दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे से जोडा जाएगा नोएडा एयरपोर्ट, हो सकेगी बेहतर कनेक्टिविटी

ABHISHEK SHARMA

0 189

गौतम बुद्ध नगर के जेवर में बनने वाले नोएडा ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट परियोजना पर यमुना प्राधिकरण और नियाल तेजी से कार्य कर रहे हैं। एयरपोर्ट की कनेक्टिविटी को और बेहतर करने के लिए इसे दिल्ली मुंबई एक्सप्रेस वे से भी जोड़ा जाएगा। इसके लिए योजना तैयार हो गई है।

केंद्र सरकार भी इस पर सहमति दे चुका है। हरियाणा व उत्तर प्रदेश सरकार को अपने-अपने हिस्से की सड़क बनानी होगी। इस पर दोनों राज्यों के बीच जल्द ही बातचीत होने वाली है।

दरअसल नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया करीब 1350 किलोमीटर लंबा दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस बना रही है। इसे अगले दो से 3 साल में पूरा करने का लक्ष्य है। एक्सप्रेस-वे को 120 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार के हिसाब से डिजाइन किया जा रहा है।

इस प्रोजेक्ट की कुल लागत 82,514 करोड रुपए है। इसमें 20,928 करोड रुपए की भूमि अधिग्रहण लागत भी शामिल है। फिलहाल 8 लाइन का एक्सप्रेसवे बन रहा है। जिसे बाद में 12 लेन का किया जाएगा। एक्सप्रेस वे से इंदिरा गांधी एयरपोर्ट को जोड़ने की योजना पर एनएचएआई से ही काम कर रहा है।

एक्सप्रेस वे बल्लभगढ़ से जिस जगह पर गुजर रहा है, वहां से नोएडा एयरपोर्ट की दूरी करीब 31 किलोमीटर है। अगर सड़क बना दी जाए तो नोएडा एयरपोर्ट आईजीआई की सीधी कनेक्टिविटी हो जाएगी। इसकी लंबाई करीब 123 किलोमीटर होगी। 120 किलोमीटर प्रति घंटे की गति सीमा के हिसाब से आईजीआई एयरपोर्ट पहुंचने में करीब 1 घंटे का समय लगेगा।

साथ ही नोएडा व इंदिरा गांधी एयरपोर्ट सीधे जुड़ जाएंगे लेकिन बल्लभगढ़ से नोएडा एयरपोर्ट तक के 31 किलोमीटर हाईवे को एनएचएआई नहीं बनाएगा। इसे हरियाणा और उत्तर प्रदेश को मिलकर बनाना है। इसमें करीब 24 किलोमीटर लंबी सड़क हरियाणा के हिस्से में हैं। उत्तर प्रदेश को करीब 7 किलोमीटर सड़क बनाने की जरूरत होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.