दिल्ली से नोएडा एयरपोर्ट तक चलाई जाएगी पर्सनल रैपिड ट्रांजिट, जानें खूबी

ABHISHEK SHARMA

0 104

नोएडा (जेवर) ग्रीनफील्ड इंटरनेशनल एयरपोर्ट को दिल्ली से जोड़ने के लिए एक और विकल्प पर काम शुरू हो गया है। यमुना विकास प्राधिकरण अल्ट्रा पीआरटी (पर्सनल रैपिड ट्रांजिट) चलाएगा। इसे न्यू अशोक नगर से जेवर तक चलाने की तैयारी है।

यमुना प्राधिकरण इसकी फिजिबिलिटी रिपोर्ट दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) से बनवाएगा। इसके चलते वार्ता चल रही है। जेवर एयरपोर्ट की कनेक्टिविटी के लिए यमुना प्राधिकरण काम कर रहा है। अब इसे अल्ट्रा पीआरटी से जोड़ने की तैयारी है।

दरअसल, रैपिड ट्रेन का दिल्ली-मेरठ ट्रैक का एक स्टेशन दिल्ली का न्यू अशोक नगर होगा। जेवर से न्यू अशोक नगर तक अल्ट्रा पीआरटी चलाई जाएगी।

न्यू अशोक नगर से यात्री रैपिड ट्रेन ले सकेंगे। यह दूरी करीब 65 किलोमीटर की होगी। यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया कि इसके निर्माण में मेट्रो से आधी लागत आएगी। एक अनुमान के मुताबिक इसके निर्माण पर करीब 3.5 हजार करोड़ रुपये की लागत आएगी।

अल्ट्रा पीआरटी का ट्रैक एलिवेटेड बनाया जाएगा। बहुत संभव है कि यह ट्रैक नोएडा, ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे होते हुए और यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे-किनारे जाएगा। अल्ट्रा पीआरटी 100 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलती है।

इसके एक डिब्बे में 20 लोग बैठ सकते हैं। सामान्य व्हीकल की तुलना में इसका सफर 60 प्रतिशत कम समय में तय होगा। अल्ट्रा पीआरटी का निर्माण मेट्रो के निर्माण से आधी लागत में हो जाएगा। अल्ट्रा पीआरटी दिल्ली से जेवर तक रैपिड रेल पहुंचाने के लिए 18 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे, जबकि मेट्रो के निर्माण में 7 हजार करोड़ रुपये की लागत आएगी। लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट की कनेक्टिविटी में अल्ट्रा पीआरटी का इस्तेमाल हो रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.