ऑस्ट्रेलिया के ला ट्रॉब विश्वविद्यालय ने एमिटी विश्वविद्यालय के साथ किया नया संयुक्त उत्कृष्टता केंद्र का उद्घाटन  

Lokesh Goswami Ten News Delhi :

0 222

भारत की युवा अग्रसर महिलाओं को समर्थन देने के लिए 2019 भारतीय महिला को सुलभ छात्रवृत्ति विजेता को 80 हजार का छात्रवृत्ति प्रमाण पत्र प्रदान किया । ऑस्ट्रेलिया के बहू परिषद विश्वविद्यालय ट्रॉब विश्वविद्यालय ने एमिटी विश्वविद्यालय से साझेदारी की और आज अमेठी परिसर में उनके नए संयुक्त उत्कृष्टता केंद्र का उद्घाटन किया गया ।

आपको बता दे कि इस केंद्र में सांझा सूत्र लघु अवधि के व्यवसायिक पाठ्यक्रम और विभिन्न विषयों में प्रशिक्षण चलाएं जायेंगे।

ऑस्ट्रेलिया के ला ट्रॉब विश्वविद्यालय के जॉन डेवर के नेतृत्व में एक डेलिगेशन मौजूद था। एमिटी विश्वविद्यालय के चांसलर अतुल चौहान समेत एक वरिष्ठ प्रबंधक टीम में शामिल थी । देश के अन्य विश्वविद्यालय और एमिटी विश्वविद्यालय के अंतर्गत अंतरराष्ट्रीय दोनों विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं को अधिक तालमेल से काम करने का अवसर मिलेगा जिसका विद्यार्थियों के अतिरिक्त पूरे समुदाय और उद्योग जगत को भी लाभ मिलेगा ।

साथ ही 2019 भारतीय महिला सुरक्षा महिला सशक्तिकरण पर विमर्श का आयोजन किया इसमें देश की महिलाओं ने भाग लिया इस अवसर पर प्रोफेसर ने 80 हजार छात्रवृत्ति प्रमाण पत्र कि घोषणा की कर्नाटक के होसुर की मीनाक्षी गणपति संकरन का शानदार रिकॉर्ड रहा है और महिला सशक्तिकरण पर काम करने के लिए प्रतिबद्ध विजेता ऑफ साइबर सिक्योरिटी मैं पोस्टग्रेजुएट की पढ़ाई आरंभ कर सकती हैं ।

ला ट्रॉब विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर जॉन डेवार ने कहा एमिटी परिसर में नया संयुक्त उत्कृष्टता केंद्र का उद्घाटन बहुत खुशी की बात है , शोधकर्ताओं के कार्य का दायरा बड़ा होगा और विद्यार्थियों के अतिरिक्त पूरे समुदाय और उद्योग जगत को भी लाभ मिलेगा ।

एमिटी विश्वविद्यालय के चांसलर अतुल चौहान ने कहा ऑस्ट्रेलिया के ला ट्रॉब विश्वविद्यालय के साथ हमारे नए संयुक्त उत्कृष्टता केंद्र खोलने की घोषणा करते हुए हमें गर्व है दोनों विद्यालय के विद्यार्थी के लिए अवसरों के विकास की दिशा में एक प्रयास होगा और इसके सावधानीपूर्वक के नए रास्ते खुलेंगे इस केंद्र से साहित्य शोध अल्पकालीन व्यावसायिक पाठ्यक्रम और विभिन्न विधाओं प्रतिष्ठान कर शालाओं की व्यवस्था होगी। पाठ्यक्रम खेल प्रबंधन क्लिक केमिस्ट से शुरू होगा और साइबर सिक्योरिटी के माध्यम से इसका विस्तार अन्य क्षेत्रों तक भी होगा ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.