टेन न्यूज़ नेटवर्क के फेस टू फेस कार्यक्रम में मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब ने की शिरकत , दिए महत्वपूर्ण टिप्स 

Rohit Sharma

0 99

नई दिल्ली :– देश में कोरोना वायरस के केस थमने का नाम नहीं ले रहे हैं। आज  कोरोना केसों ने नया रेकॉर्ड बनाया है। एक दिन में 14516 नए केस सामने आए हैं। इसके साथ कुल मरीजों की संख्या 3,95,048 पहुंच गई है। पिछले 24 घंटे में कोरोना से 375 और जान गईं, इससे मौत का आंकड़ा 12948 पहुंच गया। फिलहाल 168269 केस ऐक्टिव वहीं 213831 मरीज ठीक हो चुके हैं।

इस लॉकडाउन में टेन न्यूज़ नेटवर्क वेबिनार के माध्यम से लोगों को जागरूक कर रहा है , साथ ही लोगों के मन में चल रहे सवालों के जवाब विशेषज्ञों द्वारा दिए जा रहे हैं। आपको बता दे कि टेन न्यूज़ नेटवर्क ने “फेस 2 फेस” कार्यक्रम शुरू किया है , जो टेन न्यूज़ नेटवर्क के यूट्यूब और फेसबुक पर लाइव किया जाता है।

वही “फेस 2 फेस” कार्यक्रम में मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब ने हिस्सा लिया।वही इस कार्यक्रम का संचालन राघव मल्होत्रा ने किया । आपको बता दे की राघव मल्होत्रा बहुत ही मशहूर लेखक और ऊर्जावान  एंकर भी है | उन्होंने टेन न्यूज़ नेटवर्क के प्लेटफार्म पर बड़े विद्वानों व मशहूर लोगों से महत्वपूर्व विषयों पर चर्चा की , जिसको लोगों ने खूब सराहना की है | राघव मल्होत्रा ने मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब से बहुत ही महत्वपूर्ण प्रश्न किए |

आपको बता दे कि जावेद हबीब के दादा नजीर अहमद लॉर्ड माउंटबेटन समेत ब्रिटिश सरकार के बड़े अधिकारियों के पर्सनल हेयर ड्रेसर थे। आजादी के बाद नजीर प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू के पर्सनल हेयरड्रेसर बन गए। बाद में नजीर के बेटे और जावेद के पिता हबीब अहमद नेहरूजी, ओबरॉयज़, राजमाता गायत्री देवी और देश के कई राष्ट्रपति के ड्रेसर रहे। उनका परिवार भी राष्ट्रपति भवन में ही रहता था। जावेद का जन्म राष्ट्रपति भवन के ब्लॉक 12 स्थित हाउस नंबर 32 में हुआ।

जावेद को उनके पिता ने हेयरड्रेसिंग की बारीकियां सिखाईं। हालांकि जावेद अपने दादा और पिता की परंपरा को आगे नहीं बढ़ाना चाहते थे। इसलिए उन्होंने फ्रेंच सीखी, ताकि कॅरिअर के दूसरे रास्ते भी खुलें।

जावेद हबीब ग्रैजुएशन के बाद वे होटल मैनेजमेंट का कोर्स करना चाहते थे। लेकिन पिता के कहने पर वे लंदन में हेयर डिज़ाइनिंग स्कूल गए और वहां इस प्रोफेशन को ठीक से समझा। इसके बाद सनसिल्क में कुछ समय तक नौकरी की।

लंदन में मैक्डोनल्ड के एक स्टोर को देखकर उनके मन में बिज़नेस करने का आइडिया आया। जावेद ने देखा कि किस तरह बर्गर को दुनिया भर में बेचा जा रहा है, हेयरड्रेसिंग तो इंसान की जरूरत है, ऐसे में इसे बिजनेस के रूप में बढ़ाया जा सकता है। लंदन से लौटकर जावेद ने दिल्ली में अपने पिता के सैलोन में काम किया। हालांकि यहां उन्हें बहुत कुछ करने का मौका नहीं मिल रहा था। इसलिए उन्होंने हेयर कटिंग और ग्रूमिंग पर लोगों को ट्रेनिंग देना शुरू कर दिया और अपना पहला आउटेलट केरल में खोला।

उन्होंने कहा कि पिता को उनका यह आइडिया पसंद नहीं आया। पिता के अनुसार छोटे शहरों में बड़े सैलोन या आउटलेट चला पाना मुश्किल है, लेकिन केरल में खुले आउटलेट की सफलता ने पिता को गलत साबित कर दिया। उस दौरान जावेद केरल में 15-15 घंटे तक काम किया करते थे। जावेद ने पहला स्टोर खोलने के 5 साल के भीतर ही 50 स्टोर खोल दिए थे। फिलहाल जावेद के देश के 110 शहरों में 846 आउटलेट हैं।

खासबात यह है कि मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट  जावेद के अनुसार अगर उनका कोई आउटलेट घाटे में चला जाता है, तो वे वहां खुद जाकर काम करते हैं और उस स्टोर को घाटे से निकालने में मदद करते हैं।

जावेद हबीब ने कहा कि फ्रेंच भाषा में जेएनयू से डिग्री कोर्स किया , वो कभी हेयर स्टाइलिस्ट नहीं बनना चाहते थे। उन्हें क्रिकेट में इंट्रेस्ट था और कॉलेज में वो हर खेल में पार्टिसिपेट करते थे , साथ ही उन्होंने कहा कि अगर मुझे कैची चलानी नहीं आती तो मेरे हाथ में बैट होता।

