दिल्ली : निजी अस्पतालों में कोविड-19 के बेड करीब फुल, सीएम केजरीवाल की बढ़ी चिंता

Rohit Sharma

0 86

नई दिल्ली :– दिल्ली में कोरोना वायरस का प्रकोप बढ़ते जा रहा है । कोविड-19 के मरीजों की संख्या में आए दिन इजाफा हो रहा है , दिल्ली में कोविड-19 के इलाज के लिए कुल 14 अस्पताल हैं, जिसमें से सबसे ज्यादा 8 निजी अस्पताल हैं ।

निजी अस्पतालों में ज्यादातर में कोविड के लिए आरक्षित बेड फुल हो चुके हैं। स्थिति को देखते हुए कई अस्पतालों में सिर्फ गंभीर हालत के कोरोना मरीजों को ही भर्ती किया जा रहा है ।

एक आंकड़े के मुताबिक निजी अस्पतालों में कुल 631 बेड आरक्षित किए गए हैं. इनमें से करीब 80 फीसदी 507 बेड भरे हैं । दिल्ली में कुल 14 कोविड अस्पतालों में से राज्य सरकार द्वारा 2, केन्द्र सरकार द्वारा 4 संचालित है. इसके अलावा 8 निजी अस्पतालों में कोरोना के मरीजों का इलाज किया जा रहा है ।

एक खबर के मुताबिक दिल्ली के शीर्ष अस्पताल जैसे अपोलो (सरिता विहार), मैक्स स्मार्ट (साकेत), फोर्टिस (शालीमार बाग) और सर गंगा राम सिटी और पूसा रोड में सर गंगा राम कोलमेट लगभग भरे हुए हैं ।

एक ओर कोरोना मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. ऐसे में निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए आरक्षित बेड फुल होने से अरविंद केजरीजवाल सरकार की चिंता बढ़ सकती है ।

दिल्ली के निजी अस्पतालों में कोविड-19 के बेड लगभग फुल हैं. खबर के मुताबिक अपोलो अस्पताल के एक वरिष्ठ चिकित्सक ने बताया कि उनके पास कोरोना पॉजिटिव रोगियों के लिए लगभग 80 बेड हैं. उनमें से सभी भरे हुए हैं. उन्होंने बताया कि अपोलो में संदिग्ध मामलों के लिए कुछ अतिरिक्त बेड हैं और एक या दो रोगियों का वहां भी इलाज जारी है ।

खबर के मुताबिक मैक्स अस्पताल, साकेत के प्रवक्ता ने कहा कि उनके अस्पताल में कारोना के मामलों के लिए 160 बेड लगाए गए थे. क्योंकि मांग अधिक थी और 90 प्रतिशत से अधिक बेड फुल चल रहे थे. इसके बाद बीते शनिवार को 34 और बेड जोड़े गए हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.