नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी के कार्य और कार्यशैली – क्या कहते है नोएडा प्रहरी – टेन न्यूज़ की विशेष रिपोर्ट

ABHISHEK SHARMA

0 1,507

Noida (22/08/2019) : नोएडा प्राधिकरण की नवनियुक्त मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी को नोएडा का चार्ज संभाले हुए 1 माह से अधिक समय बीत चुका है। अपने 1 महीने के कार्यकाल के दौरान उन्होंने नोएडा की कायापलट कर दी है।

ज्ञातव्य है कि रितु माहेश्वरी नोएडा प्राधिकरण की सीईओ बनने से पहले गाजियाबाद में जिला मजिस्ट्रेट के रूप में कार्यरत थी। उन्होंने नोएडा प्राधिकरण में आलोक टंडन की जगह ली है, हालांकि आलोक टंडन अभी भी नोएडा प्राधिकरण के अध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं।

गाजियाबाद में जिला मजिस्ट्रेट कार्यकाल के दौरान उन्होंने लोगों की भलाई के लिए कई अहम फैसले लिए और उन्होंने लगातार गाजियाबाद के विकास को सर्वोपरि रखा।  उन्होंने नोएडा प्राधिकरण का चार्ज  संभालने के बाद पहले ही दिन से औचक निरीक्षण शुरू कर दिए। अतिक्रमण हो या अवैध पार्किंग, उन्होंने इन सब चीजों पर कड़ा एक्शन लिया है।



हैरानी की बात तो यह है कि उन्होंने नोएडा प्राधिकरण के कुछ अधिकारियों को लापरवाही के चलते कार्यभार से मुक्त भी किया है।  उन्होंने अपने इस निर्णय से साफ जाहिर कर दिया है कि अगर प्राधिकरण में कार्यरत रहना है तो कार्य इमानदारी के साथ करना ही होगा।

इस बारे में टेन न्यूज़ ने नोएडा के वरिष्ठ  समाजसेवियों  से बात की और जाना की नोएडा प्राधिकरण की नवनियुक्त  सीईओ के कार्यकाल को किस तरह से देखते हैं।

इस बारे में फोनरवा के पूर्व अध्यक्ष एन.पी सिंह का कहना है कि रितु माहेश्वरी बेहद तेज तर्रार अफसर हैं और नोएडा को ऐसे अफसरों की बेहद जरूरत थी। जो उनके आने पर पूरी हो गई है। वे लगातार औचक निरीक्षण कर रही हैं और भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने से नहीं चूक रही हैं।

वही, फोनरवा के नवनियुक्त अध्यक्ष योगेंद्र शर्मा का कहना है कि यह हमारा सौभाग्य है, जो नोएडा प्राधिकरण को एक ईमानदार छवि की अधिकारी मिली हैं। जबसे उन्होंने नोएडा का चार्ज संभाला है तब से ही लगातार दिन रात यहां के विकास के लिए कार्य कर रही हैं।  हम आशा करते हैं कि वह नोएडा को नई ऊंचाइयों तक लेकर जाएं।

नोएडा विलेज रेजिडेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष रंजन तोमर का कहना है कि प्राधिकरण की सीईओ लगातार अच्छा कार्य कर रही हैं। उन्होंने शहर में से कई जगह अतिक्रमण को साफ भी किया है। लेकिन अतिक्रमण हटाने के दो दिन बाद ही वहां पर फिर से वही स्थिति पैदा हो गई है। उन्हें इस ओर विशेष ध्यान देना चाहिए। उनका कहना है कि सीईओ को नोएडा के ग्रामीण क्षेत्रों के ऊपर भी विशेष ध्यान देने की जरूरत है। यहां पर कई ऐसे किसान हैं जिन्होंने अपनी जमीन का मुआवजा नहीं उठाया है और कोर्ट में केस चल रहा है। हम उनसे उम्मीद करते हैं कि वे जल्द से जल्द किसानों की समस्या का निस्तारण करें।