उन्होंने बताया कि मैने लंदन में बुजर्ग महिला के बाल काटे थे , वो वाक्या 30 साल पुराना है । उस महिला ने मुझे बहुत से टिप्स दिए , साथ ही उन्होंने मुझे 1 पोंड टिप दिया । उन्होंने कहा कि उस समय मे मैने पहली बार बाल काटे थे , क्योंकि हम सिर्फ डमी पर काम करते थे , साथ ही उन्होंने कहा की भारत में पहली बार मैने एक बच्ची की बाल काटे थे , लेकिन वो बहुत रोई थी , क्योकि भारत के लोग लंबे बाल रखना पसंद करते है , लेकिन विदेश में छोटे बाल रखना पसंद करते है |

मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब ने कहा है कि अपने बाल सुन्दर और स्वस्थ रखना है तो बाल को साफ रखें। उन्होंने कहा कि बालों का बहुत बड़ा बाजार है। बाल है सुन्दर बनाने के लिए और बाल नहीं है तो बाल उगाने के लिए लोग तरह-तरह के नुस्खे अपनाते हैं।

उन्होंने देश के युवाओं के लिए कहा कि अगर आप में कोई हुनर है तो जुनून की तरह करें,जैसा मैंने किया। मुझे बाल काटना अच्छा लगता था, वही किया और आज अपनी पहचान हेयर स्टाइलिस्ट के रूप में बना चुका हूं। मैं किसी बॉलीवुड सेलिब्रेटी के बजाये देश का बाल काटने का लक्ष्य रखा। यही जावेद हबीब की पहचान है।

भारत के प्रसिद्ध हेयर विशेषज्ञ जावेद हबीब ने कहा हेयर प्रोफेशन को आर्ट तब मानता था, जब इसके बारे में लोग शिक्षित नहीं थे। आज लोगों में पैसे खर्च करने और सजने-संवरने की जागरूकता आ गई है। अब इस प्रोफेशन को साइंस मानता हूं।

जावेद हबीब ने कहा कि पहले खुद को माॅडल बनाएं, तभी आप सैलून आने वाले ग्राहक को माॅडल बना सकते हैं। बता दे कि जावेद ने कई बॉलीवुड स्टार्स को नया लुक दिया है लेकिन वो कभी किसी स्टार के पर्सनल स्टाइलिस्ट नहीं बने। हबीब हेयर एंड ब्यूटी लिमिटेड के सीईओ हैं। 54 साल के हबीब के देश भर में 500 सैलून आउटलेट 92 शहरों में और 41 सैलून एकेडमी हैं। हबीब का इरादा अगले 5 सालों में 5000 सैलून खोलने का है।

जावेद हबीब ने कहा ‘नाई दुनिया के सबसे पहले डॉक्टर थे।’ इसके साथ ही उन्होंने बालों को हेल्दी रखने के टिप्स भी दिए। उन्होंने ने कहा भारत में मिथ (अन्धविश्वास) ज़्यादा प्रचिलित है। जैसे मुंह रोज़ धोते हैं वैसे ही रोज़ शैम्पू भी करें। बालों को साफ़ और स्वच्छ रखना चाहिए। शैम्पू करने के 5 मिनट पहले बालों में तेल लगाएं। इससे आपके बाल हेल्दी, शाइनिंग और फ्लफी रहेंगे।

जावेद ने कहा इसके लिए सबसे फायदेमंद सरसों का तेल है। इसे आप प्री कंडीशनिंग भी कह सकते हैं। इससे डैंड्रफ से निजात पाने में मदद मिलेगी। ज़्यादा तेल लगाने से आपका चेहरा ऑयली हो सकता है।जावेद कहते हैं कि अधिक पानी पीने से बालों को फ़ायदा पहुंचता है। इससे बालों का ग्रोथ रेट बढ़ता है और बालों में जान आती है। इससे वह स्वस्थ और हेल्दी दिखते हैं।

मशहूर हेयर स्टाइलिस्ट जावेद हबीब ने कहा की जिस तरह लोग योगा करते है वही बालों के लिए लोगों को हेयर योगा करना चाहिए | उन्होंने कहा की हेयर ‘योगा’ का मतलब है अच्छी दिन चर्या। सुबह जल्दी उठना, फ्रेश हवा में वॉक करना और एक्सरसाइज करें।

उन्होंने कहा कि अक्सर गर्मियों के सीजन में लोग सिर पर कैप आदि लगाते हैं। ज़्यादा देर तक सिर ढके रहने से बालों में पसीना जम जाता है। उससे डैंड्रफ और हेयरफॉल होता है। आजकल के युवाओं को बाल झड़ने और सफ़ेद बाल की शिकायत बहुत कम उम्र में होने लगी है। इसका मुख्य कारण है जंक फ़ूड का सेवन। कोल्ड ड्रिंक, बर्गर, पिज़्ज़ा आदि से पेट तो भर जाता है पर बालों को ज़रूरी प्रोटीन नहीं मिल पता। इसलिए अच्छे घने बालों के लिए ज़रूरी है अच्छा खाना।

इसके साथ-साथ बालों को समय-समय पर ट्रिम करते रहें। समय समय पर ट्रिमिंग कराने से स्पिल्ट एन्ड (दो मूंहे बालों ) से बचा जा सकता है। इससे बाल खराब होने से बचते हैं और हेल्दी भी बने रहते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.