सावित्री बाई फुले स्कूल में वार्षिक खेल दिवस का आयोजन, जीबीयू वीसी ने छात्राओं के अनूठे कौशल को सराहा तो ग्रेटर नोएडा सीईओ बोले ‘छू लो आसमाँ’!

Abhishek Sharma

177

Greater Noida (06/12/18) : ग्रेटर नोएडा के कासना स्थित सावित्री बाई फूले बालिका इंटर कॉलेज में आज वार्षिक खेल दिवस का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के तौर पर गौतम बुद्ध विश्विद्यालय के वाईस चांसलर भगवती प्रकाश, डिप्टी रजिस्ट्रार बच्चु सिंह, ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी नरेन्द्र भूषण, विजय सिंह पथिक स्पोर्ट्स काम्प्लेक्स के सचिव राजेश शर्मा व टेन न्यूज़ के संस्थापक गजानन माली उपस्थित रहे।

कार्यक्रम की शुरुआत मुख्य अतिथियों के द्वारा दीप प्रज्वलित करके की गई। इसके बाद कॉलेज के चारों सदनों की छात्राओं ने परेड की प्रस्तुति देकर समारोह में जान फूंकी। इसके पश्चात कार्यक्रम को शुरू करने के लिए मशाल लेकर छात्राओं ने ग्राउंड का चक्कर लगाया और स्पोर्ट्स डे को प्रारंभ किया गया। इस दौरान जहाँ रंगारंग प्रस्तुतियों ने समां बांधा तो वहीँ दौड़ प्रतियोगिता मुख्य आकर्षण का केंद्र रही। योग व एरोबिक्स के माध्यम से छात्राओं ने उपस्थित लोगों को स्वस्थ रहने के गुर सिखाये।

 

गोवा, गुजरात व राजस्थान की शानदार झलक पेश करते हुए छात्राओं ने डांडिया, घूमर, कालबेलिया व गोवा नृत्य पेश करते हुए दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसके अलावा एक नृत्य के जरिए छात्राओं ने पर्यावरण बचने का सन्देश भी दिया और प्लास्टिक पॉलिथीन का प्रयोग न करने की अपील की।


इस दौरान मुख्य अतिथि वाइस चांसलर भगवती प्रकाश शर्मा ने कहा कि उन्हें बहुत ख़ुशी हो रही है कि यहाँ की छात्राएं हर प्रतियोगिता में बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रही हैं। हमारे देश की लड़कियों की आगे बढ़ते देख मुझे बहुत ख़ुशी होती है। यहां की शिक्षिकाएं और अभिभावक भी बधाई के पात्र हैं जिन्होंने छात्राओं को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया और आज लगभग सभी छात्राओं ने यहाँ कोई न कोई प्रस्तुति दी है। उन्होंने कहा कि मुझे बहुत आश्चर्य हो रहा है कि छात्राओं ने सभी प्रस्तुति बिना किसी की गाइडेंस की मदद के दी है और तालमेल भी देखने लायक था।

छात्राओं द्वारा दी गई परेड की तुलना उन्होंने सुभाष चंद्र बोस की आजाद हिन्द फौज से करते हुए कहा कि आजाद हिन्द फौज की आज 75 वीं वर्षगांठ है और ऐसे मौके पर यह परेड अतुलनीय है। उन्होंने आगे कहा कि देश के युवाओं को तकनीकी चीजों पर ज्यादा फह्यान देना चाहिए क्योंकि आने वाले समय में तकनीक इतनी आगे जाने वाली है कि हर काम मशीन के द्वारा किए जाएंगे। इंसानों की कोई जरूरत नहीं होगी इसलिए हमारे देश के युवाओं और युवतियों को तकनीक की ओर ध्यान केंद्रित करके अपने आप को काबिल बनाना चाहिए।

सीईओ ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण नरेंद्र भूषण ने कहा कि हमारे समय में कहा जाता था कि सिर्फ पढ़ाई से ही इंसान काबिल बन सकता है, खेलकूद से कुछ नहीं होता, लेकिन आज के दौर में खेलना भी उतना ही जरूरी है जितना कि पढ़ाई करना। उन्होंने कहा कि छात्राओं द्वारा आज की प्रस्तुतियों ने उन्हें उनके बचपन का स्मरण कराया है। उन्होंने छात्राओं से कहा कि इस कार्यक्रम को देखने के बाद बस “छू लो आसमान”!

उन्होंने कहा कि आज के समय में पढ़ाई के अलावा बच्चों का सर्वांगीण विकास होना सबसे अधिक महत्वपूर्ण है और0 इंसान को हारना सबसे ज्यादा जरूरी है क्योंकि जब तक इंसान हारेगा नहीं तब तक उसमे जीतने की ललक नहीं आएगी।

सावित्री बाई फूले बालिका इंटर कॉलेज की प्रधानाचार्य रिमा डे ने कहा कि आज स्कूल को शुरू हुए 8 साल हो गए हैं। हम 8 साल के हो गए हैं। जब स्कूल की शुरुआत हुई थी 2010 में तो यहाँ पर सिर्फ 100 छात्राएं थी। आज 8 साल बाद यहाँ पर 1 हजार से भी ज्यादा विद्यार्थी हमारा हिस्सा बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि मुझे पूरा विश्वास है कि जिन अभिभावकों के बच्चे यहां पर पढ़ाई कर रहे हैं उन्हें स्कूल या किसी और से भी कोई परेशानी नहीं होगी। उनके बच्चों की यहां पर अच्छे से देखभाल हो रही है। उन्होंने कहा कि प्रत्येक बच्चे का कुछ कर दिखाने का एक सपना मन में जरूर होता है लेकिन हर कोई उस सपने को साकार नहीं कर पाता है। हमारा उद्देश्य है कि हर बच्चे की सपना पूरा हो इसके लिए स्कूल में पढ़ाई के साथ-साथ स्पोर्ट्स गतिविधियों पर पूरा ध्यान दिया जाता है। उन्होंने कहा कि सिर्फ पढ़ाई करने से इंसान सफल नहीं हो जाता है उसे एक अच्छा इंसान भी बनना पड़ता जिससे की वह सफल हो सके।

खेलकूद में छात्राओं के लिए विभिन्न दौड़ प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया जिनमे, पैक द बैग, बर्स्ट द बैलून, बैलेंसिंग रेस, स्प्रिंट रेस, 200 मीटर रेस, स्किपिंग रेस, होप रेस समेत कई दौड़ों का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के अंत में खेल एवं परीक्षाओं में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाली छात्राओं को ट्रॉफी व प्रमाण पात्र देकर सम्मानित किया गया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.