ग्रेटर नोएडा : गंभीर बिमारियों पर शोध के लिए ‘जिम्स’ में लैब होगी स्थापित

ABHISHEK SHARMA

0 247

ग्रेटर नोएडा स्थित राजकीय आयुर्विज्ञान संस्थान (जिम्स) में एक अन्य रिसर्च लैब स्थापित की जाएगी। यहां कैंसर, लिवर सिरोसिस समेत अन्य गंभीर बीमारियों पर शोध की जाएगी। इसके लिए भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आइसीएमआर) ने मंजूरी दे दी है।

बता दें कि जिम्स में हाल ही में कोविड, इबोला जैसे खतरनाक वायरस पर शोध के लिए लेवल-तीन स्तर के लैब की मंजूरी मिल चुकी है। अब नई लैब के बनने से संस्थान में विश्वस्तरीय सुविधा मिल सकेंगी। लैब के लिए आइसीएमआर पांच करोड़ रुपये का अनुदान भी देगा।

जिम्स के निदेशक ब्रिगेडियर डॉ राकेश कुमार गुप्ता ने बताया कि अन्य मदों से भी पैसा लगाकर लैब को बेहतरीन बनाए जाने का प्रयास किया जाएगा। लैब के लिए कुछ वैज्ञानिकों को भी आइसीएमआर की ओर से नियुक्त किया जाएगा।

खास बात यह है कि प्रदेश में कानपुर के गणेश शंकर विद्यार्थी मेडिकल कॉलेज के बाद यह दूसरा संस्थान होगा, जहां गंभीर बीमारियों पर शोध के लिए लैब बनाई जा रही है। इससे मेडिकल के स्नातक और परास्नातक विद्यार्थियों को भी फायदा मिलेगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.