यूपी में मेडिकल स्क्रीनिंग के लिए 1 लाख टीमों का होगा गठन, गौतमबुद्धनगर पर होगा अधिक फोकस

Abhishek Sharma

0 104

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की टेस्टिंग संख्या में लगातार वृद्धि की जाए। सर्विलांस व्यवस्था को और बेहतर करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इस उद्देश्य के लिए जनपदों में विशेष सचिव स्तर के अधिकारी भेजे जा रहे हैं।

सर्विलांस कार्य को सुदृढ़ करने से मेडिकल टेस्टिंग की संख्या बढ़ाने में मदद मिलेगी। टीम-11 की बैठक के दौरान मुख्यमंत्री योगी ने मेडिकल स्क्रीनिंग के कार्य के लिए अविलम्ब 1 लाख से अधिक टीम गठित करने के निर्देश दिए।

उन्होंने कहा कि टीम के द्वारा प्रत्येक व्यक्ति की हर सप्ताह नियमित तौर पर मेडिकल स्क्रीनिंग का कार्य किया जाए. टीम के सदस्यों को मास्क, ग्लव्स एवं सैनेटाइजर उपलब्ध कराया जाए। स्क्रीनिंग के पश्चात मेडिकल टेस्टिंग के लिए आवश्यकतानुसार सैम्पल लिए जाएं।

उन्होंने कहा, लक्षणरहित संक्रमित लोगों को उपचार के लिए कोविड चिकित्सालय में भर्ती किया जाए। उन्होंने ट्रेनिंग, सर्विलांस, मेडिकल टेस्टिंग तथा कोविड हेल्प डेस्क के कार्यों को तेजी से आगे बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

इसके बाद अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बताया कि प्रदेश में मेडिकल स्क्रीनिंग के लिए यूपी में एक लाख टीमों के गठन के निर्देश दे दिए गए हैं। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है।

उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने बताया है कि एंटीजेन टेस्ट किट्स भी उनके पास पहुंच चुकी हैं, इनका कल से इस्तेमाल शुरू हो जाएगा। इसमें हमारा विशेष फोकस नोएडा, गाजियाबाद, लखनऊ, गोरख्पुर, वाराणसी और कानपुर नगर जिलों पर रहेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.