वही  फोनरवा के महासचिव के.के जैन का कहना है कि जब से रितु माहेश्वरी ने नोएडा प्राधिकरण का चार्ज संभाला है तब से ही लगातार वे अच्छे कार्य कर रही हैं। उनका कहना है कि सीईओ फोनरवा के साथ भी अच्छा तालमेल बनाकर चल रही हैं। उनका कहना है कि नोएडा के कई सेक्टरों में कम्युनिटी सेंटर बनाने, पार्कों की साफ सफाई के लिए भी उनसे बातचीत हुई है और उन्होंने हमें भरोसा दिलाया है कि वे जल्द इस पर कोई ना कोई एक्शन जरूर लेंगी।

इस बारे में अपने विचार रखते हुए कोनरवा अध्यक्ष पी.एस जैन का कहना है कि नोएडा प्राधिकरण की सीईओ अच्छा कार्य कर रही हैं। उनकी नियुक्ति के बाद अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है, जो कि एक बेहद अच्छा कदम है। हॉर्टिकल्चर पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। वहीं उनके बाद से प्राधिकरण के अधिकारियों की जवाबदेही भी बढ़ गई है। प्राधिकरण की सीईओ लोगों की समस्याएं सुनती हैं और उनका समाधान भी दिलाया जाता है।

वही नोफा के महासचिव प्रोफेसर राजेश सहाय का कहना है कि सीईओ रितु माहेश्वरी के आने के बाद धीरे-धीरे विकास कार्य पटरी पर आ रहा है। भ्रष्ट अधिकारियों पर लगाम कसी जा रही है। वे अपने अधिकारियों पर कार्यवाही करने से भी नहीं चूक रही हैं। उनका कहना है कि सीईओ के बारे में मुझे जो सबसे अच्छी बात लगी वह उनका सेक्टरों में औचक निरीक्षण करना है। वह अपने किसी भी अधिकारी को इसके बारे में सूचना नहीं देती है और खुद मौके पर पहुंचकर मुआयना करती हैं।

नव ऊर्जा युवा संस्था के वरिष्ठ कार्यकर्ता अतुल चौधरी का कहना है कि नोएडा प्राधिकरण की नवनियुक्त  मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी का अब तक का कार्यकाल बेहद सराहनीय रहा है। उन्होंने यहां पर चार्ज संभालने के बाद सबसे पहला कार्य जो किया वह है कि उन्होंने नोएडा प्राधिकरण के ट्विटर हैंडल को फिर से जीवित किया और वे ट्विटर पर लोगों की शिकायतें सुन रही हैं और उनका समाधान भी दिला रही हैं।

दूसरा काम उन्होंने नोएडा में पावर चार्जिंग स्टेशन स्थापित किए। जिससे की नोएडा में इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा मिलेगा और प्रदूषण के स्तर में भारी घटोतरी देखने को मिलेगी।  उनका कहना है कि सीईओ ने सेक्टर 110 में 55 करोड़ की जमीन पर अवैध रूप  से कब्जे को हटवाया  है, जो काम अब तक कोई अधिकारी नहीं कर सका वह रितु माहेश्वरी करके दिखा रही हैं।

नवरत्न फाउंडेशन के अध्यक्ष अशोक श्रीवास्तव का कहना है कि नोएडा प्राधिकरण की नवनियुक्त सीईओ का कार्य औसतन रहा है। उनका कहना है कि एक अधिकारी को जो कार्य करने चाहिए वह उन्हीं कार्यों को कर रही हैं। अभी तक उन्होंने ऐसा कोई कार्य नहीं किया है जिससे लगे की यह अद्भुत कार्य है।

सेक्टर 18 मार्केट एसोसिएशन के अध्यक्ष एसके जैन का कहना है कि सीईओ रितु माहेश्वरी की नियुक्ति के बाद जमीनी स्तर पर कई बदलाव देखने को मिले हैं। उन्होंने अतिक्रमण को लेकर अभियान चला रखा है, जो कि बेहद सराहनीय कार्य है। हम उनसे उम्मीद करते हैं कि वे लगातार यहां के निवासियों की भलाई एवं विकास के लिए कार्य करती रहे।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.