फोनरवा चुनाव के सुखदेव शर्मा पैनल से टेन न्यूज़ ने की खास बातचीत, जानी प्राथमिकताएं

Rohit Sharma (Photo-Video) Lokesh Goswami Tennews New Delhi

202

फेडरेशन ऑफ रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन (फोनरवा) के चुनाव में इस बार त्रिकोणीय चुनाव होने जा रहा है। सुखदेव शर्मा पैनल ने फोनरवा के अध्यक्ष व महासचिव सहित अन्य पदों के लिए अपने पत्ते खोल लिए हैं। उनके पैनल इस बार अध्यक्ष पद के लिए सुखदेव शर्मा, महासचिव के लिए सुजीत पांडे व कोषाध्यक्ष के लिए एमएस बिष्ट सहित 3 अन्य प्रत्याशी चुनाव लड़ेंगे।



वही आज टेन न्यूज़ की टीम ने सुखदेव शर्मा समेत उनके सदस्यों से खास बातचीत की , साथ ही उनकी प्राथमिकताएं जानी । फोनरवा अध्यक्ष पद पर लड़ रहे प्रत्याशी सुखदेव शर्मा ने कहा कि इस बार फोनरवा टीम में बदलाब की जरूरत है । लगातार फोनरवा के पद पर तैनात पदाधिकारी ने आज तक नोएडा सेक्टरों के विकास के बारे में नही सोचा , जिसके कारण आज बहुत से सेक्टरों में मूलभूत सुविधाएं नही है । साथ ही उन्होंने कहा कि आरडब्ल्यूए की मदर बॉडी फोनरवा होती है , जिसका उद्देश्य होता है कि सभी सेक्टरों में मूलभूत सुविधा हो ।

साथ ही सुखदेव शर्मा का कहना है कि इस बार हम फोनरवा का चुनाव जीतेंगे , साथ ही जीतकर नोएडा के सभी सेक्टरों की समस्याओं का निस्तारण करवाएंगे । उन्होंने कहा कि हर हफ्ते में एक सेक्टरों का दौरा होगा , जिससे समस्याओं का हल हो सके। साथ ही जितने भी दौरे होंगे उसमे नोएडा प्राधिकरण के अधिकारी एवम कर्मचारी भी शामिल होंगे ।

महासचिव पद के लिए लड़ रहे उम्मीदवार सुजीत पांडे का कहना है कि फोनरवा चुनाव में पैनल बाजी नही होनी चाहिए , जो मुख्य पद होते है उस पर भी चुनाव होने चाहिए , क्योंकि जितने भी फैसले लेने होते है वो सिर्फ मुख्य पद पर तैनात पदाधिकारी ही लेता है । साथ ही उन्होंने कहा कि इस फोनरवा टीम में सिर्फ एक्सपर्ट लोग ही होने चाहिए , जिससे हर विषय मे सेक्टर का विकास हो सके ।

वही दूसरी तरफ सुजीत पांडे ने योगेंद्र शर्मा और सुरेश तिवारी को चुनौती देते हुए कहा कि किसी भी सेक्टरों की समस्याओं को लेकर उन्होंने आज तक किसी भी अधिकारियों को पत्र तक नही लिखा । ये लोग सिर्फ अपने हित को लेकर चुनाव लड़ रहे है । साथ ही उन्होंने कहा कि मैने हर सेक्टरों की समस्याओं को लेकर उच्च अधिकारियों को पत्र लिखकर अवगत कराया है। सुरेश तिवारी और योगेंद्र शर्मा को अनुभव नही है कि किस तरिके से काम किया जाता है ।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.