आरपीएस इंटरनेशनल स्कूल का वार्षिकोत्सव “आदि उत्सव” का हुआ आयोजन, डीएम बीएन सिंह ने किया छात्रों का मार्गदर्शन

ABHISHEK SHARMA / BAIDYANATH HALDER

0 473

Greater Noida : ग्रेटर नोएडा स्थित आरपीएस इंटरनेशनल स्कूल द्वारा “आदि उत्सव 2019” का आयोजन गौतम बुद्ध विश्वविद्यालय के सभागार में आयोजित किया गया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में गौतम बुध नगर के जिलाधिकारी बीएन सिंह मौजूद रहे। कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथि द्वारा दीप प्रज्वलन कर की गई। वही कार्यक्रम में परी चौक डॉट कॉम के संस्थापक गजानन माली भी उपस्थित रहे हैं।

इस दौरान आरपीएस इंटरनेशनल स्कूल के चेयरमैन व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय चौधरी द्वारा शॉल उड़ाकर व फूलों का गुलदस्ता देकर मुख्य अतिथि को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत नन्हे छात्रों द्वारा गणेश वंदना के गायन के साथ की गई। वही प्री नर्सरी के बच्चों ने स्वागत नृत्य के साथ सभागार में उपस्थित सभी लोगों का स्वागत किया।

इस दौरान मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद रहे गौतम बुध नगर के जिलाधिकारी बी एन सिंह ने मौके पर उपस्थित छात्रों एवं अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि आरपीएस इंटरनेशनल स्कूल के बच्चों को आदि उत्सव की शुभकामनाएं देता हूं, एवं उनके उज्जवल भविष्य की कामना के साथ यही कहना चाहता हूं कि छात्र जीवन व इंसान जिस ओर ढलता है, वही उसका भविष्य तय करता है।

छात्र जीवन में छात्रों को अपने दिमाग में अपने करियर के बारे में सोच कर रखना चाहिए कि उसे जिंदगी में करना क्या है। वहीं उन्होंने कहा कि आजकल अक्सर देखा जाता है स्कूलों में कई प्रकार की विचित्र घटनाएं घटित हो रही हैं। ऐसी घटनाओं पर अभिभावक बहुत जल्दी उत्तेजित हो जाते हैं एवं स्कूल के खिलाफ धरना प्रदर्शन करने पर उतारू हो जाते हैं। ऐसे में सभी अभिभावकों से कहना चाहूंगा कि बच्चे की बात सुनकर अति उत्तेजित न हों। बल्कि बच्चे की बात सुनने के बाद स्कूल प्रबंधन से भी एक बार इस बारे में बातचीत कर लेनी चाहिए।

डीएम ने कहा कि अभिभावकों में समाज के प्रति रक्षात्मक सोच रखनी बेहद जरूरी है। अभिभावकों को बच्चों के प्रति बेहद सजग रहने की जरूरत है। शुरुआत से ही बच्चों को अच्छी और बुरी चीजों के बारे में जरूर बताएं। जिससे कि बच्चे के अंदर अच्छे और बुरे को पहचानने की क्षमता आ सके। इसके लिए सबसे जरूरी है कि सभी अभिभावक अपने बच्चों को समय दें। आपको अपने बच्चों के बीच बैठना बेहद जरूरी है।

डीएम ने कहा कि मां बाप जब बूढ़े हो जाते हैं तो उनकी औलाद उन्हें घर से बाहर निकाल देती है। ऐसी घटनाएं पहले भी होती थी, लेकिन पिछले कुछ समय से इस प्रकार की घटनाएं बड़े पैमाने और बड़े ही स्पष्ट रूप से देखने को मिल रही हैं। इन चीजों को अगर बचपन में ही एक बच्चे को सिखाया जाए तो बच्चा शुरू से ही समाज के बारे में पूछ कर चलता है तथा उसे हर चीज का ज्ञान सिर्फ आपके द्वारा मिल सकता है। जो कि आप बच्चों के साथ बैठकर उन्हें सिखा सकते हैं।

बच्चों को सिर्फ दो ही लोग समझा सकते हैं। “घर पर अभिभावक स्कूल में अध्यापक”। यह चीज इतनी मजबूत होगी आपका बच्चा उतना ही बड़ा बनेगा, इस प्रकार के पूरे चांस होते हैं। मेरा यह मानना है कि कोई भी स्कूल और अध्यापक बच्चे के जीवन में बहुत बड़े सहयोगी होते हैं। बच्चे का जीवन बड़े स्कूल के नाम और स्ट्रक्चर से महान नहीं बनता है बल्कि बच्चे को मोरल वैल्यू सिखाई जाए तो छोटे स्कूल से भी बड़े लोग बन सकते हैं।

डीएम ने कहा कि मैं अभिभावकों से कहना चाहूंगा कि आज के समाज में जिस प्रकार की भी घटनाएं घटित हो रही हैं उनके बारे में अपने बच्चों को जरूर बताएं एवं उनके नुकसान व फायदे उनको सिखाने चाहिए जिससे वे अच्छे और बुरे में फर्क समझ सके।

आदि उत्सव कार्यक्रम में नर्सरी के बच्चों द्वारा सलाला डांस, वेंगा बॉयज, बाहुबली डांस की प्रस्तुति दी। वही नन्हे बच्चों ने ट्रैफिक नियमों के बारे में जागरूक करने के लिए नाटक प्रस्तुत किया। वहीं दूसरी कक्षा की हिमांशी ने पंजाबी मैश अप पर जबरदस्त नृत्य की प्रस्तुति दी। सभागार उस समय तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज गया , जब नन्हे बच्चों ने पुलवामा अटैक के बाद एयर स्ट्राइक को दर्शाया।

वहीं आरपीएस इंटरनेशनल स्कूल के चेयरमैन अजय चौधरी ने उपस्थित सभी लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज हम स्कूल का 12वां वार्षिकोत्सव मना रहे हैं। उन्होंने कहा कि बच्चों ने कार्यक्रम में जिस प्रकार की प्रस्तुतियां दी हैं, वह बेहद शानदार हैं। उन्होंने कहा कि प्रस्तुतियों के मामले में अगर बच्चों को 10 में से अंक दिए जाएं तो वह 10 अंक देंगे।

उन्होंने कहा कि 30-40 साल के अनुभव में इससे शानदार प्रस्तुति मैंने कहीं नहीं देखी। इन प्रस्तुतियों के पीछे बच्चों की कितनी कड़ी मेहनत है, यह हम सोच भी नहीं सकते। बच्चों ने शानदार प्रस्तुति देने के लिए घंटो घंटो कड़ी मेहनत कर इस प्रस्तुति को तैयार किया।

उन्होंने कहा कि बच्चे ही कार्यक्रम का संचालन कर रहे थे जो कि बेहद शानदार तरीके से अपने काम को उन्होंने निभाया है। हम इस उम्र में स्टेज पर खड़े होने में भी घबराते थे। समय के साथ बड़े बड़े बदलाव हो रहे हैं। जो अपने आप को सूरमा कहते हैं वह भी स्टेज पर आकर अटक जाते हैं। लेकिन बच्चों ने बिना संकोच, बिना झिझक, बिना किसी डर के अपना शत-प्रतिशत देकर मंच का संचालन किया है। मैं कहना चाहता हूं कि यही संचालन बच्चों के भविष्य में मील का पत्थर साबित होगा।

RPS International School Greater Noida | Sports Day Photo Highlights

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.