आम आदमी पार्टी और बसपा के साकेत बार एसोसिऐशन के वकीलों ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अनिल कुमार की उपस्थिति में कांग्रेस पार्टी का थामां दामन

Ten News Network

0 109

नई दिल्ली : दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अनिल कुमार ने आज दिल्ली में प्रेसवार्ता को सम्बोधित कर कहा कि भाजपा और आम आदमी पार्टी ने युवाओं को गुमराह करके और भविष्य के लिए झूठे सपने दिखाकर सत्ता हासिल की। प्रदेश कार्यालय में आयोजित समारोह में आज आम आदमी पार्टी, बसपा के नेताओं और वकीलों ने आज कांग्रेस पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। प्रदेश अध्यक्ष अनिल कुमार ने कांग्रेस में शामिल सभी युवा नेताओं को कांग्रेस का पटका पहनाकर उनका स्वागत किया और कहा कि कांग्रेस की विचारधारा से प्रेरित होकर युवा वर्ग कांग्रेस पार्टी की सोच के साथ जुड़ रहा है।

अनिल कुमार ने कहा कि अरविन्द सरकार की लापरवाही के चलते दिल्ली में कोविड के मामले तेजी से बढ़कर नियंत्रण से बाहर हो रहे है। उन्होंने कहा कि एक बार और लॉकडाउन लगाना समस्या का हल नही है बल्कि कंटेन्मेन्ट जोन बढ़ाए जाए। अनिल कुमार ने कहा कि न्याय योजना के अन्तर्गत गरीब मजदूरों को दिल्ली सरकार आर्थिक मदद प्रदान करे।

उन्होंने कहा कि एक साल से उपर ज्यादा समय से देश और दिल्ली कोविड से प्रभावित है परंतु दिल्ली सरकार ने चिकित्सा व्यवस्था को व्यवस्थित करने के लिए कोई उचित प्रबंध नही किए, प्रतिदिन 1 लाख आरटीपीसीआर टेस्ट किए जाते तो स्थिति कुछ और होती। जनता सरकार के साथ सहयोग कर रही है परंतु आप पार्टी की सरकार दिल्ली वालों के लिए कुछ नही कर रही है। उन्होंने कहा कि एक बार फिर रोजगार और कारोबार बंद होने की कगार पर है।

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि आम आदमी पार्टी और भाजपा आज नफरत और बदले की भावना की राजनीति कर रही हैं। युवाओं को भ्रमित करके भविष्य के विकास के लिए झूठे सपने दिखाकर सत्ता प्राप्त की, जिसे आज युवाओं का मोह भंग हो चुका है। केजरीवाल और मोदी दोनो ने भ्रष्टाचार, लोकपाल, महिला सुरक्षा, रोजगार देने के नाम पर सत्ता में आए, आज यह मुद्दे बेमानी और धराशाही हो गए है।

उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार मुक्ती की बात करने वाले अरविन्द केजरीवाल के आधे केबिनेट और अधिकतर विधायकों पर अपराधिक मामले दर्ज है। केजरीवाल मोदी-शाह की राह पर चल रहे है, उन्हें दिल्लीवासियों से कुछ लेना देना नही है।

अनिल कुमार ने कहा कि केजरीवाल स्वयभूं है और उन्हें आम आदमी पार्टी में अपने अलावा किसी को अहमियत नही देते, यही कारण रहा कि संगठन गठन के साथी शांति भूषण, एडमिरल रामदास, योगेन्द्र यादव आदि को पार्टी से अलग कर दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.