दिल्ली के अस्पतालों की बड़ी लापरवाही , 5 दिन भटकाया कोरोना का मरीज , हुई मौत

Rohit Sharma

0 232

नई दिल्ली :– दिल्ली के बेरहम अस्पतालों ने भोपाल के 1 शख्स की जिंदगी छीन ली है। कोरोना टेस्ट के लिए दिल्ली के मयूर विहार में रहने वाले वीरेंद्र नेकिया 5 दिन तक अस्पतालों के चक्कर काटते रहे, लेकिन किसी अस्पताल में वीरेंद्र का टेस्ट नहीं हुआ है।

दिल्ली के अस्पतालों के बेरहमी के आगे मजबूर वीरेंद्र ने भोपाल में अपने रिश्तेदार से संपर्क किया, जो जेपी अस्पताल में कार्यरत हैं। उन्होंने इलाज के लिए भोपाल बुलाया ।

वीरेंद्र निजामुद्दीन हबीबगंज-एक्सप्रेस से 800 किलोमीटर का सफर तय दिल्ली से भोपाल पहुंच गया। भोपाल पहुंचने तक वीरेंद्र नेकिया की हालत बहुत बिगड़ चुकी थी। उसके बाद तुरंत उसे भोपाल के हमीदिया अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

वीरेंद्र की मौत के बाद परिवार 4 हिस्सों में बिखर गया है। वीरेंद्र का बेटा और भाई अब भोपाल में क्वारंटीन हैं, तो पत्नी दिल्ली के अस्पताल में भर्ती है। वहीं, बेटी को दिल्ली में ही आइसोलेट किया गया है।

वीरेंद्र की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आने के बाद हबीबगंज-निजामुद्दीन एक्सप्रेस के एस-10 कोच के यात्रियों की तलाश की जा रही है। वीरेंद्र उसी कोच में सवार होकर भोपाल आए थे। ऐसे में दूसरे यात्रियों के भी संक्रमित होने की आशंका है।

वहीं, भोपाल के अधिकारी इस बात को लेकर अचंभित हैं कि 103 डिग्री बुखार में स्क्रीनिंग के बाद रेलवे के अधिकारियों ने दिल्ली से उसे भोपाल कैसे आने दिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.