चुनाव के दौरान दिल्ली पुलिस के पास आई 110 फ़र्ज़ी कॉल , पार्टी के कार्यकर्ता भी भिड़े

ROHIT SHARMA/ JITENDER PAL- TEN NEWS

0 108

(13/05/2019)दिल्ली की 7 लोकसभा सीटों पर कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच मतदान संपन्न हो गया। आपको बता दे कि शांतिपूर्वक मतदान कराने के लिए सुरक्षा बलों ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी। खासबात यह है कि चुनाव के दौरान विभिन्न इलाकों से कुल 337 कॉल पुलिस के पास आई। इनमें से 110 कॉल फर्जी ही निकली।



दरअसल दिल्ली के सभी 450 संवेदनशील और अतिसंवेदनशील पोलिंग बूथ पर सुरक्षा के खास इंतजाम किए गए थे। इन बूथों पर अतिरिक्त सुरक्षा बलों के कमांडो को तैनात किया गया। वहीं अति संवेदनशील घोषित किए गए बूथों की छत पर भी कमांडो तैनात थे।

वही इस मामले में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि दिल्ली की सात सीटों के 13819 पोलिंग बूथ पर हुए मतदान के बीच कंट्रोल रूम को मिली कॉल में पोस्टर लगाकर प्रचार करने, झगड़ा व मारपीट, ईवीएम खराब होने की, चुनाव में गड़बड़ी फैलाने की कोशिश करने की और शराब व पैसे बांटे जाने जैसी कॉल शामिल है।

कई कॉल ऐसी थीं जो मामूली बहस होने पर भी कर दी गई थीं। सुबह से शाम तक घटना की कहीं से कॉल नहीं आई लेकिन झगड़े की कई कॉल सही पाई गईं। झगड़े व मारपीट की इन घटनाओं में पीड़ितों को पुलिस ने पास के अस्पतालों में भर्ती कराया और कानूनी कार्रवाई भी की। जाफराबाद, न्यू जाफराबाद, वेलकम आदि पोलिंग बूथों की छत पर कमांडो को तैनात किया गया था।

साथ ही उनका कहना है कि ज्यादातर पोलिंग स्टेशन पर पुलिस की ओर से मतदान केंद्रो की वीडियो रिकॉर्डिंग कराई गई। पुलिस मतदान केंद्रो के आसपास लोगों को समूह बनाकर खड़ा नहीं होने दे रही थी।

मटियामहल, इंद्रपुरी, कल्याणपुरी, जेएनयू में कार्यकर्ताओं के बीच हल्की-फुल्की झड़प हुई, जिसे पुलिसकर्मियों ने मौके पर ही निपटा दिया। अलबत्ता ओखला विधानसभा सीट पर मतदान से तड़के भाजपा और कांग्रेसी समर्थक भिड़ गए जिसके बाद पुलिस ने दोनों को समझा-बुझाकर शांत कराया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.