टेन न्यूज़ नेटवर्क के ” एक खास मुलाकात” कार्यक्रम में बोले बीजेपी सांसद मनोज तिवारी , मोदी के नेतृत्व में हारेगा कोरोना 

Rohit Sharma

0 126

नई दिल्ली :– दिल्ली में कोरोना का कहर जारी है , अब हर दिन 1500 से ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हो रहे है | वही दूसरी तरफ दिल्ली में राहत भी है , क्योकि 82 प्रतिशत मरीज ठीक हो चुके है | जबसे अमित शाह ने दिल्ली की कमान अपने हाथ में ली है , तबसे मरीजों के ठीक होने की संख्या में वृद्धि भी हुई है , साथ ही दिल्ली में रोजाना 22 हज़ार से ज्यादा टेस्ट भी हो रहे है | वही दिल्ली के सांसद भी लोगों की समस्याओं का निस्तारण भी कर रहे है | आपको बता दे की टेन न्यूज़ नेटवर्क के द्वारा शुरू किए गए ” एक खास मुलाकात ” कार्यक्रम में आज दिल्ली के उत्तर पूर्वी जिले के सांसद मनोज तिवारी शामिल हुए |

टेन न्यूज़ नेटवर्क वेबिनार के माध्यम से लोगों को जागरूक कर रहा है , साथ ही लोगों के मन में चल रहे सवालों के जवाब विशेषज्ञों द्वारा दिए जा रहे हैं। टेन न्यूज़ नेटवर्क ने “एक खास मुलाकात ” कार्यक्रम शुरू किया है , जो टेन न्यूज़ नेटवर्क के यूट्यूब और फेसबुक पर लाइव किया जाता है।

बता दे कि मनोज तिवारी का जन्म 1973 में बिहार के एक छोटे से गाँव अटरवालिया में हुआ | मनोज तिवारी बिहार राज्य से राजनेता, गायक और अभिनेता हैं। वह भारतीय जनता पार्टी से संबंधित है। मनोज तिवारी ने साल 2009 राष्ट्रीय चुनाव में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर राजनीति में कदम रखा। वह दिल्ली में बीजेपी संगठन के प्रमुख थे जब पार्टी ने 2017 में स्थानीय चुनावों में रिकॉर्ड जीत दर्ज की थी। वह पहले समाजवादी पार्टी से जुड़े थे लेकिन 2014 के चुनाव से कुछ महीने पहले बीजेपी में शामिल हो गए। साथ ही उन्हें बीजेपी दिल्ली प्रदेश का अध्यक्ष भी बनाया गया | आज भी मनोज तिवारी उत्तर पूर्वी दिल्ली जिले के सांसद है |

उन्होंने कमलाकर चौबे आदर्श सेवा विद्यालय इंटरमीडिएट कॉलेज, वाराणसी से अपनी स्कूली शिक्षा प्राप्त की है। उन्होंने बीएचयू (बनारस हिंदू विश्वविद्यालय), वाराणसी से स्नातक स्तर की पढ़ाई जारी रखी। उन्होंने M.P.Ed (शारीरिक शिक्षा के मास्टर) में डिग्री हासिल की। राजनीति में कदम रखने से पहले वह भोजपुरी सिनेमा के जानेमाने अभिनेता के रूप में लोकप्रिय थे। वो बिग बॉस शो में भी दिखे।

फिल्मों में कार्य करने से पूर्व मनोज तिवारी ने तकरीबन दस साल भोजपुरी गायक के रूप में कार्य किया। सन २००३ में उन्होने फिल्म ‘ससुरा बड़ा पैसा वाला’में अभिनय किया जो मनोरंजन और आर्थिक दृष्टि से बहुत सफल फिल्म साबित हुई और माना जाने लगा की भोजपुरी फिल्मों का नया मोड़ शुरू हो चुका है। इसके बाद उन्होने दो और फिल्मों ‘दारोगा बाबू आई लव यू’ और ‘बंधन टूटे ना’नामक फिल्मों में अभिनय किया। मनोज तिवारी ने एक टेलीविज़न कार्यक्रम ‘चक दे बच्चे’ में बतौर मेज़बान कार्य किया।

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि ईश्वर की कृपा रही है कि सिंगिंग से शुरुआत करी उसके बाद एक्टर बना , साथ ही उन्होंने कहा की सिंगिंग के माध्यम से मैं आज इतनी बड़े  मुकाम हासिल कर चुका हूं , यह सिंगिंग की बदौलत है | आज जनता की सेवा कर रहा हूं , सांसद के रूप में , दिल्ली के उत्तर पूर्वी जनता ने मुझे चुनाव में जीताकर एक सांसद के रूप में लोकसभा भेजा | आज मैं दिल्ली की जनता का आभारी हूं और सोचता हूं किआखिर दिल्ली की जनता की सेवा करने में कोई कमी तो नहीं रह रही , जिसको पूरा कर सकू |

