नर्सिंग छात्र संगठन ने कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच दिल्ली में किया धरना प्रदर्शन, यह रखी मांगे

Abhishek Sharma / Harinder Singh

0 141

कोरोना वायरस के बढ़ते खौफ को देखते हुए एक ओर जहां दिल्ली सरकार ने 50 लोगों को एक साथ इकट्ठा न होने के आदेश दिए हैं । वहीं दूसरी ओर आज दिल्ली के जंतर-मंतर पर नर्सिंग छात्र संगठन द्वारा पूरे देश के नर्सिंग चिकित्सा एवं नर्सिंग शिक्षा क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं के निराकरण के लिए धरना प्रदर्शन किया।

संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष गोपाल पाराशर ने बताया कि संगठन द्वारा विभिन्न मांगों जैसे सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार नर्सिंग स्टॉफ के वेतनमान व सुविधाओं हके लिए संसद से कानून बनवाने , सी . आई . बी की भेदभाव सिफारिशों को वापिस लेने , इंडियन आर्मी में मेल नर्स की भर्ती शुरू करवाने , संविदा जैसे प्रथाओं को खत्म कर केवल स्थायी नर्सिंग स्टॉफ की नियुक्ति , इंडियन नर्सिंग काउंसिल एक्ट 1947 में संशोधन कर इडियन नर्सिंग काउंसिल नई दिल्ली को पूरे देश के नर्सिंग कॉलेजों को मान्यता देने का अधिकार देने जिससे भ्रष्टाचार पर लगाम लग सके।

उनका कहना है, नर्सिंग स्टॉफ को प्राथमिक उपचार करने के लि दवाई लिखने व रखने का अधिकार देने हेतु कानून बनवाने, जिससे झोलाछाप डॉक्टरों से मुक्ति मिल सके, समान कार्य समान वेतन हेतु कानून बनवाने हेतु दिल्ली में कई बार प्रधानमंत्री कार्यालय और केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री को ज्ञापन दिये गये है। पूरे देश के नर्सिंग चिकित्सा शिक्षा एवं नर्सिंग शिक्षा क्षेत्र की विभिन्न मांगों को जल्द से जल्द पूरा करने का निवदेन किया गया , लेकिन अभी तक कोई भी कार्यवाही नहीं की गई है।

जबकि देश में नसिंग क्षेत्र की हालत बहुत बदतर है। नर्सिंग स्टॉफ घातक से घातक बीमारी के मरीज के नजदीक रहकर इलाज करता है। इससे सबसे ज्यादा जोखिम नर्सिंग स्टॉफ को होता है। फिर भी नर्सिंग स्टॉफ को पर्याप्त वेतनमान व सुविधायें नहीं मिल रही है । इस कारण संगठन द्वारा आज दिल्ली में धरना प्रदर्शन किया गया और प्रधानमंत्री को ज्ञापन सौंपकर आग्रह किया गया है कि संगठन की सभी मांगों को जल्द से जल्द पूरा किया जाये।

अगर अभी भी संगठन की मागे नहीं मानी गई तो संगठन द्वारा आगामी दिनों में भूख हड़ताल व संसद का घेराव किया जायेगा। कोरोनावायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच जहां एक तरफ एक तरफ नर्सिंग स्टाफ की जरूरत है। ऐसे में यह लोग अपनी मांगों को लेकर धरने पर बैठ गए हैं। इनका कहना है कि संगठन से जुड़े कार्यकर्ता पूरे देश में अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.