सौरभ भारद्वाज का बयान , एम्स में 4 हज़ार बेड्स में 2 हज़ार बेड्स कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित करें केंद्र सरकार

ROHIT SHARMA

0 80

नई दिल्ली :– दिल्ली में बढ़ते कोरोना मामलों को देख दिल्ली सरकार की चिंता बढ़ने लगी है , साथ ही इस मामले में केजरीवाल सरकार के साथ तमाम विधायक सक्रिय हो गए है ।

 

आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि दिल्ली सरकार रोजाना आरटीपीसीआर जांच की संख्या 18,000 से बढ़ाकर 27,000 करेगी और महामारी को रोकने के लिए बाजार बंद करने के बारे में निर्णय लेने से पहले मुख्यमंत्री केजरीवाल बाजार संघों के प्रतिनिधियों से मिलेंगे।

 

आप विधायक ने कहा कि उन्होंने सुझाव दिया कि बाजार संघों को अपने विचार पेश करने और वायरस के फैलाव को रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाने का मौका दिया जाना चाहिए। बैठक के बाद मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया,“आज सर्वदलीय बैठक में सभी दलों का सहयोग माँगा। ये वक़्त राजनीति का नहीं बल्कि सेवा का है। सभी दलों से निवेदन किया कि वे अपने कार्यकर्ताओं से सभी सार्वजनिक स्थलों पर मास्क बँटवाएं।

 

सभी दलों ने आश्वासन दिया कि वे राजनीति छोड़कर जनसेवा करेंगे।” भारद्वाज ने कहा, “हमने कहा कि बाजार बंद करने के किसी भी निर्णय से पहले सरकार द्वारा बाजार संघों से परामर्श किया जाना चाहिए और उन्हें सावधानी बरतने की अनुमति दी जानी चाहिए ताकि बाजार कोविड-19 हॉटस्पॉट न बन सकें।

 

 

मुझे लगता है कि आने वाले दिनों में मुख्यमंत्री उनसे मिलेंगे। इसके अलावा जिलाधिकारी और विधायक से भी चर्चा की जाएगी।” भाजपा और कांग्रेस ने सार्वजनिक स्थानों पर छठ पूजा पर प्रतिबंध का मुद्दा उठाया और मांग की कि सरकार आवश्यक कोविड-19 सुरक्षा निर्देशों के अनुपालन के साथ इसकी अनुमति दे।

 

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि बैठक में एम्स जैसे अस्पताल में वीआईपी के लिए आरक्षित 4000 बेड्स में से 2000 बेड कोरोना मरीजों के इलाज में इस्तेमाल करने के लिए केंद्र सरकार से निवेदन करने का सुझाव दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.