- Advertisement -

ग्रेनो वेस्ट में हायराइस सोसाइटी के निवासियों पर गर्मी की दोहरी मार, रात में बिजली कटने से परेशान पंचशील ग्रीन्स 2 सोसाइटी के निवासी

Ten News Network

ग्रेटर नोएडा: जहां एक तरफ लोग बारिश ना होने के कारण इस भीषण गर्मी से जूझ रहे हैं वहीं दूसरी तरफ पंचशील ग्रीन्स 2 सोसाइटी के लगभग 1700 परिवार बिना बिजली के रात काटने को मजबूर हो रहे हैं। कमोबेश यही स्थिति पिछले 3 साल से हर गर्मी में हो रही है।

सोसाइटी के निवासियों का कहना है कि बिल्डर ने एनपीसीएल से कम लोड लेकर काफी ज्यादा फ्लैटों में कनेक्शन दिया हुआ है। जिसके कारण यह ट्रिपिंग की घटना होती रहती है और बिल्डर निवासियों को यह कह कर टालता रहता है कि दिक्कत एनपीसीएल की तरफ से है, जबकि एनपीसीएल अपनी तरफ से फॉल्ट होने की घटना से इनकार कर रहा है।

गौरतलब है कि इसी बिजली कनेक्शन के नाम पर हर फ्लैट ओनर से हैंडोवर लेते समय मोटी रकम ली गयी था। इससे जहां एक तरफ सरकारी खजाने को चपत तो लग ही रही है दूसरी तरफ बिल्डर करोड़ों रुपए अपनी पॉकेट में डाल रहा है।

निवासियों ने बताया कि मंगलवार की रात जब बिजली कटने से परेशान होकर सोसाइटी में अंधेरा रहने के मुद्दे पर निवासी इसकी शिकायत मेंटेनेंस जीएम अरुण धीमान से करते हैं तो वह फोन पर गाली गलौज करना शुरू कर देता है और देख लेने की धमकी देता है।

उन्होंने कहा वैसे तो इस सोसाइटी के मेंटेनेंस स्टाफ पहले से बदतमीज तो थे ही परंतु जब से उनके एक डायरेक्टर गौतम बुध नगर जिला पंचायत अध्यक्ष चुनकर आए हैं, यह अब किसी को कुछ भी समझने को तैयार ही नहीं है। परसों रात जब गाली गलौज की शिकायत 112 नंबर पर पुलिस को दी गई तो जीएम अरुण धीमान ने पीसीआर से आए हुए पुलिस वाले को यह कहा कि “2 मिनट में तुम्हारे पास एसएचओ का फोन आ जाएगा”।

निवासियों का कहना है कि कल रात भी यही स्थिति बनी रही और निवासी रात 2 बजे तक मेंटेनेंस की टीम से बात करने के लिए मेन गेट पर खड़े रहे परंतु कोई भी अधिकारी मिलने नहीं आया। जिसके कारण सोसाइटी के लोगों में काफी रोष है।

लोगों का यह भी कहना है कि बिजली की इस घटना से घर में छोटे बच्चे और बुजुर्ग को सबसे ज्यादा तकलीफ हो रही है साथ ही वर्क फ्रॉम होम कर रहे लोगों को बहुत ज्यादा दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है और इस महामारी में ना चाहते हुए भी निवासियों के अंदर गुस्सा फूट रहा है |

Leave A Reply

Your email address will not be published.