दिल्ली : बुजुर्गों की हत्या पर पुलिस आयुक्त गंभीर, ऑडिट शुरू

Rohit Sharma

0 70

नई दिल्ली :– पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव के सख्त निर्देश के बाद दिल्ली पुलिस ने सीनियर सिटीजन की सुरक्षा का ऑडिट करना शुरू कर दिया है। हर थाना पुलिस को आदेश दिए गए हैं कि वह उनके इलाके में रहने वाले बुजुर्गों की सुरक्षा का ऑडिट करें और जाने की उनकी क्या-क्या समस्याएं हैं। दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने सीनियर सिटीजन की सुरक्षा व उनकी समस्याओं के निदान करने के सख्त आदेश दिए हैं।

दक्षिण दिल्ली के पॉश इलाके सफदरजंग इलाके में 88 वर्षीय वृद्धा कांता चावला की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। वह अपने पति बलदेव राज चावला(92) के साथ अकेली रहती थीं। अगले दिन लक्ष्मी नगर में 75 वर्षीय बुजुर्ग केपी अग्रवाल की हत्या कर दी गई थी।

दोनों की वारदातें लूटपाट के लिए की गई थीं। इस समय दिल्ली पुलिस के पास 38 हजार 353 ऐसे रजिस्टर्ड बुजुर्ग हैं। इनके पास इनके बच्चे नहीं रहते हैं। ऐसे में दिल्ली पुलिस इनकी देखभाल करती हैं। सबसे ज्यादा करीब छह हजार बुजुर्ग पश्चिमी दिल्ली में रहते हैं। ऐसे में दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने आदेश दिए हैं कि वह बुजुर्गों की सुरक्षा का ऑडिट करे।

हर थाना पुलिस को बोला गया है कि वह रजिस्टर्ड बुजुर्ग के अलावा ये पता लगाए कि उनके थाना इलाके में कितने बुजुर्ग हैं। उनके सुरक्षा के क्या-क्या उपाय किए गए हैं। सीनियर सिटीजंस के साथ माली, ड्राइवर और केयर टेकर आदि कौन-कौन रहता है। सिटीजन सिटीजन के साथ रहने वाले का पुलिस वेरीफिकेशन हुआ है या नहीं।

अगर नहीं हुआ है तो जल्द से जल्द इनका पुलिस वेरीफिकेशन करवाया जाएगा। संबंधित बीट अफसर बुजुर्ग के पास लगातार विजिट करेगा। आदेशों में ये भी कहा गया है कि अगर बुजुर्ग की सुरक्षा में लापरवाही बरती गई त्तो संबंधित पुलिस अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.