मनोज तिवारी ने कहा कि मोदी जी 2014 में प्रधानमंत्री के रूप में चुनाव लड़ रहे थे , तो मैं उन्हें स्वयं प्रधानमंत्री के रूप में मोदी जी को देखना चाहता था , इसलिए मैंने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन की | जिससे मैं नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में काम कर सकूं , वही आज हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विदेशों तक हमारे देश का परचम लहराया है |

वही इस कोरोना महामारी की बात करें तो हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़े ही सूझबूझ के साथ देश में लॉकडाउन लगाया , अगर लॉकडाउन सही समय पर नहीं लगता तो आज स्थिति बहुत भयानक होती | इस लॉकडाउन में  कोरोना महामारी से निपटने के लिए मास्क , पीपीई किट , हॉस्पिटल , वेंटिलेटर आदि सुविधाएं तैयार किए गए |

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी सांसदों को आदेश दिए की आखिर कोई भी व्यक्ति इस लॉकडाउन  में भूखा ना सोए , सभी को राशन उपलब्ध कराया जाए | आज हमारे जिले में जितने भी लोग हैं , जिनके पास राशन नहीं था , उसे राशन उपलब्ध कराया गया , आज कार्ड के माध्यम से राशन दिया जा रहा है | साथ ही दिल्ली में इस मुहिम को उच्च स्तरीय पर चलाया गया , जिसके बाद आज तमाम बहुत से लोगों के पास राशन पहुंचा है , केंद्र सरकार द्वारा चलाई गई योजना के माध्यम से लोगों को सुविधा दी गई , हमारे जिले की बात करें तो सभी लोगों के यहां सिलेंडर मुफ्त दिए गए , साथ ही जनधन खाते में 500 से लेकर 1000 रुपए तक खाते में पहुंचाए गए | वही एक हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया गया जिससे वह सिर्फ एसएमएस करके अपनी परेशानी बता सकें , जिससे हम उस समस्या का समाधान कर सकें और वो हुआ भी , बहुत सी शिकयत एसएमएस के माध्यम से आए , जिसका तत्कालप्रभाव से समाधान भी किया गया | 

मनोज तिवारी ने कहा लॉकडाउन के समय दिल्ली में किसी ने मेरा पर्सनल नंबर को हेल्पलाइन नंबर बना दिया , जिसके बाद लाखों की संख्या में मेरे पास फ़ोन आने लगे , शिकायतों का अम्बार लगने लगा , जिसको मैने चुनौती के रूप में लिया , मेने सभी से प्रार्थना की आप मुझे कॉल न करके , सिर्फ एसएमएस के माध्यम से शिकायत या परेशानी भेजे , जिसके बाद मुझे लाखों की संख्या में एसएमएस आए , मैने एक टीम बनाई , राशन को लेकर जो मेरे शिकयतें आई , उनके घर राशन भिजवाया गया , हर जगह रोसाई बनवाई गई , जिसके बाद गरीबों को खाना वितरण किया गया |

Ek Khas Mulakat Shri Manoj Tiwari Ji (M.P.) Lok Sabha Ke Sath

*TEN NEWS LIVE – Delhi Ki Baat*Show Topic : Ek Khas Mulakat Shri Manoj Tiwari Ji (M.P.) Lok Sabha Ke SathWednesday 15th July 20205.00 pm To 5.45 pm Photo 1Shri Manoj Tiwari JiM.P. (Lok Sabha)Photo 2RAGHAV

Posted by tennews.in on Wednesday, July 15, 2020

समाज के अंतिम व्यक्ति तक जरूरी सहायता पहुंचाने के लिए दिल्ली में 100 से ज्यादा जगहों पर सामूहिक रसोई बनाई गई है, जिसके माध्यम से प्रतिदिन लगभग दो लाख से ज्यादा लोगों को भोजन दिया गया । दिल्ली में रह रहे गरीब मजदूर व हर जरूरतमंद लोगों को खाने के साथ-साथ मोदी किट भी बाटी गई । इसी प्रकार लाखों लोगों को सेनिटाइजर, फेसमास्क, ग्लव्स और साबुन बांटी गई है।

मनोज तिवारी ने कहा कि जरूरतमंदों की सहायता के लिए दिल्ली में एक हेल्प लाइन नंबर भी जारी किया गया | इस नंबर पर 9625799844 जरूरतमंद लोग भोजन की समस्या से अवगत करा सकते थे , जिस पर काम भी किया गया । पूर्व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने बताया कि फीड द नीडी योजना के तहत जरूरतमंदों को भोजना कराने के साथ उन्हें सूखा राशन भी दिया गया था ।

