जीएनआइओटी एमबीए कॉलेज मे प्री-ओरिएंटेशन प्रोग्राम “आरब्ध – 2020” का आयोजन

0 138

आज दिनांक 04 नवंबर को जी.एन.आइ.ओ.टी एम् बी ए संस्थान मे एम् बी ए और आई एम् बी ए प्रथम वर्ष के नवप्रवेशित छात्रों के लिए छात्रों के लिए 04 नवंबर से 11 नवंबर तक चलने वाले प्री-ओरिएंटेशन वीक आरब्ध -2020 का उद्घाटन किया गया|

कार्यक्रम का शुभारभ दिवंगत श्री के एल गुप्ता जी, एक महान परोपकारी, महान दूरदर्शी और जी.एन.आइ.ओ.टी के संस्थापक अध्यक्ष जी को श्रद्धांजलि के साथ किया गया|

चेयरमैन राजेश गुप्ता ने नए सत्र में प्रवेश कर रहे सभी छात्र – छात्राओं को चरित्र निर्माण, नैतिकता एवं दक्षता को बढ़ाने पर जोर देते हुए कहा की आज की प्रतिस्पर्धा में प्रबंधन शिक्षा मे कॉलेज के द्वारा समय समय पर वाद-विवाद प्रतियोगिता, अन्तर कॉलेज प्रतियोगिता, स्पोर्ट्स डे एवं सेमिनार आयोजन के द्वारा छात्रों मे नई ऊर्जा भरकर अपने लक्ष्य की और अग्रसर कर जॉब प्लेसमेंट पर जोर दिया जाता है I उन्होंने सफलता पाने के लिए छात्रों को समय प्रबंधन की जीवन मे उपयोगिता व समुचित विकास के लिए गुर सिखाये एवं सभी छात्रों का उत्साहवर्धन किया एवं छात्रों को आशीर्वाद देते हुए कहा कि हम उम्मीद करते है कि जिस तरह हमारे छात्रों को देश और विदेश मे पहचान मिली है , आने वाले समय मे नए छात्र कॉलेज का परचम देश और विदेश मे लहरायेंगे l

जी.एन.आइ.ओ.टी एम् बी ए की डायरेक्टर डॉ सविता मोहन ने सभी नवीन छात्रों के उज्जवल भविष्य की कामना की और कहा की इंस्टिट्यूट मे छात्रों के लिए बौद्धिक ज्ञान के अतिरिक्त शोध की प्रवर्ति का समुचित विकास कर संस्थान मे प्रोजेक्ट बनाकर अपने-अपने क्षेत्र मे छात्र सफलता के नए मापदंड स्थापित करते हैं l इस साप्ताहिक कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य विद्यार्थिओं में बहुआयामी ज्ञान को समावेशित करना है। सभी प्रसिद्ध विशेषज्ञों का उद्देश्य विद्यार्थिओं में मानवीय मूल्यों के साथ-साथ प्रबंधन योग्यता को विकसित करना है। जिससे वे आगामी जीवन की चुनौतियों से सामना करते हुए, अपने लक्ष्यों को पूरा कर सकें।

प्रोफेसर आर के खंडाल, पूर्व। कुलपति- ए के टी यू , लखनऊ ने इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया और सभी को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रबंधन शिक्षा में तेजी से बदलाव आ रहे हैं और अनुभवात्मक तकनीकों में वृद्धि हुई है। प्रबंधन शिक्षा आज के गतिशील कारोबारी माहौल में एक आवश्यक भूमिका निभाती है। वैश्वीकरण और तकनीकी परिवर्तनों के तेजी से चलन ने संगठनों के लिए प्रतिस्पर्धी दुनिया में टिकना मुश्किल बना दिया है। परिणामस्वरूप प्रबंधन शिक्षा का महत्व कई गुना बढ़ गया है।

हमारे प्रमुख वक्ता श्री सुनील माहेश्वरी, प्रोफेसर- आईआईएम अहमदबाद ने सभी को खुशहाल जीवन और प्रभावी ढंग से जीवन मे दुविधा का सामना करने के गुर सिखाये । कई बार हम सभी को वास्तव में कठिन निर्णय और कठिन विकल्पों से जूझना पड़ा है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता डॉ. अंकिता श्रीवास्तव प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर आई एम् बी ए ने कॉलेज की उपलब्धियों और छात्रों को कहा कि कठिन परिश्रम सफलता की कुंजी होती है ,इसको अपनाकर भविष्य को उज्जवल बनाया जा सकता है|

एम् बी ए हेड डॉ अविजीत डे ने सभी आये हुए अतिथियों एवं नवीन छात्रों का अभिनन्दन किया एवं नए सत्र मे प्रवेशित सभी छात्रों को उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाये दी I उन्होंने सभी शिक्षकों से छात्रों का परिचय कराया l

कार्यक्रम के समापन पर डॉ. हिमांशु मित्तल प्रोग्राम कोऑर्डिनेटर एम् बी ए ने सभी अतिथियों का धन्यवाद दिया एवं छात्रों को कहा कि दिए गए ज्ञान को अपने जीवन मे अपनाकर सफलता की और अग्रसर हौI

Leave A Reply

Your email address will not be published.