- Advertisement -

जीएल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट ने 12 वें वार्षिक दीक्षांत समारोह का किया आयोजन

0 104

जीएल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च ने पीजीडीएम (बैच 2018-20 और 2019-21) के छात्रों को प्रबंधन में स्नातकोत्तर डिप्लोमा प्रदान करने के लिए 19 सितंबर, 2021 को 12 वें वार्षिक दीक्षांत समारोह का आयोजन किया।

भरत वखलू, पूर्व प्रबंध निदेशक, सिकोरस्की एयरक्राफ्ट कॉरपोरेशन, और पूर्व ग्रुप रेजिडेंट निदेशक, टाटा संस लिमिटेड ने मुख्य अतिथि के रूप में दीक्षांत समारोह की अध्यक्षता की एवं अभिलाष मिश्रा, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, एनएसई अकादमी लिमिटेड, भारत दीक्षांत समारोह के विशिष्ट अतिथि रहे।

दीक्षांत समारोह की शुरुआत देवी सरस्वती के आह्वान से हुई। जी एल बजाज संस्थान के वाइस चेयरमैन पंकज अग्रवाल ने अपने संबोधन के दौरान सभी छात्रों और अभिभावकों को बधाई दी। उन्होंने कहा की अपने लक्ष्यों के प्रति जुनूनी होना होगा। जुनून से ही लक्ष्य की प्राप्ति की जा सकती है और आलोचना भी तभी रचनात्मक होती है जब वह पक्षपाती न हो। अंत में उन्होंने सभी छात्रों के अच्छे स्वास्थ्य, निरंतर उपलब्धि की कामना की।

डायरेक्टर सपना राकेश ने बताया की जीएल बजाज ने पूरे देश में ३० रैंकिंग हासिल की, जो की जीएल बजाज के निरंतर प्रयासों को दर्शाता है। उन्होंने यह भी बताया की सभी फैकेल्टी द्वारा उनके रिसर्च पेपर अंतर्राष्ट्रीय पैमाने पर प्रकाशित हो रहे हैं। साथ ही इस साल वर्चुअल बिजनेस इनक्यूबेटर लांच किया जाएगा।

अभिलाष ने अपने संदेश में बताया की अर्जित ज्ञान के आधार पर निर्णय लेने चाहिए और यह भी कहा कि हम सभी संकाय प्रोफेसर, दोस्तों, पूर्व छात्रों के संपर्क में रहकर उत्कृष्टता में सुधार कर सकते हैं।पूर्व छात्र अपने व्यवसाय में वर्तमान छात्र को नौकरी प्रदान करते हैं | वे कौशल विकास में भी मार्गदर्शन करते हैं और बाजार के मौजूदा रुझानों के बारे में सूचित करते हैं।

भारत वाखलू ने अपने भाषण के दौरान कहा कि निदेशक और सभी संकाय प्रोफेसर, कर्मचारी अथक परिश्रम करते हैं ताकि आपको डिप्लोमा प्राप्त हों । उन्होंने यह भी कहा कि कोविड ने हमें सबक सिखाया है की हमें जीवन में किसी भी चीज़ के लिए तैयार रहना होगा I अपनी विशिष्टता को खोजना सीखें जो आपको दूसरे से अलग करती है, आपकी विशिष्टता दुनिया को उपहार है अपने स्पार्क, गुणों की खोज करें I

पीजीडीएम बैच 2018-2020 में अकादमिक उत्कृष्टता के लिए ज्योति शर्मा, स्वर्ण पदक, लोकेश शर्मा रजत पदक और माधव नागपाल ने कांस्य पदक प्राप्त किया और पीजीडीएम बैच 2018-2020 से सतक्षी सिंह, स्वर्ण पदक, एस तान्या रजत पदक और अस्रिता ने कांस्य पदक प्राप्त किया। सभी पदक विजेता को नकद पुरस्कार भी मिला।

Leave A Reply

Your email address will not be published.