*नोएडा प्राधिकरण के अध्यक्ष आलोक टंडन बने औद्योगिक विकास आयुक्त*

ABHISHEK SHARMA

0 68

Noida (09/09/19) : राज्य सरकार ने वरिष्ठ आईएएस अधिकारी आलोक टंडन को प्रदेश का नया औद्योगिक विकास आयुक्त बनाया है। उनके पास अध्यक्ष नोएडा व अध्यक्ष यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण का अतिरिक्त कार्यभार भी रहेगा।



अभी तक वह इन्हीं दोनों प्राधिकरणों के अध्यक्ष थे। मुख्य सचिव पद से अनूप चंद्र पांडेय के रिटायर होने के बाद यह पद खाली चल रहा था। अनूप चंद्र पांडेय के पास यह पद अतिरिक्त चार्ज के रूप में था। प्रदेश में औद्योगिक विकास आयुक्त का पद काफी महत्वपूर्ण माना जाता है।
ज्यादातर मुख्यसचिव इसे अतिरिक्त कार्यभार के तौर पर अपने पास रखना पसंद करते हैं। राजीव कुमार जब मुख्य सचिव थे, तब उन्होंने आईडीसी का यह पद अपने पास नहीं रखा था।

गौरतलब है कि करीब 1 महीने पहले गाजियाबाद की जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी को नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी बनाकर भेजा गया था। ऋतु महेश्वरी से पहले नोएडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी आलोक टंडन ही थे। अब उत्तर प्रदेश सरकार ने उन्हें औद्योगिक विकास आयुक्त जैसी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी है।
मंगलवार तक हो सकता है नियमित मुख्य सचिव का आदेश

उत्तर प्रदेश के नियमित मुख्य सचिव का आदेश मंगलवार तक जारी हो सकता है। सूत्रों के मुताबिक, प्रदेश में तैनात 1985 बैच के अफसरों में किसी को प्रदेश का नया मुख्य सचिव बनाया जा सकता है। इनमें मुख्य सचिव का कार्यभार संभाल रहे आईएएस राजेन्द्र कुमार तिवारी और राजस्व परिषद के अध्यक्ष दीपक त्रिवेदी का नाम सबसे आगे है।

सूत्रों के मुताबिक, 1984 बैच के जो अफसर केंद्र में प्रतिनियुक्ति पर हैं, उनके प्रदेश वापस लौटने की संभावना कम है। यही वजह है कि राज्य सरकार 1985 बैच के अफसरों में से किसी का चयन कर सकती है।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.