शादी से चंद घंटे पहले कांग्रेस प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक के होने वाले पति की पहली पत्नी आई सामने, यौन शोषण के लगाए आरोप

ROHIT SHARMA

0 191

सपा की पूर्व नेता पंखुड़ी पाठक की शादी एक दिसंबर को है और उससे पहले ही उनके होने वाले पति के बारे में ऐसा खुलासा हुआ है , जिसने सबको चौंका दिया है। दरअसल शादी से दो दिन पहले अनिल यादव की पहली पत्नी मीडिया के सामने आई और उसने मीडिया के सामने अपने तलाकशुदा पति व पंखुड़ी पर भी कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

अनिल की पहली पत्नी ज्योति यादव का कहना है कि उनके पति ने उनसे तलाक ले लिया और तलाक लेने के बाद भी कई महीने तक उन्हें अपने पास बंधक बनाकर रखा। सिर्फ यही नहीं ज्योति ने ये भी आरोप लगाया है कि इस बीच जब अनिल और पंखुड़ी की शादी तय हो गई तो उन्होंने अब जाकर उनको अपने घर से बेदखल कर दिया।

पति के जुल्मों की लंबी दास्तां सुनाते हुए ज्योति यादव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए मीडिया से अपने साथ हुए शोषण का खुलासा किया है। यह खुलासा उस वक्त हुआ है जब सपा नेता अनिल यादव, कांग्रेस की मीडिया पैनलिस्ट और पूर्व में सपा में रह चुकीं पंखुड़ी पाठक से विवाह करने वाले हैं।

अनिल यादव की पूर्व पत्नी ज्योति यादव का आरोप है कि अनिल यादव से उनकी शादी 2013 में हुई थी। शादी के बाद से ही अनिल लगातार उनके साथ मारपीट किया करते थे। शादी के कुछ समय बाद अनिल यादव की सपा में ही प्रवक्ता के तौर पर काम करने वाली पंखुड़ी पाठक से मुलाकात हुई और तब से ही अनिल के व्यवहार में बदलाव आने लगा। ज्योति पर अनिल के अत्याचार बढ़ने लगे और ज्यादा मारपीट और गाली-गलौज करने लगा।

ज्योति यादव का कहना है कि पंखुड़ी पाठक के कहने पर अनिल यादव लगातार उनके साथ दुर्व्यवहार करने लगे और 2018 में उनके छोटे बच्चे पर पिस्टल तान कर उनको डराया धमकाया और मजबूरन तलाक लेने पर मजबूर कर दिया।

दिल्ली के कोर्ट में दोनों के बीच तलाक भी हो गया, बावजूद इसके अनिल यादव ने लगातार ज्योति को अपने घर पर ही बंधक बनाकर रखा। ज्योति ने ये आरोप भी लगाए हैं कि सपा नेता अनिल और उसका भाई कपिल दोनों उसके साथ जबरदस्ती यौन शोषण करते थे।

जब अनिल और पंखुड़ी की विवाह की तारीख नजदीक आ गई तब जाकर अनिल ने ज्योति को अपने घर से धक्के मार कर निकाल दिया, ताकि वह पंखुड़ी से शादी कर सके। ज्योति का कहना है कि इस दौरान उन्होंने उसके छोटे बच्चे को जान से मारने की धमकी देते हुए उनके साथ कई तरह के अनैतिक काम भी किए इसके लिए अब वह न्याय चाहती हैं।

वही अनिल यादव ने पूर्व पत्नी के सभी आरोपों को झूठा बताया है। उन्होंने कहा कि शादी के बाद उन दोनों की नहीं बन सकी इसलिए तलाक लिया था। इसके एवज में ज्योति ने उनसे 50 लाख रुपये मांगे, जो कोर्ट की निगरानी में उनके खाते में जमा कराए गए।

तलाक के तुरंत बाद वह नवादा गांव छोड़कर सेक्टर-78 में रहने लगे , कहने के बावजूद ज्योति ने उनका घर नहीं छोड़ा। अब जब उनकी दूसरी शादी की तैयारियां होने लगीं तो मायके वालों को बुलाकर उनके हिस्से की कोठी भी अपने नाम करवाने की मांग की। अमेरिका की कथित घटना और तलाक के बाद शारीरिक उत्पीड़न के आरोपों को भी उन्होंने झूठा बताया है।

वही दूसरी तरफ कांग्रेस मीडिया पैनलिस्ट पंखुड़ी पाठक ने अपने भावी पति पर लगाए जा रहे आरोपों पर इशारों ही इशारों में जवाब दिया है। अपने मेंहदी की एक तस्‍वीर ट्विटर पर पोस्‍ट करते हुए पंखुड़ी पाठक ने कहा कि सत्य वह सूरज है, जिसे फरेब के बादल बुझा नहीं सकते।

कभी समाजवादी पार्टी की सदस्‍य रहीं पंखुड़ी पाठक अनिल यादव पर उनकी पूर्व पत्‍नी द्वारा लगाए गए आरोपों से बेहद आहत हैं। अपने शादी की तैयारियों को अंतिम रूप देने में व्‍यस्‍त पंखुड़ी पाठक ने ट्वीट किया, ‘सत्य वह सूरज है, जिसे फरेब के बादल ढक सकते हैं लेकिन बुझा नहीं सकते।’ बता दें कि पंखुड़ी पाठक और अनिल यादव की शादी पर संकट के बादल मंडराते नजर आ रहे हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.