लोकसभा 2019 के चुनावों को लेकर टेन न्यूज़ ने ग्रेटर नोएडा की महिला शक्ति से की ख़ास बातचीत

Abhishek Sharma / Video By Baidynath halder

100

Greater Noida (11/01/19) : लोकसभा 2019 के चुनावों में ज्यादा समय नहीं बचा है, ऐसे में सभी राजनैतिक दल जीत हासिल करने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं। सत्‍ता में बैठी बीजेपी सरकार ने आम चुनाव से ठीक तीन महीने पहले लोकसभा और राज्‍यसभा में आर्थ‍िक रूप से कमज़ोर सवर्णों के लिए 10 फीसदी आरक्षण का बिल पास कराकर चर्चा का पूरा केंद्र ही बदल दिया। राफेल पर विपक्ष के हमलावर तेवर को एकदम से कुंद करने की कोशिश रंग लाई और विपक्ष मन मसोसकर राफेल को छोड़ आरक्षण पर चर्चा करने लगा। तमाम तरह के विरोध दर्ज कराते हुए लगभग पूरे विपक्ष को इस मसले पर सरकार का साथ देना पड़ा। सबको चुनाव का डर सता रहा था।

कांग्रेस विरोध करती, तो मसला सवर्ण विरोधी का होता, मजबूरन साथ आना पड़ा। इस तरीके से पूरे विपक्ष को विवश कर देने की सोच एससी-एसटी अमेंडमेंट बिल के समय भी देखने को मिली थी। लोकसभा और राज्‍यसभा में राफेल पर घमासान मचा हुआ था। राहुल गांधी समेत पूरा विपक्ष सरकार को रोज़-रोज़ राफेल पर बयान देने को मजबूर किए जा रहा था। ऐसे में सदन के पटल पर सरकार के संकटमोचक अरुण जेटली इस सरकार में लगभग वही रोल अदा कर रहे हैं, जो कभी यूपीए में प्रणब मुखर्जी किया करते थे।

उम्मीद की जा रही है कि लोकसभा 2019 के चुनावों में जोरदार टक्कर देखने को मिल सकती है। लोकसभा के चुनावों को लेकर टेन न्यूज़ ने ग्रेटर नोएडा की महिला शक्ति से ख़ास बातचीत की और जाना कि देश के विकास के लिए कौन सी पार्टी बेहतर होगी और किस पार्टी की चुनाव जीतने की ज्यादा उम्मीदें है। इस विषय पर बात करने के लिए हमारे साथ अंजू पुंडीर, रूपा गुप्ता व साधना सिन्हा उपस्थित रही।

साधना सिन्हा ने कहा कि देश में ऐसी सरकार आनी चाहिए जो सचमुच देश का विकास करे न कि विकास के नाम पर चुनाव लड़े और फिर विकास न करे। उन्होंने कहा कि हमारे पास नरेंद्र मोदी के अलावा शायद और कोई विकल्प भी नहीं है। न चाहते हुए भी हम यही चाहेंगे कि देश में बीजेपी की ही सरकार आए। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार से देश को काफी उम्मीदें थी, साढ़े चार सालों में कुछ हद तक वर्तमान सरकार उमीदों पर खरी भी उतरी लेकिन जिस तरह की आशा की जा रही थी उस तरह से काम नहीं हो पाया है। मोदी सरकार ने विकास के नाम पर जुमलेबाजी ज्यादा की। जिसका नतीजा यह रहा कि हाल ही में हुए चुनावों में बीजेपी को मुंह की खानी पड़ी।

उन्होंने आगे कहा कि इन सबके बावजूद भी हम चाहेंगे कि मोदी सरकार को एक मौका और दिया जाए। ताकि ये सच में काम करके दिखाए। देश ने इतने साल कांग्रेस पर तो भरोसा करके देख ही लिया है। और दूसरी बात यह है कि कोई और ऐसी पार्टी है ही नहीं जो जो विपक्ष में डट सके। राहुल गाँधी को तो प्रधानमंत्री का पद बिलकुल नहीं मिलना चाहिए क्योंकि अभी उनके पास देश संभालने की बिलकुल भी काबिलियत नहीं है।

अंजू पुंडीर ने लोकसभा 2019 के चुनावों लेकर अपना मत रखते हुए कहा कि मैं तो यही चाहूंगी कि मोदी सरकार को एक मौका और देना चाहिए। हमने इतने साल कांग्रेस पर भरोसा करके देख ही लिया है जिसका कोई नतीजा नहीं निकला है। कांग्रेस की सरकार में विकास के अलावा सारे काम हुए हैं। चाहे वो भ्रष्टाचार हो या परिवारवाद की राजनीती हो। कांग्रेस ने देश की जो व्यवस्था बिगाड़ी है उसको वापस रास्ते पर लाने के लिए 5 साल नाकाफी हैं। उसमे फिर से ठीक करने में समय लगेगा, मोदी जी ने काम तो किया है लेकिन वो जमीनी स्तर पर नहीं दिखता है। शहरी स्तर पर लोग समझ रहे है कि सरकार ने क्या काम किया है।

वहीं, देहात क्षेत्रों के लोगों व किसानों से वादे किए जा रहे हैं कि लोन माफ़ किया जाएगा। सरकार लोगों से टैक्स के रूप में पैसे वसूल रही है। अगर उस पैसे को सही जगह लगाया जाए तो निश्चित ही देश का विकास होगा। बजेपी की सरकार को देश एक मौका और दे ताकि मोदी जी ने जो सपने भारत को आगे ले जाने के देखे हैं वो उन्हें साकार कर सकें। उन्होंने कहा कि मोदी की टक्कर में कोई ऐसा चेहरा नहीं दिखाई देता है जो लगे कि ये विकास कर सकेगा। राहुल गांधी के बारे उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को अभी राजनीती का ज्ञान नहीं है। प्रधानमंत्री तो दूर की बात है वो एक मंत्री बनने के लिए भी काबिल नहीं हैं।

रूपा गुप्ता ने अपना पक्ष रखते हुए कहा कि मोदी सरकार के आने के बाद से देश ने तरक्की की है। देश के ऊपर जो कर्ज था वो भी काफी हद तक चुका दिया गया है। देश की जनता को मोदी सरकार को एक मौका जरूर देना चाहिए जिससे कि वह देश को नई ऊंचाइयों तक ले जा सकें। उन्होंने आगे कहा कि बाकी जो भी सरकार केंद्र में आए वो पूर्ण बहुमत के साथ आए। क्योंकि अगर कोई पार्टी विकास की तरफ अग्रसर होती है तो दूसरी पार्टियां उसमे टांग अड़ाती हैं। पूर्ण बहुमत की सरकार से देश में निश्चित ही विकास होगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.