दिल्ली सरकार के तीसरे आउटकम बजट को मनोज तिवारी ने बताया फेल, कहा असफल साबित हुई आम आदमी पार्टी

Rohit Sharma / Rahul Kumar Jha

77

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने तीसरा आउटकम बजट 2019-20 पेश करते हुए दिल्ली सरकार की जमकर पीठथपथपाई और उसे आम आदमी पार्टी की चार साल की उपलब्धि करार दिया । इस पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली सरकार का आउटकम बजट सही मायने में आम आदमी पार्टी सरकार की नाकामियों से प्रेरित पूरी तरह से फेल बजट है ।


जिसे दिल्ली सरकार ने खुद मानते हुए स्वीकारा है कि वो दिल्ली के लिए काम करने में असफल साबित हुये है , फिर सत्ता में बने रहने के लिए और दिल्ली विधानसभा चुनावों को नजदीक पाकर केजरीवाल आउटकम बजट दिखाकर दिल्ली के लोगों को भ्रमित करने का प्रयास कर रहे है।

मनोज तिवारी ने कहा कि प्रचण्ड बहुमत के साथ दिल्ली की सत्ता में बैठे मुख्यमंत्री केजरीवाल दिल्ली की जनता से किये एक भी वायदे को पूरा कर नहीं पाये और जब चुनाव नजदीक दिखा तो जनता को गुमराह करने के लिए आउटकम बजट जैसा सगुफा ले आये। जब केजरीवाल साढे़ चार साल में दिल्ली को फ्री वाई-फाई नहीं दे पाये तो महिलाओं को मुफ्त में मेट्रो और बसों की सेवा कैसे देगें।

तिवारी ने कहा कि आउटकम बजट के मुताबिक दिल्ली सरकार को शहर और बस में सीसीटीवी लगाने थे, मुफ्त वाई-फाई या नए बस के साथ ई-बस लाने की योजना थी, ई-पॉलिसी लाकर निजी ई-वाहनों पर सब्सिडी हो या फिर सीएनजी चालित वाहनों के पंजीकरण में छूट जैसी योजना को लागू करना हो इन सभी में सरकार पिछड़ गई है। यह वो योजनाएं है जिस पर सरकार ने चुनाव में वादा किया था। केजरीवाल सरकार विकास और सुशासन के मामले में हर स्तर पर विफल साबित हुई है।

साथ ही उन्होंने कहा है कि आम आदमी पार्टी ने चुनाव में वायदा किया था कि फ्री वाई-फाई, बसों में सीसीटीवी, ई-बसें, ई-वाहन पर सब्सिडी, मोहल्ला क्लीनिक, सड़क किनारे लैंड स्केपिंग, साइकिल ट्रैक पर सोलर पैनल लगाना इत्यादि पांच साल के अपने कार्यकाल में पूरा कर दिल्ली में देगें। लेकिन वास्तिवकता इसके उलट निकली है दिल्ली के लोगों को धोखा देने वाली आम आदमी पार्टी ने एक भी वायदा पूरा नहीं किया और झूठ व फरेब की राजनीति को बढ़ावा देते हुये जनता को ठगने का काम किया है।

उनका कहना है कि जो पार्टी अपने द्वारा निर्धारित लक्ष्य प्राप्त करना तो दूर उसे छू भी नहीं पायी वो आज दिल्ली की जनता से किस आधार पर वोट मांग रही है। केवल वायदों और घोषणा तक सिमट के रह गयी आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली के लोगों को केवल आश्वासन दिया, लेकिन जमीन पर एक भी काम नहीं किया।

आउटकम बजट के माध्यम से केजरीवाल सरकार खुद मान रही है कि वो दिल्ली की सत्ता को चलाने में पूरी तरह से विफल साबित हुई है तो दिल्ली की जनता के सामने एक मात्र विकल्प के रूप में भाजपा है। दिल्ली विधानसभा चुनावों में दिल्ली के लोग भाजपा की पूर्ण बहुमत की मजबूत सरकार बनाने के लिए तत्पर है। जनता को पता है कि देश में मोदी और दिल्ली में भाजपा तभी होगा विकास दिल्ली चले मोदी के साथ। दिल्ली के गली महौलो पर चैपालों पर एक ही चर्चा है केजरीवाल को जाने दो और भाजपा को दिल्ली में आने दो।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.