नोएडा पुलिस ने दो फ़र्ज़ी आईएएस आईपीएस को किया गिरफ्तार लोगो से करते थे ठगी

Lokesh Goswami Tennews

0 122

नोएडा पुलिस ने दो फर्जी आईपीएस अधिकारी को किया गिरफ्तारी । आरोपित खुद को आइएएस और आइपीएस अधिकारी बताकर लोगों से ठगी करते थे। बताया जा रहा है कि ये लोग प्रधानमंत्री कार्यालय(पीएमओ) में खुद को तैनात बताकर जिले के पुलिस अधिकारियों के सामने रौब झाड़ते थे। सीओ और इंस्पेक्टर स्तर के पुलिस अधिककारियों का तबादला करवाते थे।पुलिस का कहना है कि दोनों आरोपित पीएमओ के नाम पर जिले के कई थानेदारों को धमका चुके हैं। मामला एसएसपी के समक्ष पहुंचा तो उन्होंने इसकी गोपनीय जांच करवाई जिसके बाद इनकी हकीकत सामने आयी। इसके बाद एसएसपी ने सेक्टर 27 स्थित कार्यालय में इन आरोपितों को मिलने के बहाने बुलाया। जब ये लोग एसएसपी से मिलने पहुंचे तो पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया।



भाजपा नेता से की ठगी की कोशिश जांच में पता चला है कि दोनों फर्जी अधिकारी एक भाजपा नेता से भी ठगी की कोशिश की थी। आरोपित ने भाजपा नेता को धमकी दे रहा था। फिलहाल सेक्टर 20 कोतवाली में आरोपितों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है कि ये आरोपित साल 2011 से लोगों के साथ धोखाधड़ी कर रहे थे।आरोपित गौरव मिश्रा अपने जीजा के साथ मिलकर लोगों से ठगी करता था और पत्नी को भी आइएएस अधिकारी बताता था।पहले भी सामने आये हैं ऐसे मामले

इनकार करने पर होटल कर्मियों के साथ बदसलूकी की। गतिविधि संदिग्ध लगने पर होटल मैनेजर ने कोतवाली एक्सप्रेस-वे पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने छानबीन शुरू की तो फर्जी आइपीएस की जालसाजी सामने आई। आरोपित फर्जी आईपीएस की पहचान आदित्य कुमार दीक्षित निवासी हाथरस और उसका पीआरओ अखिलेश इटावा का रहने वाला था।

एक्सप्रेस-वे कोतवाली प्रभारी भुवनेश कुमार ने बताया था कि फर्जी आइपीएस बनकर लोगों पर रौब दिखाने वाला युवक के फोन में पुलिस कैप के साथ फोटो और चाइनीज लाइटर गन के साथ फोटो मिला है। उसने कई नेताओं के साथ भी फोटो खिंचवा रखी है। उसके द्वारा कई लोगों को नौकरी दिलाने और ट्रांसफर के नाम पर पैसे लेने की बात सामने आई है, हालांकि ठगी की कोई शिकायत पुलिस को अभी नहीं मिली है। अपने को 2011 बैच का आइपीएस बताने वाला आदित्य कंप्यूटर साइंस में डिप्लोमा है। उसने अपने आपको एक निजी कंपनी के आइटी विभाग में हेड के रूप में कार्यरत बताया।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.