- Advertisement -

एक लाख कौशल से जोड़ने वाले स्किलबुक मोबाइल / वेब ऐप का शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती करेंगे देशार्पण

Ten News Network

दिल्ली – विद्यार्थी और किसानों के लिए मुळे अन्ना सोशल फाउंडेशन की मदद से स्किलबुक यह आंतरराष्ट्रिय प्रणाली बनाई गई है | यह एक ऐसा उपकरण है जो शिक्षा के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव लाएगा |

डॉ. किरण प्रकाश झरकर शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, वाशी जिला, उस्मानाबाद में शिल्प निदेशक पद पर कार्यरत हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी स्किल इंडिया योजना को गति देने के लिए डॉ. झरकर पिछले चार साल से अत्याधुनिक संगणकिय प्रणाली स्किलबुक पर संशोधन कर रहे हैं।

राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के सदस्य डॉ. ज्ञानेश्वर मुळेजी के मार्गदर्शन में स्किल बुक इस संगणकिय प्रणाली बनाई गई है। औरंगाबाद स्थित मुळे अन्ना फाउंडेशन के संस्थापक अध्यक्ष रमेश अन्ना मुळे ने अपनी सामाजिक प्रतिबद्धता से कोरोना काल में लाखों लोगों की मदद की थी | कोरोना ने कई क्षेत्रों में कई बड़े बदलाव किए हैं।

स्किल बुक एक विद्यार्थी और किसानों को एक लाख कौशल्योसे जोड़ने का डिजिटल माध्यम है । यह मोबाइल एप्लिकेशन, कंप्यूटर वेब पोर्टल और इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों के माध्यम से उपलब्ध होगा । स्किल बुक प्रणाली मुख्य रूप से विद्यार्थी और किसानों के लिए एक लाख कौशल्योका एक नेटवर्क तैयार करेगा। इसमें स्किल पब्लिशिंग, ट्रेनिंग, कोर्स, सर्टिफिकेट, जॉब, अप्रेंटिसशिप, सर्विसेस और स्टार्टअप होंगे।

स्किल बुक प्रकल्प को केंद्र सरकार के स्टार्टअप इंडिया योजनामें स्मितकिरण पब्लिशिंग प्राइवेट लिमिटेड द्वारा डीप प्रमाणपत्र प्राप्त है । कंपनी को अगले दस वर्षों के लिए कौशल विकास और उद्यमिता शिक्षा विभाग के लिए चुना गया है । स्किल बुक प्रकल्प का लोगो दिल्ली में पहले ही प्रकाशित किया जा चुका है। शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान से शिल्प निदेशक डॉ. झरकर द्वारा बनाई गई यह पहली वैश्विक परियोजना है ।

जगन्नाथ पुरी स्थित गोवर्धन मठ के शंकराचार्य निश्लानंद सरस्वती, राम मंदिर निर्माण ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष स्वामी गोविंद देव गिरि महाराज, पतंजलि योग पीठ के स्वामी रामदेव बाबा, श्री. तिरुमाला तिरुपति देवस्थान के प्राचार्य डॉ. रमन्ना दीक्षितुलु, विश्व प्रसिद्ध जोग वारकरी शिक्षा संस्थान के एच.बी.पी. मारोती महाराज कुर्रेकर, विश्व शांति दूत जैन मुनि डॉ. लोकेश स्वामी, कर्नाटक के चक्रवर्ती दानेश्वर अप्पा महाराज, अखिल भारतीय वारकरी मंडल अध्यक्ष हभप प्रकाश महाराज बोधले, हभप रतनबाबा महाराज, श्री. गुरुदत्त संस्थान देवगढ़ के महंत भास्करगिरी महाराज, हभप निवृत्ती महाराज इंदुरीकर, श्री. गुरुदेव दत्तात्रेय जाधव महाराज, श्रीकृष्ण जन्मभूमि निर्माण मठ मथुरा के राष्ट्रीय धर्माचार्य नामदेव महाराज हरड़, कथाकार मदन मोहन महाराज, भागवताचार्य अनुराधा दीदी सहित अन्य साधु-संत उपस्थित रहेंगे ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे, सांसद शरद पवार, मंत्री पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान, नवाब मलिक, जयंत पाटिल, उदय सामंत, आदित्य ठाकरे, नेता प्रतिपक्ष देवेंद्रजी फडणवीस, पूर्व मुख्यमंत्री सुशील कुमार शिंदे, पूर्व मंत्री विजय कुमार देशमुखजी , डॉ. तानाजी सावंत, सांसद ओमराजे निंबालकर, विधायक राजेंद्र राउत, रमेश कराड, समाधान अवताड़े, मैगसेसे पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं और पद्मश्री नीलिमा मिश्रा, पद्मश्री डॉ. शरद काले, पद्मश्री पोपटराव पवार, पद्मश्री उज्जवल निकम, सुरेश वाडकर को आमंत्रित किया गया है।

इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के सदस्य डॉ. ज्ञानेश्वर मुले और मुळे फाऊडेशन संस्थापक रमेश अन्ना मुळे के मार्गदर्शन में स्किलबुक प्राचार्य डॉ. भारती पाटिल, उज्जैनकर फाउंडेशन के डॉ. शिवचरण उज्जैनकर, ब्रांडिंग कॅटालिस्ट के निदेशक अभिषेक त्रिवेदी, युनिक डीपीआर कि निदेशिका मधुवंती केळकर आदी काम कर रहे है |

Leave A Reply

Your email address will not be published.