लॉकडाउन के बाद दिल्ली में 30 लाख 10 हजार 806 लोगों तक खाद्य सामग्री एवं भोजन पहुंचाया जा चुका है। अभी भी कॉल या मैसेज के जरिए सूचित कर सकते हैं। वही दिल्ली में सफाई कर्मचारियों का सम्मान किया गया | 

मनोज तिवारी ने कहा कि अपने अपने अनुभवों को शेयर कर कर हमने अपना प्रोटोकॉल बनाया , उस प्रोटोकॉल से हम इस महामारी से लड़ रहे हैं। धन्यवाद दें हम अपने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का, जिन्होंने सही समय पर फैसला लेकर देश को अनर्थ की तरफ ले जाने से बचा लिया। कल्पना करें अगर यही स्थिति 22 मार्च को होती जब पहला जनता कर्फ्यू लगा था , तो हमने हाथ धोने नहीं सीखे थे , हमें मास्क लगाने की आदत थी ही नहीं , डॉक्टरों और नर्सों को छोड़ दे तो। 2 मीटर की दूरी , मास्क और हाथ धोना , आज यही तीन चीजें हमें कोरोना महामारी से बचा रहे हैं  |

कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद देशभर में लोगों ने एकजुटता का सबसे बड़ा संदेश दिया | कोरोना का संक्रमण बेशक फैल रहा है, फिर भी हम विश्वास से भरे हैं। क्योंकि दुनिया के अन्य हिस्सों में संक्रमित रोगियों की निरंतर बढ़ती संख्या की तुलना में भारत में इसका प्रकोप काफी सीमित है। यह इसलिए आश्चर्यजनक है, क्योंकि भारत न केवल अधिक जनसंख्या घनत्व वाला एक विकासशील देश है, बल्कि यहां सार्वजनिक स्वास्थ्य से जुड़ी बुनियादी ढांचागते सुविधाएं एवं संसाधन भी सीमित हैं।

मनोज तिवारी ने कहा कि कोरोना जैसी महामारी जैसी विपत्ति हमारे देश पर आएगी, इसकी किसी को भनक ही नहीं थी। इसके बावजूद दिसंबर में चीन के वुहान में इस संक्रमण के फैलने के एक माह बाद ही भारत में पहला व्‍यक्ति संक्रमित मिला था। तभी मोदी सरकार इस संक्रमण को लेकर सतर्क हो गई थी। उस समय हमारे पास कोरोना की टेस्टिंग की एक मात्र लैब थी, लेकिन अब इस महामारी के पैर फैलाते ही इतने कम समय में अनेक लैब बन चुकी हैं।

हमारे पास मास्‍क बनाने की एक फैक्ट्री नहीं थी, लेकिन इतने दिनों में सैकड़ों की संख्‍या में देश में कंपनियां मास्‍क तैयार कर रही हैं। इस संकट में हम पीपीई, वेंटिलेटर आदि का निर्माण भी कर रहे हैं। आज के समय में हमारे पास तीन लाख से ज्यादा वेंटिलेटर है, साथ ही कोरोना के मरीजों के लिए 10 लाख से ज्यादा बेड़ हमारे पास है। इस लॉकडाउन में हमारी सरकार अनेक तैयारियां कर चुकी है। अब देश के प्रधानमंत्री का ध्यान सिर्फ वैक्सीन पर है।

मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली में वैश्विक महामारी कोरोना का प्रकोप लगातार जारी है। इस विकट स्थिति में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार जनता के हित के लिए समर्पित है। गृह मंत्री अमित शाह के नेतृत्व में प्रशासनिक अधिकारी जहां दिन रात महामारी से निपटने के लिए तत्पर हैं, वहीं भाजपा के कार्यकर्ता राशन, दवाइयां और कोरोना के संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरी सक्रियता के साथ जनता की सेवा में लगे हुए हैं।

सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि जब तक कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए दवा तैयार नहीं हो जाती है, तब तक हमें अपनी और जन सुरक्षा के लिए परस्पर सहयोग बेहतर तालमेल के साथ महामारी का सामना करना है। केंद्र सरकार की ओर से चलाए जा रहे इस अभियान को जन अभियान बनाने की जरूरत है तभी कोरोना जैसी खतरनाक महामारी पर निजात पाई जा सकेगी।

मनोज तिवारी ने कहा कि केंद्र ने 690 करोड़ जनधन खाते में डाले, 836 करोड़ के मुफ्त सिलेंडर दिए, 243 करोड़ दिव्यांग, विधवा महिलाएं और वरिष्ठ नागरिकों को दिए है. साथ ही राजधानी में 768 करोड़ रुपये के राशन बांटे गए हैं, जो आप नहीं बांट पाए |

Leave A Reply

Your email address will not be published.