिना माचिस की तिल्ली या आग जलाए जिले में विभिन्न जगह आतिशबाजी हुई। जिले में ग्रीन पटाखों की जगह जमकर अवैध पटाखे भी चलाए गए।

 

एनजीटी द्वारा आतिशबाजी पर पाबंदी के बावजूद पटाखे जलाए जाने पर नोएडा-ग्रेटर नोएडा के प्रबुद्ध जनों ने प्रतिक्रिया दी और पुलिस प्रशासन के ढीले रवैये को लेकर सवाल उठाए।

एक्टिव सिटीजन टीम के सदस्य आलोक सिंह ने कहा कि जिस तरह एनजीटी ने जिला और पुलिस प्रशासन को सख्त आदेश दिए थे कि दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर में पटाखे बेचने और आतिशबाजी नही होनी चाहिए। लेकिन इस आदेश का पालन पुलिस और जिला प्रशासन के द्वारा नही किया गया। पुलिस और दिन गस्त पर रहती थी, लेकिन दीवाली पर पुलिस गायब हो गई। ऐसा लगा कि पटाखे जलाने पर कोई प्रतिबंध नही था। लोगों ने पहले की तरह पटाखे जलाए।

वहीं नोएडा के मशहूर समाजसेवक एवं प्रतीक विस्टिरिया  सोसायटी के अध्गुयक्ष प्ता का कहना है कि कानून लोगों द्वारा तोड़ा गया है। प्रतिबंध होने के बाबजूद भी आतिशबाजी हुई। पुलिस देखती रही, लेकिन कोई कार्यवाही उचित तरीके से नही की गई । पुलिस दर्शकों की तरह आतिशबाजी देख रही थी, लोग कानून तोड़ रहे थे। अब इस मामले में एनजीटी को कार्यवाही करनी चाहिए ।

फोनरवा के महासचिव केके जैन ने कहा कि हम पता था, पटाखे प्रतिबंध होने के बाबजूद भी लोग आतिशबाजी करेंगे। मैने खुद लोगों को मना किया कि पटाखे न फोडें। फिर भी लोगों को एहसास नही है कि पटाखे फोड़ने से कितना प्रदूषण बढ़ता है। इसके बावजूद भी पटाखे जला रहे थे । पुलिस द्वारा कार्यवाही भी की गई, लेकिन लोग नही माने।

Leave A Reply

Your email address will not be published.