एचसीएल फाउंडेशन गौतमबुद्धनगर पुलिस के साथ मिलकर संवारेगा बच्चों का भविष्य

ABHISHEK SHARMA

0 372

Greater Noida : एचसीएल टेक्नोलॉजीज के सीएसआर शाखा, एचसीएल फ़ाउंडेशन ने, “सभी के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा” प्रदान करने के अपने उद्देश्य से, अपने एचसीएल उदय कार्यक्रम के तहत गौतम बुद्ध नगर में तीन साल के अवधि के लिए लगभग 5 एजुकेशनल यूनिटस् को स्थापित करने के लिए पुलिस विभाग, गौतमबुद्ध नगर के साथ एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया।

एचसीएल कंपनी की डायरेक्टर निधि पुंडीर ने बताया कि कार्यक्रम का नाम “नन्हे परिंदे” रखा गया है, जो सड़क किनारे रहने वाले बच्चों को शिक्षित करने के लिए एक पहल है, जिसे चेतना नामक एनजीओ द्वारा क्रियांव्यन किया जाएगा। उत्तर प्रदेश में “नन्हे परिंदे” कार्यक्रम इस तरह का पहला कार्यक्रम है, जो गौतम बुद्ध नगर में तीन वर्षों के दौरान कठिन परिस्थितीयों में रहने वाले 1500 से अधिक बच्चों को शिक्षा, डिजिटल साक्षरता, स्पोकन इंग्लिश के साथ-साथ और उन्हें खेल के माध्यम से तीन साल के अवधि के लिए जोड़ेगा।

उन्होंने कहा कि इन मोबाइल इकाइयों को विशेष रूप से तैयार किया जाएगा ताकी बच्चें पढ़ते हुए अपने आप को यहां सुरक्षित महसूस करें। इन मोबाइल यूनिट्स के माध्यम से बच्चों को एकेडमीक  (गणित और विज्ञान), कला , डिजिटल साक्षरता, अंग्रेजी भाषा सिखाया जाएगा साथ ही जब भी मौका मिलेगा फुटबॉल, वॉलीबॉल, एथलेटिक्स,मुक्केबाजी, कबड्डी और अन्य इनडोर गेम्स में उन्हें कोचिंग भी दी जाएगी।

इस कार्यक्रम के तहत  नियमित आधार पर लोकल पुलिस ऑफिसर और एनजीओ के कार्यवाहकों की देखरेख में पुल शिक्षा गतिविधियों, कोचिंग और स्कूल के बाद जरूरी मदद के माध्यम से हमें स्कूल छोड़ने वाले बच्चों की दर और किशोर अपराध की दर में कमी लाने की भी उम्मीद है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, गौतम बौद्ध नगर वैभव कृष्ण और एचसीएल फाउंडेशन की निदेशक निधि पुंडीर के बीच समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किया गया।

एसएसपी वैभव कृष्ण ने कहा कि इस कार्यक्रम के तहत बच्चों को बाल संरक्षण से संबंधित मुद्दों पर नियमित प्रशिक्षण दिया जाएगा और संसद के बाल अधिकार आधारित मॉडल का गठन भी किया जाएगा। एचसीएल फाउंडेशन यह भी सुनिश्चित करेगा कि छात्रों को उच्च-गुणवत्ता वाली शिक्षा और निरंतर विकास के अवसर प्राप्त हों सकें ।

बच्चों को  निरंतर मार्गदर्शन और सलाह भी दिया जाएगा।  महत्वपूर्ण दिनों के माध्यम से उन्हें समाज और पर्यावरण के बारे में जागरूक किया जाएगा। इस  पहल में स्वयंसेवकों के रूप में एचसीएलइट्स को शामिल करने के साथ-साथ उनकी नियमित भागीदारी को सुनिश्चित करने के लिए एक योजना को तैयार किया जा रहा है।

दूसरी ओर, पुलिस विभाग, गौतम बौद्ध नगर, प्रत्येक क्लब का समर्थन और निगरानी करने के लिए स्थानीय पुलिस निरीक्षक नियुक्त करेगा, जो किसी भी व्यक्ति, समूह या निकाय के खिलाफ कानूनी अभियोजन शुरू करेगा, जो मोबाइल यूनिट/ सामुदायिक केंद्र  को नुकसान पहुचांने की कोशिश करेगा और  एमओयू  की अवधि समाप्त होने के बाद राज्य सरकार के स्वामित्व वाले मोबाइल वाहनों/सामुदायिक केंद्रों/भूमि को सुरक्षित रखेगा।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.