चुनावों के दौरान किए गए 70 वादों में से केजरीवाल को नहीं अब एक भी वादा याद : मनोज तिवारी

Abhishek Sharma / Rahul Kumar Jha

0 151

दिल्ली की सत्ता पर काबिज आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली की जनता से 70 वादे किए थे , जिनमें एक वादा सुरक्षा के लिहाज से दिल्ली में चलने वाली सभी बसों में सीसीटीवी व जीपीएस लगाने का था। हालांकि सरकार इस वादे पर अभी तक खरी नहीं उतर सकी है। दिल्ली की जनता को अभी इसके लिए और लम्बा इंतजार करना पड़ेगा। जिसका मुख्य कारण दिल्ली सरकार द्वारा की जा रही टेंडर प्रक्रिया का रद्द होना है।


परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत का कहना है कि टेंडर प्रक्रिया में सात से आठ महीने का समय लगेगा। इस मुद्दे पर अपनी कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए भारतीय जनता पार्टी दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि टेंडर प्रक्रिया में ऊलझाकर केजरीवाल सरकार दिल्ली की जनता को धोखा दे रही है। क्योंकि दो बार पहले भी टेंडर किया गया , जिसमें एक नवम्बर, 2018 में किया गया और दूसरा इसी साल और दोनों का रद्द होना केजरीवाल सरकार की मंशा पर संदेह खड़ा करता है।

आम आदमी पार्टी ने अपने चुनावी वादों में यह कहा था कि दिल्ली की परिवहन व्यवस्था को सुरक्षा की मद्देनजर सीसीटीवी व जीपीएस से लैस किया जायेगा लेकिन अब तो 5 साल पूरा होने में कुछ ही महीने शेष रह गये है तो कब केजरीवाल सरकार दिल्ली के लोगों से किये अपने वादे को पूरा करेगी।

उनका कहना है कि स्पष्ट है “केजरीवाल चाहते तो कब का दिल्ली की बसों में सीसीटीवी व जीपीएस लग गये होते लेकिन आम आदमी पार्टी का एकमात्र उद्देश्य दिल्ली की जनता को भ्रमित करना है ताकि वो मुख्य मुद्दों से दिल्ली के लोगों का ध्यान भटका सके।

मनोज तिवारी तिवारी ने आगे कहा कि केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की जनता से वादे तो बहुत किए लेकिन उनको पूरा करने में वो पूरी तरह से फेल हुए है। केजरीवाल सरकार ने साढ़े चार वर्ष में केवल बसों में सीसीटीवी और जीपीएस के टेंडर करने व उसे रद्द करने में बिता दिए लेकिन दिल्ली की जनता के हितों के लिए कोई कार्यवाही नहीं की।

आज के समय में दिल्ली की महिलाओं की सुरक्षा के लिए बसों में सीसीटीवी व जीपीएस का होना बहुत जरूरी है। जिसे दिल्ली सरकार को प्राथमिकता देकर सबसे पहले करना चाहिए था। लेकिन केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के लोगों के विश्वास पर कुठाराघात करते हुए इस ओर ध्यान नहीं दिया जिसका परिणाम टेंडर का रद्द होना है। अगला टेंडर होने में आठ महीने का समय लग जायेगा और दिल्ली में चुनाव के मद्देनजर आदर्श आचार संहिता लागू हो जायेगी मतलब साफ है केजरीवाल जानबूझ कर सोची समझी रणनीति के तहत काम न करने के बहाने खोज रहे है।

तिवारी ने कहा कि झूठ बोलना और हर दिन नया झूठ बोलना आम आदमी पार्टी का संस्कार है। आम आदमी पार्टी ने सीसीटीवी, वाईफाई, नई बसे व बसों में मार्शल, 500 नये स्कूल और 20 नये कॉलेज खोलने का केवल वादा किया। पूरा करने के नाम पर आरोप प्रत्यारोप के अलावा कुछ भी नहीं किया है। केन्द्र में मोदी सरकार और दिल्ली विधानसभा में जब भाजपा की सरकार बनेगी तो दिल्ली में सारे काम सुचारू रूप से होने लगेगें। पूरी दिल्ली की बसों में सीसीटीवी व जीपीएस लगाने का काम भाजपा सरकार करेगी।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.