अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली की कच्ची कॉलोनियों को लेकर पीएम मोदी पर साधा निशाना

Abhishek Sharma / Lokesh Goswami

88
New Delhi (08/05/19) : दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पार्टी कार्यालय पर प्रेस वार्ता कर मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि मोदी सरकार ने 2 साल में सीलिंग कराकर व्यापारियों को बर्बाद कर दिया है , उन्होंने लगातार पीएम मोदी को अपने निशाने पर रखा और कहा कि अब मोदी सरकार कच्ची कॉलोनियों को बर्बाद करने का प्लान बना चुकी है।
सीएम ने कहा कि बीजेपी के एमपी मनोज तिवारी भी कच्ची कॉलोनियों को तोड़कर बड़े बड़े बिल्डर को जमीन देने की तैयारी में है। मनोज तिवारी ने एक सभा मे इस बात को कबूल किया है कि कच्ची कॉलोनी तोड़कर, बिल्डिंग बनाई जाएंगी।  70% दिल्ली को तोड़कर, बीजेपी द्वारा कुछ भी बनाने की तैयारी से कितना विध्वंस होगा।

 



सीएम का कहना है कि इस बारे में मेरी केंद्र के कुछ अधिकारियों से बातचीत हुई है। उनका कहना है कि बेवकूफ बनाकर जमीन छीन ली जाएगी, चंद लोगों को फ्लैट देकर बाकी लोगो की जमीन लूट ली जाएगी। कच्ची कॉलोनियों में इंसान बसते हैं, जब तक केजरीवाल ज़िंदा है किसी का घर उजड़ने नही देगा।

दिल्ली के विकास का मॉडल है कि कच्ची कॉलोनी को सुंदर बनाएंगे, यहां सड़क नाली गली पार्क बनाएंगे, लेकिन किसी कच्चे मकान को तोड़ेंगे नही। बीजेपी का बेहद खतरनाक प्लान है, दिल्ली को बचाना है तो दिल्ली वाले बीजेपी को मजबूती से हरायें।

केजरीवाल ने आगे कहा कि सात सीट मिलने पर संसद में आवाज़ उठाएंगे, कच्ची कॉलोनियों को टूटने नही देंगे। उन्होंने कहा कि  “मोदी जी 5 साल में रोबर्ट वाड्रा को तो अंदर नही कर सके।   वहीँ कच्ची कॉलोनियों पर उन्होंने शीला दीक्षित पर भी निशाना साधते हुए कहा कि उनके सारे दावे फर्जी थे, कच्ची कॉलोनियों में कोई व्यवस्था नही दी गई। कच्ची कॉलोनियों को पक्का करने की फ़ाइल पर केंद्र सरकार 3 साल से बैठी है।
उन्होंने आगे प्रियंका और राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रियंका भी बीजेपी से डरी हुई हैं, वो भी आम आदमी पार्टी को हारने की कोशिश में लगी हुई हैं। यूपी और दिल्ली में ही वो प्रकार कर सकती हैं। उन्होंने प्रियंका गाँधी से सवाल पूछते हुए कहा कि चुनाव प्रचार के लिए वे राजस्थान , मध्यप्रदेश या छत्तीसगढ़ में क्यों नही जाती हैं। भाई-बहन (राहुल प्रियंका) किसी काम के नहीं हैं , वो दोनों अगले चुनावों की सोच रहे हैं।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.