पीएम मोदी ने किया पंडित दीन दयाल उपाध्याय पुरातत्त्व संस्थान का उद्घाटन, ब्लू लाइन मेट्रो एक्सटेंशन को दिखाई हरी झंडी

ROHIT SHARMA / TALIB KHAN

0 171

ग्रेटर नोएडा, (9/32019): ग्रेटर नोएडा में आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रेटर नोएडा में बने पंडित दीन दयाल उपाध्याय पुरातत्त्व संस्थान का उद्धघाटन किया। इसके साथ साथ प्रधानमंत्री ने नोएडा सिटी सेंटर से नोएडा इलेक्ट्रॉनिक सिटी तक के नए मेट्रो कॉरिडोर का भी उद्धघाटन किया।

प्रधानमंत्री ने इस कॉरिडोर को पंडित दीन दयाल उपाध्याय पुरातत्त्व संस्थान से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हरी झंडी दिखाई। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने कई और योजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया, जिसमें बुक्सार, बिहार में थर्मल पॉवर प्लांट भी शामिल है।



प्रधानमंत्री ने वहां पहुंचे लोगो को संबोधित करते हुए कहा कि,

“हमारी सरकार, 21वीं सदी में देश की ऊर्जा जरूरतों को ध्यान में रखते हुए काम कर रही है। देश के लोग वो दिन नहीं भूल सकते, जब टीवी चैनलों पर ब्रेकिंग न्यूज चला करती थी कि पावर प्लांट्स में एक दिन-दो दिन का ही कोयला बचा है”।

“पिछली सरकारों के लापरवाह रवैये के कारण देश में बिजली के क्षेत्र में गिरावट आई है। आजादी के बाद से 2.5 करोड़ परिवार अंधेरे में जिंदगी जी रहे थे, उनके घरों में सौभाग्य योजना के अंतर्गत उजाला लाया गया। 2.5 करोड़ परिवारों के घरों में बिजली आपके वोट की वजह से ही आई है। इसका क्रेडिट मोदी को नहीं बल्कि सवा सौ करोड़ देशवासियों को जाता है”।

“हमारी सरकार और कुछ कंपनियों द्वारा देश में 150 करोड़ LED बल्ब वितरित किए गए हैं और इससे करीब 50 हजार करोड़ रुपये के बिजली के बिल की बचत हो रही है। आज देश की समृद्ध सांस्कृतिक विरासत, हमारी सभ्यता से जुड़े अहम स्थान दीनदयाल उपाध्याय इंस्टीट्यूट ऑफ आर्कियॉलॉजी का एक भव्य कैंपस यहां बनकर तैयार हुआ है”।

प्रधान मंत्री ने नोएडा के बारे में कहा कि,

“वो भी कुछ दिन थे, जब नोएडा, ग्रेटर नोएडा की पहचान सरकारी धन की लूट, टेंडर में होने वाले खेल, जमीन आवंटन में घोटाले से होती थी”।

“आज नोएडा की पहचान विकास और रोजगार से है। मेरा देश, मेरा उत्तर प्रदेश वाकई बदल रहा है। जब भी नोएडा का उल्लेख किया गया था तो इसका कोई मतलब नहीं था लेकिन अब यह विकास और प्रगति का संकेत देता है। नोएडा अब उत्तर प्रदेश के सबसे प्रगतिशील स्थानों में से एक है”।

“2014 से पहले मोबाइल फोन बनाने वाली सिर्फ 2 फैक्ट्रियां थी। आज करीब सवा सौ फैक्ट्रियां देश में मोबाइल बना रही हैं। इसमें से बड़ी संख्या में फैक्ट्रियां नोएडा में हैं”।

“अब दुनिया भर के रिसर्च स्कॉलर, स्टूडेंट यहां पर आधुनिक सुविधाओं के साथ भारत की समृद्ध विरासत, हमारे अध्यात्म, हमारे मंदिरों, हमारे ग्रंथों, हमारे शिल्प, हमारी कला, हर पहलू का विस्तार से अध्ययन कर पाएंगे”

“आपको कितने ही उदाहरण मिल जाएंगे जब पहले की सरकारों ने अपने रागदरबारी को ईनाम देने के लिए आर्कियोलॉजी के हिसाब से महत्वपूर्ण इमारतों के बगल में अपने बंगले बनाने की इजाजत दे दी। दिल्ली में ही ऐसे कितने मामले हैं”।

“हमारी सरकार में लेने-देने वाली संस्कृति पर पूरी सख्ती के साथ निपटा जा रहा है और योजनाओं को संपूर्णता के साथ, सामान्य मानवी के हित में बनाया जा रहा है”।

प्रधानमंत्री ने पिछली सरकारों को आतंकवाद के खिलाफ कोई कार्यवाही ना कर पाने पर भी मुतोड जवाब दिया। उन्होंने कहा

“26 नवंबर, 2008 को मुंबई में पाकिस्तान से आए आतंकियों ने आतंकी हमला किया था। सारे सबूत पाकिस्तान में बैठे आतंक के आकाओं की तरफ जा रहे थे। लेकिन भारत ने क्या किया, पाकिस्तान को कैसे जवाब दिया।

खबरें तो ये भी हैं कि उस समय भी हमारी वायुसेना ने कहा था कि हमें खुली छूट दीजिए। लेकिन हमारे सुरक्षाबलों को छूट नहीं दी गई।

उनके हाथ-पैर बाँध कर कहा गया कि आतंक का मुकाबला करिए। क्या ऐसे देश की सुरक्षा होती है, क्या देश के दुश्मन के साथ ऐसी नरमी दिखनी चाहिए।

मीडिया के साथी थोड़ी छानबीन करें, तो सारा सच सामने आ जाएगा”।

You might also like More from author

Leave A Reply

Your email address will not be published.