- Advertisement -

नोएडा प्राधिकरण और फोनरवा के प्रयासों से अब समय पर मिल रहे हैं ऑक्सीजन सिलेंडर , लोगों ने दी प्रतिक्रिया

Ten News Network

0 276

नोएडा :– कोरोना संकट से लोगों को बचाने के लिए फोनरवा द्वारा शुरू की गई मुहिम से लगभग 4 दर्जन सेक्टर जुड़ गए है। फोनरवा की तरफ से लगातार सेक्टरों में जरुरत मंद लोगो तक समय पर ऑक्सिजन पहुंचाने का काम किया जा रहा है। जिसको देखते हुए नोएडा प्राधिकरण भी फोनरवा को सहयोग दे रहा है।

 

फोनरवा महासचिव ने टेन न्यूज़ से बातचीत में बताया कि शुरू में हमें ऑक्सीजन को लेकर काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। उन्होंने कहा कि मैं खुद ऑक्सीजन के लिए इधर-उधर भटका और बड़ी मुश्किल से जाकर कहीं ऑक्सीजन मिली, तो उसके लिए भी मुझे ज्यादा पैसे देने पड़े थे, लेकिन अब नोएडा अथॉरिटी के सहयोग से हमें ऑक्सीजन के लिए कहीं भटकना नहीं पड़ रहा है। सेक्टर 95 स्थित ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट में हम ऑक्सीजन के खाली सिलेंडरों को पहुंचा देते हैं। जिसके 2 से 3 घंटे में, हमें भरे हुए ऑक्सीजन सिलेंडर मिल जाते हैं।

 

केके जैन ने कहा, पहले लोग ऑक्सीजन सिलेंडर को घर में स्टोर करके रख लेते थे। जिसके कारण लोगों को ऑक्सीजन के लिए परेशानी हो रही थी, लेकिन अब कोई ऑक्सीजन सिलेंडर लेकर चला भी जाता है तो उसकी जरूरत खत्म होने के बाद वह वापस कर देता है, जिसके चलते ऑक्सीजन की समस्या में सुधार हुआ है।

 

आगे फोनरवा महासचिव ने कहा की, हमने प्राधिकरण से मांग की थी की सेक्टरों में स्थित कम्युनिटी हॉल को कॉविड केयर सेंटर बनाने की परमिशन दी जाए। जिसको लेकर, नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी के सहयोग से हमें परमिशन मिल गई है।

 

नोएडा प्राधिकरण के ओएसडी संतोष उपाध्याय ने टेन न्यूज़ से बातचीत में कहा की, नोएडा में ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए प्राधिकरण की तरफ से, जो भी प्रयास किए गए थे, वह सफल होते हुए नजर आ रहे हैं। अब लोगों को ऑक्सीजन के लिए इतना ज्यादा परेशान नहीं होना पड़ रहा है। उन्हें ऑक्सीजन आराम से प्राप्त हो जा रही है। उन्होंने कहा इसके पीछे यह कारण है, कि अब लोग ऑक्सीजन सिलेंडर स्टोर नहीं कर रहे हैं। पहले लोग दो या तीन सिलेंडर अपने घर में ही स्टोर कर लेते थे। जिसके कारण दूसरे लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर नहीं मिल पाता था।

 

संतोष उपाध्याय ने बताया कि नोएडा सेक्टर 95 में ऑक्सीजन रिफिलिंग प्लांट की शुरुआत की गई थी। जिससे अब लोगों को कम समय में और कम पैसे में ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा रही है। जिसके कारण लोगों के पैसे और समय दोनों की बचत हो रही है। उन्होंने कहा कि प्राधिकरण के सहयोग से नोएडा में प्रतिदिन 2000 सिलेंडरों का वितरण किया जा रहा है और आगे जरूरत पड़ी तो इस तरह के और भी प्लांट शुरू किए जा सकते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.